PgrSheet_870.xls
 Share
The version of the browser you are using is no longer supported. Please upgrade to a supported browser.Dismiss

 
View only
 
 
Still loading...
ABCDEFG
1
PG Status (as on 08-05-2017)
2
क्रमांकदिनांकनामफोन न.विभागजन शिकायतजन शिकायत का स्त्रोत
3
100271801/23/2016 14:23:00राम सिंह9584968444आदिमजाति
नोन्हेटा खुर्द ग्राम पंचायत के ग्राम टपरपुरा में आदिम जाती कल्याण विभाग की 250 मीटर सी सी रोड का निर्माण 4.60 लाख की राशि से किया जा रहा है इसमें स्थानीय बजरी जो की मिटटी मिश्रित है का इस्तेमाल किया जाकर निर्धारित मापदंडो के अनुसार नहीं है. उक्त सी सी रोड का निर्माण में महज तीन इंच मोटी परत डाली जा रही है जो की कुछ ही दिनों में उखड कर बेकार हो जाएगी . निर्माण कार्य के दौरान बयब्रेटर का इस्तेमाल भी नहीं किया गया . सरपंच सचिव एवं इंजीनियर द्वारा शासन की राशि का दुरूपयोग किया जा रहा है . श्रीमान से निवेदन है की गाव के विकास को ध्यान में रखते सही मापदंडो के अनुरूप गुणवत्ता युक्त निर्माण के लिए सी सी रोड की जांच करने की कृपा करे .
ऑनलाइन प्राप्त
4
100700668/9/2016 15:09:00चउआ आदिवासी9977353757आदिमजाति
विषय :- नियमानुसार पट्टा होने के बाबजूद फारेस्ट रेंज अधिकारियों द्वारा प्रताड़ित करने एवं जिला स्तर पर आवेदन देने पर भी कार्यवाही न होने विषयक. महोदय, निवेदन निम्नानुसार है :- प्रार्थी ग्राम चंदावनी तहसील पिछोर जिला शिवपुरी का निवासी होकर अनुसूचित जन जाती वर्ग कर गरीब व्यक्ति है. १. प्रार्थी के पिता गोदा आदिवासी के नाम से वर्ष १९४९-५० में शासकीय भूमि का पट्टा हुआ था जिसका सर्वे नंबर 1679 .1704 रकवा 2 .19 है जो फारेस्ट रेंज सीमा से डेढ़ किलोमीटर अंदर था. २. १९८८-१९८९ में भूमि बंदोबस्त हुआ उस समय हमें जो भूमि बताई गई हमने उस भूमि को अथक मेहनत व श्रम करके समतल किया एवं उसे कृषि योग्य बनाया. हम उस पर निरंतर कृषि करते आ रहे हैं. ३. परंतु हमें बताई गई भूमि को पटवारी अभिलेख एवं नक़्शे में अंकित नहीं किया गया. जबकि दूसरे भूमि को (जो जंगल में है) रिकार्ड में दर कर रखा है. ४. वन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा विगत ४-५ वर्षों से हमें परेशान व प्रताड़ित किया जा रहा है. वे हमारी पट्टा भूमि को वन विभाग की भूमि बता कर हमारी फसल उजाड़ देते हैं, मारपीट करते हैं, अपमानित करते हैं. हमारी फसल उजाड़ दिया जाने से हमारे परिवार की भूखों मारने की स्थिति उत्पन्न हो जाती हैं. परिवार में २० सदस्य हैं. यही भूमि हमारे जीविकोपार्जन का एक मात्र साधन है. ५. अंतिम बार दिनांक २८ जुलाई २०१६ को वनरक्षक चंदवानी एवं अन्य कर्मचारियों द्वारा हमारी बागड़ एवं फसल उजाड़ दी है. हमारी झोंपड़ी मिटा दी. महोदय ज्ञात हो कि इस क्षेत्र में कई लोग ५०-५० बीघा भूमियों पर कब्जे किये हैं लेकिन उनसे पैसे मिल जाते हैं इसलिए उनके विरुद्ध कार्यवाही नहीं की जाती है जबकि हमारे पास पट्टा है फिर भी हमें प्रताड़ित किया जा रहा है ६. प्रार्थी अनेकों बार जिला स्तर पर आवेदन दे चूका है लेकिन कोई सुनवाई नहीं की जाती हैं. अतः निवेदन है कि बंदोबस्त उपरांत हमें बताई व काबिज कराइ गई भूमि को राजस्व रिकार्ड . पटवारी अभिलेख में अंकित किये जाने के आदेश देने की कृपा करें. साथ ही हमारी फसल उजड़ने वाले वन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए हमें प्रताड़ना व क्षति से बचने की कृपा करें. प्रार्थी चउआ पुत्र श्री गोदा आदिवासी ग्राम चंदावनी तहसील पिछोर जिला शिवपुरी मध्य प्रदेश मोबाइल न. 9977353757
ऑनलाइन प्राप्त
5
1001821812/1/2015 23:12:00विजय भरतद्वाजआरईएस
श्री यादवेन्द्र सिंह भदौरिया की भर्स्ट कार्य शैली मनमाना पण एवं शाशन की योजनाओं को पलीता लगाने का रवैया एवं अपने राजनैतिक प्रभाब आदि दोसो के सिद्ध होने पर तत्कालीन सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकाश विभाग श्री बसींम अख्तर द्वारा यह आदेश जारी किया गया की श्री यादवेन्द्र सिंह भदौरिया को महत्बपूर्ण पद पर न रखा जाये ,बरस २०१४ मैं संभाग अयुक्त ग्वालियर श्री के के खरे द्वारा इन्हे निलंबित किया गया तथा निलंबन आदेश मैं यह स्पस्ट लिखा गया की मैं इन्हे इस पद पर रवहन उचित नहीं मानता तत्पश्चात इनके द्वारा अपनी कैंसर की बीमारी का हबला दिया गया जिस पर सहानुभूति पूर्ण बिचार करते हुए अयुक्त महोदय द्वारा इन्हे ग्रामीण यांत्रिकी सेवा शिवपुरी मैं संलग्न कर दिया गया इसके बाद भी जिला अधिकारीयों द्वारा इन तथ्यों को छुपकर कलेक्टर शिवपुरी को भ्रम पूर्ण जानकारी देकर इनकी पदस्थापना पुनः जनपद पंचायत खनियाधाना करबा दी फिर से उनके द्वारा खुले आम भरस्टाचार किया जा रहा इन्हे तत्काल खनियाधाना से हटाकर इनकी कार्यों की जाँच की जाबे धन्यबाद
ऑनलाइन प्राप्त
6
1002247112/27/2015 8:36:00राकेश कुमार कोली9993747106एमपीईबी
अगस्त माह से मीटर खराब पडा हुआ एवं विघुत लाईट मैंन कर्मचारी द्वारा विघुत मीटर को डारेक्रट जोड दिया गया है। कई बार विघुतमीटर रीडर भी नोट कर ले गया है । अतः श्रीमान मेरे द्वारा भी लिखित रूप से विघुत मीटर खराब की शिकायत आवेदन दिनांक 16.11.2015 और 02.12.2015 संबधित कार्यालय को दे दिया हैं पर आज दिनांक 27.12.2015 तक कोई भी कार्यवाही संबधित कार्यालय द्वारा नही की गयी है। विघुत मीटर ,खराब होने से विघुत मीटर रीडर अपनी मनमर्जी से विघुत खपत अंाकलित लिख कर ले जाता है। इस कारण से श्रीमान मुझे ज्यादा विघुत बिल का ज्यादा भुगतान कराना पड रहा है। अतः श्रीमान मेरा विघुत मीटर सही कराने एवं विघुत मीटर की आंकलित खपत से मुक्त कराने की कृृपा करे। तो आपकी अति दया होगी।
ऑनलाइन प्राप्त
7
1002247212/27/2015 8:42:00राकेश कुमार कोली9993747106एमपीईबी
अगस्त माह से मीटर खराब पडा हुआ एवं विघुत लाईट मैंन कर्मचारी द्वारा विघुत मीटर को डारेक्रट जोड दिया गया है। कई बार विघुतमीटर रीडर भी नोट कर ले गया है । अतः श्रीमान मेरे द्वारा भी लिखित रूप से विघुत मीटर खराब की शिकायत आवेदन दिनांक 16.11.2015 और 02.12.2015 संबधित कार्यालय को दे दिया हैं पर आज दिनांक 27.12.2015 तक कोई भी कार्यवाही संबधित कार्यालय द्वारा नही की गयी है। विघुत मीटर ,खराब होने से विघुत मीटर रीडर अपनी मनमर्जी से विघुत खपत अंाकलित लिख कर ले जाता है। इस कारण से श्रीमान मुझे ज्यादा विघुत बिल का ज्यादा भुगतान कराना पड रहा है। अतः श्रीमान मेरा विघुत मीटर सही कराने एवं विघुत मीटर की आंकलित खपत से मुक्त कराने की कृृपा करे। तो आपकी अति दया होगी।
ऑनलाइन प्राप्त
8
100310462/10/2016 19:49:00दिनेश9981606639एमपीईबी
माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र. ाासन भोपाल विषयः- सी.एम. हेल्प लाईन 181 पर प्रार्थी की ािकायतो का पूर्ण निराकरण न होना एंव पी.जी क्रमांक 10025318 पर भी
जाॅच न होना संदर्भः- प्रार्थी को नियमित विणुत प्रदाय में वाघा, मीटर चालू होने पर भी आंकलित खपत एंव प्रार्थी के दुरभाष आवेदन को स्वीकार न करना । महोदय ,
उपरोक्त विषय में निवेदन है कि प्रार्थी ने अपनी विणुत संवणी समस्यो के क्रम में सवंणित कर्मचरियो अणिकारियो समय समय पर दूरभाश पर एंव लिखित में एंव सी.एम.
हेल्प लाईन अवगत कराया लेकिन वह सभी अपनी हठणर्म कारण समस्या का पूर्ण निराकरण नही करते एंव सी.एम.हेल्प लाईन पर भी गलत निराकरण दिया जाता है प्रार्थी
भी एक शासकीय कर्मचारी है अतः उसे भी अपने कार्यालय पुहचना होता है लेकिन सवंणित अणिकारी निर्णारित समय पर अपने कार्यालय पर उपलव्ण नही होते है ओर न ही
फोन उठाते है जवकि विल पर समस्या समाणान के लिये अणिकारियो के फोन न. दिये रहते है और नियत तिथि तक विल भुगतान न करने पर सवंणित पर पेैनलटी लगती है फिर
किसी उपभोगता को सेवा मे कमी पर सवंणित व्यक्ति को चिन्ह कर दण्ड क्यो नही दिया जाता है अतः श्रीमान से निवेदन है प्रार्थी के पूर्व आवेदन क्रमांक 10025318 एंव
सी.एम.हेल्प लाईन 181 पर आवेदन क्रमांक 1613329 की निष्पक्ष जाॅच कर न्याय करने की कृपा करे। जाॅच के समय प्रार्थी को सूचना अणिकार अणिनियम के तहत गत 02
वर्षो मे केन्रद को प्राप्त विणुत , वितरित विणुत, प्राप्त विल राशि एंव प्रार्थी से सवंणित डी.पी से जुडे अन्य उपभोगताओ की विल सवंणित जानकारी प्रदान की जावे
प्रार्थी तत्य समय जो भी शुल्क हो भुगतान करेगा। घन्यवाद सहित प्रार्थी दिनेा कुमार गुप्ता बस स्टेण्ड मनपुरा तह. पिछोर जिला ािवपुरी म.प्र.
ऑनलाइन प्राप्त
9
100318632/15/2016 10:46:00सुरेश9179762382एमपीईबी
iप्रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र.शासन भोपाल विषय:- बिजली बिल मीटर रिडिंग के आधार पर दिलाये जाने के संबंध में। विषयान्र्तगत निवेदन है कि प्रार्थी सुरेशसिंह कुशवाह पुत्र श्री जगदीश प्रसाद कुशवाह निवासी लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बाबा के मंदिर के सामने शिवपुरी विवरण निम्नानुसार है:- 1- यह कि मीटर आई बी आर क्रमांक 279216902 सर्विस क्रमांक 2594628-86-10-2792169092 शिवपुरी जो कि विघुत विभाग द्वारा अनुमानित रिडिंग के आधार पर बिल दिया जा रहा है। जो कि 100 यूनिट एवं 100 से अधिक यूनिट का भी बिल मुझ प्रार्थीग् को दिया जाता है। परन्तु मुझ प्रार्थी की औसत खपत लगभग 20 से 25 यूनिट बनती है। कई बार विघुत मण्डल में शिकायत की परन्तु अनुमानित रिडिंग के आधार पर ही बिल दिया जा रहा है। 2- यह कि प्रार्थी का आज दिनांक 15.02.2016 तक मीटर रिंडिग अनुसार 602 यूनिट बनी है। तथा प्रार्थी ने विघुत विभाग में 1074 यूनिट का बिल जमा कर दिया गया है। मुझ प्रार्थी का 462 यूनिट का बिल जो ज्यादा जमा हुआ है। उसे अगले महीनो की रिडिंग में समायोजन किया जावें। 3- यह कि मुझ प्रार्थी का अनुमानित बिल दिया जा रहा है। उसे मीटर रिडिंग के आधार पर ही दिया जाये जवकि विघुत विभाग अधिकारी श्री ए.आर.खांन द्वारा मेरा मीटर चैक किया गया जो कि सही पाया गया तथा मीटर की रिडिंग लेने हेतु कोई कर्मचारी नही आता है। और घर बैठे ही अनुमानित रिडिंग के हिसाव से बिल दिया जाता है। 4- यह कि मुझ प्रार्थी के उक्त मीटर को पुनः जाॅच कर मीटर रिंडिग के आधार पर ही बिल दिया जावें। अतः श्रीमान् जी से नम्र निवेदन है कि मुझ गरीब प्रार्थी के अनुमानित बिल को मीटर रिडिंग के आधार पर करवा दिया जाये तो माननीय महोदय की अति दया होगी। प्रार्थी सुरेश कुशवाह लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बावा के मंदिर के सामने शिवपुरी
10
100318662/15/2016 10:53:00सुरेश सिंह9179762382एमपीईबी
प्रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र.शासन भोपाल विषय:- बिजली बिल मीटर रिडिंग के आधार पर दिलाये जाने के संबंध में। विषयान्र्तगत निवेदन है कि प्रार्थी सुरेशसिंह
कुशवाह पुत्र श्री जगदीश प्रसाद कुशवाह निवासी लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बाबा के मंदिर के सामने शिवपुरी विवरण निम्नानुसार है:- 1- यह कि मीटर आई बी
आर क्रमांक 279216902 सर्विस क्रमांक 2594628-86-10-2792169092 शिवपुरी जो कि विघुत विभाग द्वारा अनुमानित रिडिंग के आधार पर बिल दिया जा रहा है। जो कि
100 यूनिट एवं 100 से अधिक यूनिट का भी बिल मुझ प्रार्थीग् को दिया जाता है। परन्तु मुझ प्रार्थी की औसत खपत लगभग 20 से 25 यूनिट बनती है। कई बार विघुत मण्डल में
शिकायत की परन्तु अनुमानित रिडिंग के आधार पर ही बिल दिया जा रहा है। 2- यह कि प्रार्थी का आज दिनांक 15.02.2016 तक मीटर रिंडिग अनुसार 602 यूनिट बनी है। तथा
प्रार्थी ने विघुत विभाग में 1074 यूनिट का बिल जमा कर दिया गया है। मुझ प्रार्थी का 462 यूनिट का बिल जो ज्यादा जमा हुआ है। उसे अगले महीनो की रिडिंग में समायोजन
किया जावें। 3- यह कि मुझ प्रार्थी का अनुमानित बिल दिया जा रहा है। उसे मीटर रिडिंग के आधार पर ही दिया जाये जवकि विघुत विभाग अधिकारी श्री ए.आर.खांन द्वारा
मेरा मीटर चैक किया गया जो कि सही पाया गया तथा मीटर की रिडिंग लेने हेतु कोई कर्मचारी नही आता है। और घर बैठे ही अनुमानित रिडिंग के हिसाव से बिल दिया जाता है। 4-
यह कि मुझ प्रार्थी के उक्त मीटर को पुनः जाॅच कर मीटर रिंडिग के आधार पर ही बिल दिया जावें। अतः श्रीमान् जी से नम्र निवेदन है कि मुझ गरीब प्रार्थी के अनुमानित बिल
को मीटर रिडिंग के आधार पर करवा दिया जाये तो माननीय महोदय की अति दया होगी। प्रार्थी सुरेश कुशवाह लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बावा के मंदिर के सामने
शिवपुरी
11
100318692/15/2016 10:55:00सुरेश सिंह9179762382एमपीईबी
प्रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र.शासन भोपाल विषय:- बिजली बिल मीटर रिडिंग के आधार पर दिलाये जाने के संबंध में। विषयान्र्तगत निवेदन है कि प्रार्थी सुरेशसिंह कुशवाह पुत्र श्री जगदीश प्रसाद कुशवाह निवासी लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बाबा के मंदिर के सामने शिवपुरी विवरण निम्नानुसार है:- 1- यह कि मीटर आई बी आर क्रमांक 279216902 सर्विस क्रमांक 2594628-86-10-2792169092 शिवपुरी जो कि विघुत विभाग द्वारा अनुमानित रिडिंग के आधार पर बिल दिया जा रहा है। जो कि 100 यूनिट एवं 100 से अधिक यूनिट का भी बिल मुझ प्रार्थीग् को दिया जाता है। परन्तु मुझ प्रार्थी की औसत खपत लगभग 20 से 25 यूनिट बनती है। कई बार विघुत मण्डल में शिकायत की परन्तु अनुमानित रिडिंग के आधार पर ही बिल दिया जा रहा है। 2- यह कि प्रार्थी का आज दिनांक 15.02.2016 तक मीटर रिंडिग अनुसार 602 यूनिट बनी है। तथा प्रार्थी ने विघुत विभाग में 1074 यूनिट का बिल जमा कर दिया गया है। मुझ प्रार्थी का 462 यूनिट का बिल जो ज्यादा जमा हुआ है। उसे अगले महीनो की रिडिंग में समायोजन किया जावें। 3- यह कि मुझ प्रार्थी का अनुमानित बिल दिया जा रहा है। उसे मीटर रिडिंग के आधार पर ही दिया जाये जवकि विघुत विभाग अधिकारी श्री ए.आर.खांन द्वारा मेरा मीटर चैक किया गया जो कि सही पाया गया तथा मीटर की रिडिंग लेने हेतु कोई कर्मचारी नही आता है। और घर बैठे ही अनुमानित रिडिंग के हिसाव से बिल दिया जाता है। 4- यह कि मुझ प्रार्थी के उक्त मीटर को पुनः जाॅच कर मीटर रिंडिग के आधार पर ही बिल दिया जावें। अतः श्रीमान् जी से नम्र निवेदन है कि मुझ गरीब प्रार्थी के अनुमानित बिल को मीटर रिडिंग के आधार पर करवा दिया जाये तो माननीय महोदय की अति दया होगी। प्रार्थी सुरेश कुशवाह लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बावा के मंदिर के सामने शिवपुरी
12
100327472/18/2016 12:14:00सुरेश9179762382एमपीईबी
रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र.शासन भोपाल विषय:- बिजली बिल मीटर रिडिंग के आधार पर दिलाये जाने के संबंध में। विषयान्र्तगत निवेदन है कि प्रार्थी सुरेशसिंह कुशवाह पुत्र श्री जगदीश प्रसाद कुशवाह निवासी लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बाबा के मंदिर के सामने शिवपुरी विवरण निम्नानुसार है:- 1- यह कि मीटर आई बी आर क्रमांक 279216902 सर्विस क्रमांक 2594628-86-10-2792169092 शिवपुरी जो कि विघुत विभाग द्वारा अनुमानित रिडिंग के आधार पर बिल दिया जा रहा है। जो कि 100 यूनिट एवं 100 से अधिक यूनिट का भी बिल मुझ प्रार्थीग् को दिया जाता है। परन्तु मुझ प्रार्थी की औसत खपत लगभग 20 से 25 यूनिट बनती है। कई बार विघुत मण्डल में शिकायत की परन्तु अनुमानित रिडिंग के आधार पर ही बिल दिया जा रहा है। 2- यह कि प्रार्थी का आज दिनांक 15.02.2016 तक मीटर रिंडिग अनुसार 602 यूनिट बनी है। तथा प्रार्थी ने विघुत विभाग में 1074 यूनिट का बिल जमा कर दिया गया है। मुझ प्रार्थी का 462 यूनिट का बिल जो ज्यादा जमा हुआ है। उसे अगले महीनो की रिडिंग में समायोजन किया जावें। 3- यह कि मुझ प्रार्थी का अनुमानित बिल दिया जा रहा है। उसे मीटर रिडिंग के आधार पर ही दिया जाये जवकि विघुत विभाग अधिकारी श्री ए.आर.खांन द्वारा मेरा मीटर चैक किया गया जो कि सही पाया गया तथा मीटर की रिडिंग लेने हेतु कोई कर्मचारी नही आता है। और घर बैठे ही अनुमानित रिडिंग के हिसाव से बिल दिया जाता है। 4- यह कि मुझ प्रार्थी के उक्त मीटर को पुनः जाॅच कर मीटर रिंडिग के आधार पर ही बिल दिया जावें। अतः श्रीमान् जी से नम्र निवेदन है कि मुझ गरीब प्रार्थी के अनुमानित बिल को मीटर रिडिंग के आधार पर करवा दिया जाये तो माननीय महोदय की अति दया होगी। प्रार्थी सुरेश कुशवाह लक्ष्मी वाई रोड महल के पीछे ठाकुर बावा के मंदिर के सामने शिवपुरी
ऑनलाइन प्राप्त
13
1001489411/5/2015 14:49:00जगदीश9617565781एलबीओ
सेवा में सबिनय निवेदन हे की पार्थी जगदीश पुत्र रामसिंघ जाती केवट ग्राम बरोद तहसील बदरवास जिला शिवपुरी म.प. का निवासी हु मेने मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत कुटीर लेने मान्ध्याचल ग्रामीण बैंक खतोरा में गया था बैंक मैनेजर ने कहा की तुम फाइल तैयार करा लाओ हम कुटीर पास कर देंगे मेने फाइल तैयार करा ली और में बह फाइल लेकर बैंक में गया तो बैंक मेनेजर ने कहा की आप दस हजार रूपये दे तो तुम्हारी कुटीर पास हो जायगी इसके बाद जब एडी ओ साहब के पास गया तो बो बी दस हजार रूपये मांग रहे हे मेरी फाइल को करीब एक साल हो गया हे बैंक बालो के अनुसार मेने मेरा पुराना मकान गिराकर नीव बी खोद ली हे मेरा पूरा परिवार एक दूसरे के मकान में रह रहा हे इसके बाद में दुबारा बैंक मेनेजर के पास गया तो उन्होंने कहा की ये फाइल तो खराब हो गई हे तुम दूसरी फाइल तयार करा ली हे अब बी बैंक बाले घुमा रहे हे मेरी फसल पूरी तरह से खराब हो गई थी अब में उस स्थति में भी नही हु की में दस हजार रु की रिस्बत देके कुटीर मंजूर करा सकु अत श्री मान से निबेदन हे की मुझे उचित न्याय दिलाया जाय और ऐसे ब्रष्टाचारी बैंक मेनेजर और ए डी ओ के खिलाफ उचित कार्यवाही करने की कृपा करे पार्थी जगदीश पुत्र रामसिंघ जाती केवट ग्राम बरोद तहसील बदरवास जिला शिवपुरी म.प.
ऑनलाइन प्राप्त
14
100339742/25/2016 10:58:00प्रभु दयाल सोहरे9755260120एसडीएम पिछोर
प्राथी का स्थानातरण तहसील खनियाधाना से तहसील बदरवास श्री मान कलेक्टर महोदय के पत्र क्रमाक .321.भू - अभिलेख स्थापना.2015 से दिनाक 28.05.2015 से स्थानातरण किया गया था आज दिनाक तक प्राथी को बदरवास तहसील पर नीवन पद स्थापना पर भार मुक्त नहीं किया गया है भार मुक्त कराया जाये महोदय सेवा में निवेदन है की प्राथी कई बार अनुविभागीय अधिकारी महोदय को इस सबंध में कई बार स्वम उपस्थित हो कर आवेदन दे चूका है आज कल कर के टाल देते है प्राथी अनुसूचित जन जाति सहरिया जाती से है एवं गरीब परिवार से है प्राथी की आथिक स्थिति ठीक नहीं है प्राथी परिवार का भरण पोषण ठीक से नहीं कर पा रहा है प्राथी को नवीन पद स्थापना पर तत्काल भार मुक्त कराया जावे एवं प्राथी की वृद्ध माँ बीमार है प्राथी का वेतन भत्ते तत्काल भुगतान कराया जावे एवं जिससे अपनी माँ का इलाज करा सके एवं अपने परिवार का भरण पोषण ठीक से कर सके प्राथी को 28.05.२०१५ से आज २५.02.२०१६ तक का समय हो गया है श्री मान के आदेशो का पालन नहीं हो रहा है पालन कराया जावे यही विनय है
ऑनलाइन प्राप्त
15
100297522/5/2016 11:16:00राजीव9425763674एसडीएम पिछोर
प्रति, माननीय मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल विषय - नगर परिषद पिछोर द्वारा दुकानों की नीलामी प्रक्रिया के निष्पादन आदेश के बाद भी प्रार्थी की जामा राशि को बापिस कराने वावत्। महोदय, श्रीमान् जी से निवेदन है कि - 1. यह कि नगर परिषद पिछोर द्वारा पूर्व में दिनांक 17.06.2014 को तहसील मोहल्ला स्थिति नौ दुकानेां की नीलामी में धांधली, भ्रष्टाचार किया गया था जिस पर आम लोगोें एवं जन प्रतिनिधियों द्वारा श्रीमान् सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि प्रभारी मंत्री श्रीमती कुसुम महेदले, माननीय यशोधरा राजे साहब आदि से शिकायत की गई तथा पत्रकारेां द्वारा भी समय - समय पर निकाय द्वारा किये गये भृष्टाचार के संबध में प्रकाशित किया गया (समाचार पत्रों की छाया प्रति संलग्न)। 2. यह कि उक्त दुकानों की नीलामी प्रक्रिया में धांधली की जांच श्रीमान एस.डी.एम. महोदय से कराई जाकर प्रक्रिया को श्रीमान् कलेक्टर महोदय जी ने प्रकरण क्र.6.13-14.सी-144 दिनांक 08.08.2014 मे पारित आदेश मे पारित निलामी प्रक्रिया को दोषपूर्ण मानते हुये निलंवित कर राज्य शासन को भेजा गया । 3. यह कि श्रीमान कलेक्टर महोदय के निष्पादन प्रस्ताव अनुसार मध्यप्रदेश शासन नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग मंत्रालय भोपाल आदेश क्रमांक एफ 4-11.2015.18-3 भोपाल दिनांक 10.6.2015 अनुसार नगर परिषद पिछोर द्वारा उक्त निलामी प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से विखंडित किया गया 4. यह कि, उक्त संबंध में प्रार्थी द्वारा जनसुनाई में कई बार निवेदन किया जा चुका है किन्तु प्रार्थी के दोषपूर्ण निलामी प्रक्रिया में जमा पैसे वापस नहीं किये गए है। अतः श्री मान् जी से निवेनद है कि नगर परिषद को प्रार्थी के पैसे वापस दिलाने हेतु आदेशित करने की कृपा करें तो अतिकृपा होगी। दिनांक 04.02.2016 संलग्न- श्रीमान कलेक्टर महोदय एवं श्रीमान मध्यप्रदेश शासन नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग मंत्रालय के द्वारा जारी आदेशो की छायाप्रति । राजीव नीखरा (पत्रकार दैनिक भास्कर) मोबा- 9425763674
माननीय मुख्यमंत्री महोदय,
16
100299422/5/2016 20:08:00संजय8825365520एसडीएम पिछोर
माननीय मुख्य मंत्री महोदय, म.प्र.शासन भोपाल विषय - प्रशासन की मिली भगत से शासकीय मंदिर की भूमि पर दुकाने बनवाकर लाखों रूपये की पकड़ी जमा कर हजारों रूपये किराये के बसूलने तथा शासन को छति पहुंचाने वावत्। महोदय,
माननीय जी से निवेदन है कि - 1.
17
100341212/25/2016 14:55:00हरवान9713212010एसडीएम पिछोर
ग्राम पंचायत इमलिया के ग्राम देवरी के समस्त ग्रामवासी बालो ने की शा.प्रा.विद्यालय देवरी पर जय माँ समुह द्वारा दो माह से बच्चो को भोजन वितरण नहीं किया समूह की कई बार शिकायत की गई एक बार शिकायत एस.डी.एम. कार्यालय पिछोर एवं बी.आर.शी. कार्यालय खनियाधाना भी की गई लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई दिनांक २६.०१.२०१६ गणतंत्र दिवस पर कार्यक्रम में भी किसी भी प्रकार का भोजन नहीं कराया गया अतःश्रीमान जी से निवेदन है की समूह को हटाने की कृपा करे जिससे शासन द्वारा संचालित मध्यान भोजन कार्यक्रम नियमित वितरण हो सके यदि समुह को नहीं हटाया गया तो हम समस्त ग्रामवासी धरने पर वैठकर समुह के खिलाप आन्दोलन करेंगे महोदय से हम सब ग्रामवासीयो की बड़ी आशा है की समुह हटाने की कार्यवाही करेगे समस्त ग्रामवासी देवरी पोस्ट अछरोनी ग्राम पंचायत इमिलिया
ऑनलाइन प्राप्त
18
100341372/25/2016 15:11:00हरवान9713212010एसडीएम पिछोर
ग्राम देवरी पोस्ट अछरोनी ग्राम पंचायत इमलिया शा.प्रा.वि.देवरी पर जय माँ समूह द्वारा दो माह से बच्चो को भोजन नहीं दिया गया समूह की कई बार शिकायत की गई एक बार एस.डी.एम.कार्यालय पिछोर एवं एक बार बी.आर.सी. कार्यालय खनियाधाना भी की है लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई दिनांक २६.०१.२०१६ गणतंत्र दिवस को आयोजित कार्यक्रम में भी किसी भी प्रकार का भोजन नहीं कराया गया अतः श्रीमान जी से निवेदन है की समूह को हटाने की कृपा करे जिससे शासन द्वारा संचालित मध्यान भोजन कार्यक्रम नियमित वितरण हो सके यदि समूह को नहीं हटाया गया तो हम सब ग्रामवासी धरने पर बैठकर समूह के खिलाप आन्दोलन करेंगे महोदय से हम सब ग्रामवासीयो को बड़ी आशा है की समूह हटाने की कार्यवाही करेंगे समस्त ग्रामवासी ग्राम देवरी पोस्ट अछरोनी ग्राम पंचायत इमलिया
ऑनलाइन प्राप्त
19
100350373/1/2016 11:06:00राजकुमार9425799820एसडीएम पिछोर
प्रति, माननीय मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल विषय -ः तहसीलदार पिछोर द्वारा रिश्वत लेने की मनसा से प्रार्थी को परेशान किया जा कर प्रार्थी के स्वत्व की भूमि के खसरा, खतौनी, अक्श को कम्प्यूटर मे इन्द्राज न करने वावत्। महोदय, उपरोक्त विषय मे निवेदन है कि -ः 1. यह कि प्रार्थी ने दिनांक 10.12.2015 को श्रीमान तहसीलदार महोदय के कार्यालय मे अपनी स्वत्व की भूमि सर्वे नं. 565.2, 798.2, 799.1 को कम्प्यूटर मे इन्द्राज कराने हेतु आवेदन दिया था आवेदन के साथ चाहे गये समस्त दस्तावेज जैसे- बन्दोवस्त के समय की प्रमाणित नकल, अक्श, पटवारी द्वारा प्रार्थी के पक्ष मे लिखा गया पुष्टि पत्र, बटवारा संबंधी दस्तावेज सलग्न किये गये थे । 2. यह कि प्रार्थी से रिश्वत लेने की मनसा से प्रार्थी को परेशान किया जा रहा है। आज कल आज कल आने की कहकर कार्य को टाल रहे है । जिससे प्रार्थी परेशान है अपने स्वत्व स्वामित्व की भूमि के कागजांे का उपयोग के.सी.सी. आदि कार्य मे नही कर पा रहा है। अतः माननीय जी से निवेदन है कि प्रार्थी की स्वत्व की भूमि के दस्तावेज खसरा, खतौनी, अक्श कम्प्यूटर मे इन्द्राज कराने हेतु श्रीमान तहसीलदार महोदय को आदेशित करने की कृपा करे तो माननीय जी की अति कृपा होगी। दिनांक 01.03.2016 प्रार्थी राजकुमार पुरोहित पुत्र श्री नाथूराम पुरोहित निवासी ग्राम वीरपुर तहसील पिछोर जिला शिवपुरी म.प्र. मो- 9644712673, 9425799820
माननीय मुख्यमंत्री महोदय,
20
1007611002-09-16जिहानसिंह0एसडीएम पिछोर
विषय -ः सैकड़ों बार निवेदन किये जाने के वावजूद भी एवं श्रीमान कलेक्टर महोदय शिवपुरी द्वारा मांग किये जाने पर भी प्रार्थी के प्रकरण कोतहसीलदार श्री सुनील शर्मा पिछोर द्वारा प्रकरण न भिजवाने विषयक ।
ऑनलाइन प्राप्त
21
1007611502-09-16जिहान सिंह0एसडीएम पिछोर
सैकड़ों बार निवेदन किये जाने के वावजूद भी एवं श्रीमान कलेक्टर महोदय शिवपुरी द्वारा मांग किये जाने पर भी प्रार्थी के प्रकरण को तहसीलदार श्री सुनील शर्मा पिछोर द्वारा प्रकरण न भिजवाने विषयक ।
ऑनलाइन प्राप्त
22
1001444111/3/2015 11:42:00विनय कुमार9826296507कृषि
विषय - आवेदक के भाई शारीरिक विकलांग एवं दिमागी डिस्टर्वे अविवाहित को म.प्र. शासन परिवार पेंशन योजना आदेश क्र. पी. २५.११.९७ wc4 आदेश दिनांक २७.०२.१९९७ के तहत परिवार पेंशन के सम्बन्ध में माननीय जी,
निवेदन है कि मेरे पिता श्री अखण्डदास सक्सेना शासकीय पद रेडियो सम्पर्क अधिकरी कार्यालय प्राचार्य एवम प्रशिक्षण केंद्र शिवपुरी (म.प्र.) से दिनांक 31.10.1989 मे रिटायर होकर शासन द्वारा मंजूर पी.पी.ओ. 28523 दिनांक 01.11.1989 संयुक्त संचालक पेंशन म.प्र. भोपाल द्वारा मंजूर पेंशन लेते हुये दिनांक 07-10-2011 में उनका स्वर्गवास हो गया, उपरांत उनकी पत्नी मेरी मा श्रीमती सरोज देवी सक्सेना को उनकी पेंशन मिलती रही है, दिनांक 21-12-2014 में उनका भी स्वर्गवास हो गया, उनके हम दो पुत्र हैं १. विनय कुमार सक्सेना २. सनू उर्फ विजय सक्सेना जो कि जन्म से ही शारीरिक विकलांग एवम मानसिक डिस्टर्व है, वह किसी भी कार्य करने में अक्षम है, वह पूरी तरह अपने माता-पिता पर आश्रित था, उनकी म्रत्यु उपरांत मुझ पर आश्रित हो गया है, मेरे पास आय के श्रोत भी उपलब्ध नहीं हैं, उसके ईलाज एवम भरण पोषण मे मुझे बहुत परेशानी हो रही है, म.प्र. शासन द्वारा आदेश क्र. P.25.11.11.97.WC4 दिनांक 27.02.97 के अनुसार परिवार पेंशन लेने की पूरी पात्रता है, मैंने दिनांक 10.03.2015 में शिवपुरी कार्यालय प्राचार्य एवम प्रशिक्षण केंद्र जाकर कम्पलीट पेंशन फोर्म के साथ पेंशन लेने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया है, उपरांत कई बार शिवपुरी कार्यालय जाकर जानकारी चाही है, मुझे अभी तक प.क्र. 2015-16.294 दिनांक 26.08.2015 में भेजा गया संयुक्त संचालक कोष एवम लेखा भोपाल सर्विस बुक मंगवाने लेटर भेजने की लिखित जानकारी प्राप्त हुई है, उपरांत अभी तक पेंशन शुरु नहीं हो पाई है, अधिक लेट होने से मुझे बहुत परेशानी हो रअही है, हमारी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है, मजबूर होकर आपकी सेवा मे यह प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर रहा हूँ,
23
1001673611/21/2015 14:11:00विनय कुमार9826296507कृषि
विषय - आवेदक के भाई शारीरिक विकलांग एवं दिमागी डिस्टर्वे अविवाहित को म.प्र. शासन परिवार पेंशन योजना आदेश क्र. पी. २५.११.९७ wc4 आदेश दिनांक २७.०२.१९९७ के तहत परिवार पेंशन के सम्बन्ध में माननीय जी, निवेदन है कि मेरे पिता श्री अखण्डदास सक्सेना शासकीय पद रेडियो सम्पर्क अधिकरी कार्यालय प्राचार्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केंद्र शिवपुरी (म.प्र.) से दिनांक 31.10.1989 मे रिटायर होकर शासन द्वारा मंजूर पी.पी.ओ. 28523 दिनांक 01.11.1989 संयुक्त संचालक पेंशन म.प्र. भोपाल द्वारा मंजूर पेंशन लेते हुये दिनांक 07-10-2011 में उनका स्वर्गवास हो गया, उपरांत उनकी पत्नी मेरी मा श्रीमती सरोज देवी सक्सेना को उनकी पेंशन मिलती रही है, दिनांक 21-12-2014 में उनका भी स्वर्गवास हो गया, उनके हम दो पुत्र हैं १. विनय कुमार सक्सेना २. संजू उर्फ विजय सक्सेना जो कि जन्म से ही शारीरिक विकलांग एवम मानसिक डिस्टर्व है, वह किसी भी कार्य करने में अक्षम है, वह पूरी तरह अपने माता-पिता पर आश्रित था, उनकी म्रत्यु उपरांत मुझ पर आश्रित हो गया है, मेरे पास आय के श्रोत भी उपलब्ध नहीं हैं, उसके ईलाज एवम भरण पोषण मे मुझे बहुत परेशानी हो रही है, म.प्र. शासन द्वारा आदेश क्र. P.25.11.11.97.WC4 दिनांक 27.02.97 के अनुसार परिवार पेंशन लेने की पूरी पात्रता है, मैंने दिनांक 10.03.2015 में शिवपुरी कार्यालय प्राचार्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केंद्र जाकर कम्पलीट पेंशन फोर्म के साथ पेंशन लेने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया है, उपरांत कई बार शिवपुरी कार्यालय जाकर जानकारी चाही है, मुझे अभी तक प.क्र. 2015-16.294 दिनांक 26.08.2015 में भेजा गया संयुक्त संचालक कोष एवम लेखा भोपाल सर्विस बुक मंगवाने लेटर भेजने की लिखित जानकारी प्राप्त हुई है, उपरांत अभी तक पेंशन शुरु नहीं हो पाई है, अधिक लेट होने से मुझे बहुत परेशानी हो रअही है, हमारी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है, मजबूर होकर आपकी सेवा मे यह प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर रहा हूँ, हमें इस योजना का शीघ्र लाभ दिलाने की क्रपा करे, तो हम पर आपकी अति क्रपा होगी ! आवेदक विनय कुमार सक्सेना प्रतिलिपि- १.
श्रीमान जिलाधीश महोदय, जिला शिवपुरी (म.प्र.) २.
24
100427404/9/2016 19:33:00
विनय कुमार सेक्ससेना
9826296507कृषि
विषय - आवेदक के भाई शारीरिक विकलांग एवं दिमागी डिस्टर्वे अविवाहित को म.प्र. शासन परिवार पेंशन योजना आदेश क्र. पी. २५.११.९७ wc4 आदेश दिनांक २७.०२.१९९७ के तहत परिवार पेंशन के सम्बन्ध में माननीय जी, निवेदन है कि मेरे पिता श्री अखण्डदास सक्सेना शासकीय पद रेडियो सम्पर्क अधिकरी कार्यालय प्राचार्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केंद्र शिवपुरी (म.प्र.) से दिनांक 31.10.1989 मे रिटायर होकर शासन द्वारा मंजूर पी.पी.ओ. 28523 दिनांक 01.11.1989 संयुक्त संचालक पेंशन म.प्र. भोपाल द्वारा मंजूर पेंशन लेते हुये दिनांक 07-10-2011 में उनका स्वर्गवास हो गया, उपरांत उनकी पत्नी मेरी मा श्रीमती सरोज देवी सक्सेना को उनकी पेंशन मिलती रही है, दिनांक 21-12-2014 में उनका भी स्वर्गवास हो गया, उनके हम दो पुत्र हैं १. विनय कुमार सक्सेना २. संजू उर्फ विजय सक्सेना जो कि जन्म से ही शारीरिक विकलांग एवम मानसिक डिस्टर्व है, वह किसी भी कार्य करने में अक्षम है, वह पूरी तरह अपने माता-पिता पर आश्रित था, उनकी म्रत्यु उपरांत मुझ पर आश्रित हो गया है, मेरे पास आय के श्रोत भी उपलब्ध नहीं हैं, उसके ईलाज एवम भरण पोषण मे मुझे बहुत परेशानी हो रही है, म.प्र. शासन द्वारा आदेश क्र. P.25.11.11.97.WC4 दिनांक 27.02.97 के अनुसार परिवार पेंशन लेने की पूरी पात्रता है, मैंने दिनांक 10.03.2015 में शिवपुरी कार्यालय प्राचार्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केंद्र जाकर कम्पलीट पेंशन फोर्म के साथ पेंशन लेने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया है, उपरांत कई बार शिवपुरी कार्यालय जाकर जानकारी चाही है, मुझे अभी तक प.क्र. 2015-16.294 दिनांक 26.08.2015 में भेजा गया संयुक्त संचालक कोष एवम लेखा भोपाल सर्विस बुक मंगवाने लेटर भेजने की लिखित जानकारी प्राप्त हुई है, उपरांत अभी तक पेंशन शुरु नहीं हो पाई है, अधिक लेट होने से मुझे बहुत परेशानी हो रअही है, हमारी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है, मजबूर होकर आपकी सेवा मे यह प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर रहा हूँ, हमें इस योजना का शीघ्र लाभ दिलाने की क्रपा करे, तो हम पर आपकी अति क्रपा होगी ! आवेदक विनय कुमार सक्सेना प्रतिलिपि- १. श्रीमान जिलाधीश महोदय, जिला शिवपुरी (म.प्र.) २. श्रीमान प्राचार्य महोदय, प्राचार्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केंद्र शिवपुरी (म.प्र.)
ऑनलाइन प्राप्त
25
1001586411/16/2015 9:29:00राम9749233231खनिज
श्रीमान निवेदन है कि शिवपुरी जिले के ग्राम मझेरा में नियम विरुद्ध खाद्दाने मंजूर की गयी हे ।फारेस्ट विभाग द्वारा गलत NOC जरी की गयी ।अवैध उत्खनन से राष्ट्रीय राजमार्ग को क्षति होने की सम्भावना हे।अतः तत्काल इसकी जाँच करवाया जा कर उचित कार्यवाही करने का कष्ट करे
ऑनलाइन प्राप्त
26
1001586511/16/2015 9:30:00राम9749233231खनिज
श्रीमान निवेदन है कि शिवपुरी जिले के ग्राम मझेरा में नियम विरुद्ध खाद्दाने मंजूर की गयी हे ।फारेस्ट विभाग द्वारा गलत NOC जरी की गयी ।अवैध उत्खनन से राष्ट्रीय राजमार्ग को क्षति होने की सम्भावना हे।अतः तत्काल इसकी जाँच करवाया जा कर उचित कार्यवाही करने का कष्ट करे
ऑनलाइन प्राप्त
27
1001658011/20/2015 13:18:00राम kumar9749223321खनिज
श्रीमान जी से निवेदन हे की जिला शिवपुरी के ग्राम मझेरा में नियम विरूद खदाने की मंजूरी की गयी हे फारेस्ट विभाग दुवारा गलत NOC जारी की गयी हे अवैध उत्खनन से राष्टीय राजमार्ग को छती होने की संभावना हे श्रीमान जी से निवेदन हे की इसकी तत्काल जाँच कराकर उचित कार्यवाही करने का कष्ट करे
ऑनलाइन प्राप्त
28
1002163512/21/2015 16:24:00Sitaram812044066खनिज
vartman gram dabra sani nadi ls arogadh avaidh ret ka utkhanan kar chori- chhupe ret ka vikra kar rahe hain aaropigad ke nam pate is prakar hain - hakim singh rawat S.o veerpal singh niwasi gram khadicha, harimohan rawat nivasi gram khadicha or ramvaran gram panchat sachiv nivasi saheedakhurd or manoj rawat S.o Lakhan singh nivasi gram papredu , pahadsingh rawat gram Dabrasani or Chhatrapal Rawat Vartman Sarpanch Prembai ka pati hai nivasi gram Dabara sani sabhi aropigad daban , Rajnaitik Prabhavshali Vyakti hain or ret Utkhanan Bhu-Maphiya han, singh nadi se ret ki chori kar apne Damper , Trectaron se ret bharkar ret ka avaidh vikra kar rahe hain or hum prathigad ke kheton se jabran vahan nikalte hain or ladai Jhagda karne ke liye aamda rahate hian or kisan log apne kheton main Phasal ki boni nahi kar paa rahe hian or sabhi gramvasi bahut pareshan ho rahe hain aaropigad ko roka jata hain to jaan se marne ki dhamki dete hain aropigad dabang hain or avaidh tarike se ret ka utkhanan kar rahe hian or avaidh hathiyar rakhate hian or kabhi bhi apriya Ghatnako anjaam de sakte hian Shriman Ji se nivedan hain ki aropigaron ke virudh aapradhik mamla panjibadh kar girptar kar jel bheja jaave or avaidh ret ka vikra roke jaane ki krapa kare
ऑनलाइन प्राप्त
29
100661687/26/2016 15:10:00छत्रपालसिंह9993473261खनिज
महोदय सेवा में निवेदन है कि:- ष् 1. यह कि, मदनसिंह गुर्जर नि,ग्राम गणेषखेरा तहसील करैरा का है जो ग्राम पंचायत उकायला की सरपंच कमलेष का पति होकर खनिज माफीया है जो राजस्व एवं वनक्षेत्रों में कोपरा उत्खनन कर बजरी की धुलाईकर विक्रय करने का कार्य करता है। 2. यह कि, मदनसिंह गुर्जर को क्षेत्र के वन एवं राजस्व कर्मचारीयों का संरक्षण प्राप्त है जो आये दिन संबंधित कर्मचारियों को दावतें देता है तथा प्रषासनिक कर्मचारियों के संरक्षण मंे कोपरा बजरी निकालकर रेत से भरे हुये डम्फरों को राजस्व सीमा से निकालकर जंगल में छुपा देता है अंधेरा होते ही डम्फरों को निकाल देता है उक्त के द्वारा ग्राम गणेषखेरा जयराव, नयाखेडा, तहसील करैरा एवं ग्राम थरखेडा तह. नरबर के शासकीय नालांे आदि से अवैध रूप से बजरी का अवैध रूप से दिनरात उत्खनन जे.सी.बी आदि से किया जा रहा है। 3. यह कि, उक्त ग्रामों कई फुट गहरे गढढे पहाडों एवं नालों के आसपास आसानी से देखे जा सकते है उक्त व्यक्ति अपराधिक पृष्टभूमि का है जिसके विरूध 307 आदि के तहत प्रकरण दर्ज है। अतः श्रीमान से निवेदन है कि क्षेत्र के माफीया मदनसिंह गुर्जर के द्वारा अवैध उत्खनन की कार्यवाही करने एवं उक्त कार्य में उपयोग में आनेवाली मषीन भी टैक्टर पंखें आदि को जप्त किये जाने की कृपा की जावें।
30
1002178012/22/2015 13:20:00मनीराम8358034884खाद्य
विषय शासकीय उचित मूल्य दुकान बघरा सजौर के विक्रेता राकेश यादव द्वारा महीने में मात्र १ दिन दुकान खोलने राशन सामग्री एवं केरोसीन निर्धारित से कम देने के सम्बन्ध में महोदय निवेदन है की प्रार्थी ग्राम बघरा सजौर तहसील करैरा जिला शिवपुरी का निवासी है हमें शासकीय उचित मूल्य दुकान बघरा सजौर से राशन सामग्री मिलना तय है परन्तु उक्त दुकान के विक्रेता राकेश यादव द्वारा महीने में एक दिन ही दुकान खोली जाती है अक्टूबर २०१५ इस केरोसिन दिया ही नहीं गया है उसके द्वारा शक्कर गेंहू आदि को तौल कर नहीं दिया जाता है बल्कि डब्बे से भर कर अंदाजा से दिया जाता है जो की निर्धारित से सदैव ही बहुत कम दिया जाता है वह केरोसिन को भी ऐसे डब्बे से भर कर देता है जो की नीचे से एवं साइड से दबा हुआ है जब कोई उपभोक्ता आपत्ति करता है तो वह गली गलोच कर मारपीट करने आमादा हो जाता है. ज्ञात हो की तीह माह पूर्व उक्त दुकान सहकारी बैंक के अधीन थी तब नियमित दुकान खुलती थी व हमें सही तरीके से सामग्री मिलती थी अत निवेदन है की हमारी समस्या का स्थायी समाधान निकलवाने की कृपा करें
ऑनलाइन प्राप्त
31
100260651/14/2016 17:27:00बालचंद8889545289खाद्य
सेल्समेन हरेंद्र सिंह उर्फ चालीराजा द्वारा माह दिसम्बर की खादय सामग्री जनवरी माह में बांटी जारही है एवं राशन काड्र्र पर दिसम्बर एबं
जनवरी का राशन चढाया जारहा है उक्त सेल्समेन मारकेटिंग मेंनेजर का रिश्तेदार है इस कारण सेल्समेन मनमानी कर रहा है आप से निबेदन है निष्पक्ष जांच कराने की क्रपा
करें जिससे गरीबो को न्याय मिल सके बालचंद अहिरबार भरसूला तेहसील खनियाणाना
ऑनलाइन प्राप्त
32
100406553/30/2016 17:13:00रामवीर सिंग डांगी8435927004खाद्य
महोदय सेवा में हम समस्त ग्रामवाशियों का आपसे निवेदन है की हम ग्रामवासी ग्राम ढकरोरा ग्राम पंचायत ढकरोरा तहसील बदरवास जिला शिवपुरी के मूल निवासी है. यह की हम ग्रामवाशियों को माह मार्च २०१६ का राशन आज दिनांक तक नहीं मिला है. जव हम लोग सैलसमन से कहते है तो आज कल आज कल का बहाना लगाता रहता है. हम समस्त हितग्राही गरीव लोग है. राशन के बिना हम लोगो को दो टाइम का कहना भी नसीब नहीं हो प रहा है. यह की जब हम लोग दुकान पर जाते है तो सैलसमन ने कहता है की तुमको राशन नहीं दूंगा. मुझे कार्डधारी ही चाहिए. हम अपनी मजदूरी छोड़कर तीन दिन सैलसमन के पास गए. सैलसमन ने कह दिया की अभी तुम अपन घर को जाओ. ,में अपने काम में लगा हु. तुम दो दिन बाद आना. श्रीमान जी हम लोग दो दिन मजदूरी नहीं कर पाए. दो दिन बाद जब हम दोबारा दुकान पैर गए तो सैलसमन ने कहा की अभी राशन नहीं दूंगा जाओ शिकायत कर आओ . श्रीमान जी राशन की दुकान पर न तो भावसूचि है ना ही कोई पहचान बोर्ड है. हम गरीब मजदुर लोग है अपनी मजदूरी छोड़कर अगर रोज रोज राशन की दुकान पर जायेंगे और सैलसमन इसी तरह हमे परेशान करेगा तो हम क्या खाएंगे और क्या अपना और अपने बच्चों को पालन पोसन करेंगे. इसके आलावा हम गरीबो की न कोई अधिकारी सुनवाई करता है ना ही कोई विभाग. बड़ी ही आशा के साथ श्रीमान जी के समक्ष आवेदन पत्र प्रस्तुत किया है आशा ही नहीं विश्वाश है की हमारी सुनवाई के साथ साथ ऐसे भ्रस्ट सैलसमन को आप जरूर निलम्बित करेंगे. धन्यवाद. दिनांक ३०.३.2016 निवेदक रामबीर सिंह डांगी , उप सरपंच , माली आदिवासी और समस्त ग्रामवासी ग्राम ढकरोरा ग्राम पंचायत ढकरोरा तहसील बदरवास जिला शिवपुरी म.प्र.
ऑनलाइन प्राप्त
33
100416984/4/2016 14:22:00रज्जाक9179318175खेल
प्रतिष्ठा में, निस्वार्थ भाव से परोपकारादि व्रत के पालनकर्ता परम सम्माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी, सम्मानीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली. आदरणीय महोदय, सादर नमन्। माननीय, मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से फुटबाॅल खेल के बारे में जो रूचि आपके द्वारा दिखाई गई है इस हेतु बापू फुटबाल आगादमी के कोचों एवं सभी खिलाडी आपके तहेदिल से आभारी होकर आपका आभार प्रगट करते हैं, माननीय जी के इस कदम की चहुंओर भूरी-भूरी प्रशंसा भी देशवासियों द्वारा की जा रही है। माननीय जी द्वारा फीफा अंडर -17 विश्व कम फुटबाल मेजवानी पर मांगे गये सुझाव आपके समक्ष निम्नानुसार सादर प्रस्तुत है:- 01. जन शिक्षा केन्द्र ;श्रण्ैण्ज्ञण्द्ध के अंतर्गत कम से कम 40 से 50 तक माध्यमिक तथा मिडिल शालायें संचालित रहती है। जिन शालाओं तथा पंचायत भवन, शासकीय भवनों के सामने या पीछे खेल मैदानों को चिन्हित कर उन मैदानों में फुटबाल क्रीड़ा गतिविधियां प्रारम्भ की जावे। 02. सर्वप्रथम तहसील स्तर पर समिति का गठन होना चाहिये, जिसमें हर तहसील अपनी टीम लाकरप जिले में होने वाली फुटवाल प्रतियोगिताओं में भाग लेवें। 03. जिन लोगों को फुटबाल खेल में रूचि हो या जो लोग फुटबाल के अच्छे खिलाडियों की तहसील तथा जिले स्तर पर प्रत्येक माह बैठक होना चाहिये। 04. हम दोनों कोच विगत पांच वर्षो से स्थानीय गांधी पार्क मैदान पर वापू फुटबाल आकादमी किसी भी प्रकार की सहायता ना होने से आर्थिक एवं अन्य सुविधाओं से वंचित होकर चला रहे है, हम दोनों कोच के पास 150 छात्र तथा 10 छात्राऐं है, जिन्हें हम दोनों ही फुटबाल प्रशिक्षण देते हैं जो कि प्रशिक्षण पूर्णतः निःशुल्क है। 05. इस फुटबाल खेल मैदान पर क्षेत्रीय विधायक एवं खेल मंत्री श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया जी एवं भाजपा के नगर मण्डल अध्यक्ष श्री भानू दुबे जी द्वारा विकसित कराने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान किया गया, जिस हेतु हम सभी उनके अत्यधिक आभारी हैं। 06. प्रत्येक फुटबाल खेल मैदान पर दो गोल पोस्ट तथा एक कोच होना अनिवार्य है। 07. जो फुटबाल खिलाडी स्टेट, नेशनल या यूनीवसिर्टी खेले हो उनकेा प्रशिक्षण देकर प्रशिक्षक बनाया जावे क्योंकि फुटबाल खिलाडी ही फीफा के नियम से खेलते हैं। कोच बनाने का कार्य सभी प्रदेश की प्रदेश सरकार को सौंपा जावे। 08. जब फुटबाल प्रशिक्षक अधिक होंगे तो वह शहर तथा ग्रामीण अंचल से बच्छे फुटबाल गैम की प्रतिभाऐं उभर कर सामने आयेंगी। 09. हर प्रदेश में जितने भी फुटबाल प्रशिक्षण केन्द्र, क्लब, आकादमी, इन सब का समय-समय पर सहयोग लिया जाये और समय-समय पर हर संभव सहयोग प्रदान किया जावे। 10. अपने देश की जनता का रूझान फुटबाल गैम के प्रति आकर्षित तभी होगा जब तहसील, संभाग, स्टेट, नेशनल लेबिल की प्रतियोगिताऐं अधिक होंगी। 11. मध्यप्रदेश शासन ने खेल नीति के अंतर्गत यह निर्णय लिया है कि प्रत्येक तहसील स्तर पर खेल मैदान विकसित किया जाये उस व्यवस्था में सर्वसुविधा युक्त फुटबाल मैदान बनाना अति अनिवार्य कर दिया जावे। 12. स्थानीय जिला स्तर पर अंर्तर माध्यमिक विद्यालयीन फुटबाल प्रतियोगिताओं का प्रतिवर्ष आयोजन अनिवार्य किया जावे। 13. जिन अशासकीय प्राथमिक, माध्यमिक, हाईस्कूल, हायर सेकेण्डरी, काॅलेज आदि में फुटबाल खेल मैदान विकसित करवाये जावें। 14. स्वामी विवेकानंद जी ने भी फुटबाल खेल खेलने हेतु युवाओं से आव्हान किया था। 15. जब छात्र-छात्राओं का ग्रीष्मकालीन अवकाश होता है तब शासन द्वारा हम दोनों कोचों को आदेशित किया जाता है तो हम ग्रीष्मकालीन फुटबाल खेल प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करते हैं। 16. हम दोनों फुटबाल कोच फुटबाल खेल की जो अंचल में गतिविधियां होती है वहां हम दोनों को ही बुलाया जाता है एवं हमारी सेवाऐं ली जाती है। 17. हम दोनों कोचों के द्वारा जिन बच्चों को प्रशिक्षण दिया गया है वह अच्छे खिलाड़ी होकर स्टेट, नेशनल एवं यूनीवर्सिटी खेले हैं। विशेष निवेदन:- 18. माननीय प्रधानमंत्री महोदय जी को हम अवगत कराना चाहते हैं कि हमारे यहां 150 बच्चे है और बच्चों की संख्या अधिक होने के कारण यह खेल मैदान कम पड़ता है। मुझे बच्चों की संख्या अधिक होने के कारण एक ओर खेल मैदान बनवाने की कृपा करें तथा कुछ खेल सुविधाऐं भी प्रदान की जावे 19. स्थानीय गांधी पार्क मैदान को विकसित करने हेतु शासन-प्रशासन द्वारा भी सहयोग प्रदान किया जाता है। 20. इस खेल मैदान पर हम दो कोच 1. अब्दुल रज्जाक खां एवं 2. मक्सूद खांन है किन्तु छात्र संख्या अधिक होने के कारण 50 वाई 75 मीटर का खेल मैदान काफी कम पड़ता है, इसलिए गांधी पार्क के नजदीक लगा हुआ एक अन्य खेल मैदान जो कि 60 वाई 90 मीटर का है जो फुटबाल खेल के लिये पर्याप्त है जिसमें 22 खिलाड़ी आराम से खेल सकते हैं। 21. मध्यप्रदेश शासन ने खेल नीति के अंतर्गत यह निर्णय लिया है कि प्रत्येक तहसील स्तर पर खेल मैदान विकसित किये जायें उस व्यवस्था में फुटबाल मैदान अति अनिवार्य रूप से विकसित करना होगा तभी फुटबाल के अच्छे खिलाडी उभर कर सामने आ सकते हैं। 22. स्थानीय जिला स्तर पर अंर्तर माध्यमिक विद्यालयीन फुटबाल प्रतियोगिताओं का प्रतिवर्ष आयोजन किया जावे। अतः सम्मानीय जी से आग्रह है कि हमारे उक्त विचारों पर आप अवश्य ही ध्यान देकर शिवपुरी जिले एवं नगर के फुटबाल खिलाडियों का उत्साहवर्द्धन करते हुये नवीन विकसित खेल मैदान फुटबाल हेतु बनवाये जाने की कृपा करेगें तथा अन्य सुविधाऐं भी प्रदान करने की कृपा करेगें, इस हेतु हम आपके तहेदिल से आभारी रहेगें। निवेदकगण अब्दुल रज्जाक खांन, फुटबाल खेल प्रशिक्षक, मो. 9179318175 मक्सूद खांन (कल्लू), फुटबाल खेल प्रशिक्षक वापू फुटबाल आकादमी, शक्तिपुरम काॅलोनी (खुड़ा), मस्जिद वाली सड़क, बार्ड नं. 02, शिवपुरी 473551 (म.प्र.)
34
1006872604-08-16श्री विधाराम0जनपद कोलारसषड्यंत्र पूर्वक राशि 3,87,000 रूपये हड़पने बाबत आवेदन पत्रऑनलाइन प्राप्त
35
100275351/25/2016 16:08:00रामनिवास जाटव8435447607जनपद खनियाधाना
श्री मान कलेक्टर महोदय डिस्ट. शिवपुरी म.प. विषय - सहायक सचिव को मूल पंचायत का चार्ज दिये जाने के सम्बन्ध मे महोदय- उपरोकत विषय मे निवेदन है की वर्तमान मे ग्राम पंचायत देवखो मे मनोहरसिंघ चौहान पदस्थ है जो ग्राम पंचायत देवखो पंचायत से अकश्मीक अवकाश लिये हुए है जिनका पंचायत से संबंधित कार्य गोलकोट पंचायत मे निरपाल सिंह चौहान को दिया गया है परन्तु देवखो इनकी मूल पंचायत है अतः श्री मान जी साशन के आदेशहानुसार सचिव की अनुपस्तिथि मे सम्बंदित ग्राम पंचायत का चार्ज सहयक सचिव को दिया जाना चाहिये था अतःश्री मान से निबेदन है की ग्राम पंचायत देवखो का कार्य भार सम्बंदित सहायक सचिव अथबा अन्य सचिव को दिलवाने की किरपा करें तो आपकी अति दया होगी प्रार्थी रामनिवास जाटव सहायक सचिव ग्राम पंचायत देवखो जनपद पंचायत खनियाधाना डिस्ट. शिवपुरी म.प.
ऑनलाइन प्राप्त
36
100454534/30/2016 15:02:00श्री सिद्धार्थ7771872083जनपद खनियाधाना
CSO-28APR-2016-शिकायत कर्ता के द्वारा बताया गया है की मध्यप्रदेश राज्य के जिला शिवपुरी की जनपद पंचायत खनियाधान अंतर्गत ग्राम पंचायत महुआ के ग्राम डावर में बड़े पैमाने पर आर्थिक अनियमितता एंव भ्रष्टाचार किये गए है अत; प्रार्थी की शिकायत की उच्च स्तरीय जांच कर ग्राम पंचायत के सचिव एंव रोजगार सहायक के विरुद्ध अमानत में खयानत का आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के आदेश जारी किये जाए .
मुख्य सचिव कार्यालय से प्राप्त
37
1001341910/27/2015 23:03:00
समस्त ग्राम वासी वेधारी
7828870666जनपद पोहरी
उपरोक्त विशय में निवेदन है की ग्राम पंचायत वेधारी के सचिव श्री उम्मेंद सिंह यादव है जो की पंचायत मुख्यालय पर आज दिनाक तक उपस्थित होकर कार्य नही किया जाता है अपना दरवार अपने घर शिवपुरी या पोहरी लगते है शासकीय योजना बंद पड़ी है जाटव समाज के लगो से घृणा की जाती है उनकी बात मान्य नही की जाती है कपिलधारा, मेड बंधन, पेंशन, कर्मकार आदि योजनाओ में कोई रूचि नही रखते है केवल राशि आहरण ब फर्जी व्यय के आलावा कोई रूचि नही रखते ग्राम के लोगो से कहते है की सीईओ मेरा सहपाठी है एव जिला पंचायत अध्यक्छ मेरा रिस्तेदार है में कभी पंचायत मुख्यालय पर उपस्थित नही रहूँगा मुझे मेरी पंचायत परिच्छा से मतलव है जहा की मेरी पत्नी सरपंच है तुम्हारी पंचायत चले या न चले कुटीरें क्रम से न देते हुए बीच में छोड़ कर दी गयी है जो की क्रम से नही है जिसकी जाँच वर्ष २०१० से २०१४ तक की जावे जिन लोगो ने पैसे दिए उन्हें कुटेरे सोप दी गयी हितग्राही परेसान है सचिव द्वारा खेत सड़क योजना की राशि ४ लाख रु की राशि निकाल ली गयी है जिसका कार्य मजदूरो से न कराकर मशीन से कराया है मजदूरो की राशि फर्जी मजदूरो द्वारा निकली है जिसमे सचिव दोषी है जव मनरेगा का कार्य मशीन द्वारा कराया गया है तो मजदूरो के माध्यम से राशि क्यों निकली गयी है जिसके स्थल फोटो में १०*१० के गद्दे नही है प्राथियो के पास मशीन चलते हुए फोटो है यदि सचिव की सही जाँच नही की गयी तो प्रथीयों को न्यायलय की सरन में जाने पर बाध्य होना पड़ेगा समस्त ग्रामवासी वेधारी जनपद पंचायत पोहरी जिला शिवपुरी (म.प्र)
ऑनलाइन प्राप्त
38
100329192/18/2016 17:02:00श्री अरविन्द8349331835जनपद पोहरी
शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया है की प्रार्थी द्वारा ग्राम पंचायत धौरिया में रोजगार सहायक के पद पर महेश धाकड़ पुत्र रामप्रसाद धाकड़ की नियुक्ति पर आपत्ति प्रस्तुत करते हुए स्थानीय स्तर पर आवेदन प्रस्तुत किये थे कार्यवाही न होने के वजह से प्रार्थी द्वारा पीजी.279112.2014 को एंव पीजी 2663392014 प्रेषित की थी लेकिन उन पर भी न्यायपूर्ण कार्यवाही नहीं की गयी है अत प्रार्थी की शिकायत की जांच कर अंतिम आदेश को प्रतीक्षारत न्यायालय श्रीमान कलेक्टर महोदय मंडल शिवपुरी के समक्ष दो वर्ष से लंबित प्रकरण क्र. 1314*89अ 23 में शीघ्र न्यायपूर्ण आदेश करवाया जाए .
मुख्य सचिव कार्यालय से प्राप्त
39
100356323/2/2016 19:50:00तुलाराम9669850392जनपद पोहरी
महोदय, उपरोक्त विषय में निवेदन है १- यह की प्रार्थी तुलाराम पुत्र नकटू जाटव के नाम वर्ष २०१४ में मंरेगा से पशुसेड की राशी स्वीकृत की गई थी, २- यह की विगत 15 मई 2015 को रोजगार सहायक देवेन्द्र राठोर द्वारा फर्जी तरीके से अपने चाचा एवं पिता को मजदूर बताकर 4800 रु की राशी का आहरण करा दिया गया जबकि उसके चाचा एवं पिता न तो मजदूरी करते है और नहीं वह कारीगर है . ३- यह की रोजगार सहायक द्वारा हितग्राही की बिना जानकारी के अपने पद का दुरुपयोग करते हुए 4800 रु की राशि का आहरण किया गया है जो की न्यायोचित नहीं है . यह की उक्त रोजगार सहायक द्वारा किये गए भुगतान की निस्पक्ष जाँच कराइ जाये तथा भ्रस्ट रोजगार सहायक के खिलाफ धरा 420 के तहत प्रकरण दर्ज कराया जाये एवं हितग्राही की पशुसेड का निर्माण पूर्ण कराय जाये .
ऑनलाइन प्राप्त
40
100384073/16/2016 17:26:00हरवंश9691019357जनपद पोहरी
प्रति श्री मान विषय . प्राथमिक विधायल्या शौंशा ग्राम पंचायत चकराना तह पोहरी से अभद्रवा ग्रामीणो मूल भूत सुविधाओ के माफिया शिक्षक मनोज शुक्ल से ग्रामीणो को बचाने वावत उपरोकत विषय में निवेदन है की ग्राम शौंशा पंचायत चकराना तह पोहरी जिला शिवपुरी में प्राथमिक विद्यालय शौंशा में मनोज शुक्ल शिक्षक के पद पर लगभग २० वर्षो से पदस्थ है जो की ग्रामीणो को ध्यान में न रखते हुए शा.मा .वि . शौंशा की स्तिथि इतनी बदतर कर रखी है की वर्षो से माह में एक बा दो बार मध्यानया भोजन बनबाते है .बा समूह की पासबुक खुद के पास रखी है ब समूह को अध्यक्ष वा सचिव ३ माह में एक बार पैसे निकालने पर २०० रुपये दिए जाते है . ओर मध्यान का पूरा गेंहू बाजार में बेच दिया जाता है . तथा शाला के रख रखाव के लिए शाशन द्वारा वर्ष में १०००० रुपये दिए जाते है .वो भी शिक्षक के द्वारा गोलमाल कर खुद के हिट में खर्च कर लिए जाते है .कई वर्षो से १०००० रुपये वार्षिक शाशन द्वारा दिए जाने के बाबजूद शाला में आज दिनांक न अलमारी है न पानी पिने के लिए जग वा गिलाश भी नहीं है .वी आर सी सी पोहरी द्वारा फोन पर शाला की पुताई कराने के निर्देश दिए गए थे लेकिन शिक्षक द्वारा आधे स्कूल की पुताई कर दबंगई दिखाते हुए शाला की स्तिथि को बदहाल बना रखा है अतः श्रीमान जी से निवेदन है की निम्न विन्दुओं की जांच कराकर इस शिक्षक अन्य किसी शाला पर भेज -भेज कर शाला की स्तिथि सुधार कराया जाये .
ऑनलाइन प्राप्त
41
100401863/27/2016 4:34:00हरिओम धाकड़जनपद पोहरी
जनपद पोहरी में रोजगार सहायकों की भर्ती सी ई ओ द्वारा फर्जी कागजो के आधार पर की गयी है और सही कागजो वाले आवेदकों को बहार कर दिया गया है , शासन का यह भी आदेश था की कागजो की जाँच कराई जब किन्तु सब की मिली भगत से फर्जी कागजो के लोग नौकरी कर योग्य आवेदकों की हसीं उड़ा रहे है , अतः सभी रोजगार सहायकों के सभी दस्तवेजों , कागजो की जाँच कराकर दोषी रोजगार सहायकों एवं भर्ती करने वालो को जेल भेजा जाबे,
ऑनलाइन प्राप्त
42
100405703/30/2016 13:36:00पवन सिंह पंवार9179374478जनपद पोहरी
उपरोक्‍त बिषयांतर्गत निवेदन है कि विकासखण्‍ड पोहरी की ग्राम पंचायत कृष्‍णगंज में ग्राम पंचायत सचिव श्री नन्‍दकिशोर गुप्‍ता को नियम के विरूद्ध पंचायत में पदस्‍थ किया गया है । जवकि नियमानुसार गृह पंचायत में सचिव को पदस्‍थ नहीं किया जा सकता है । चूंकी सचिव का बढा भाई भाजपा का बढा नेता होने के कारण अधिकारियों से सांठ गांठ कर नियम के विरूद्ध गृह पंचायत में कई वर्षो से वना हुआ है । एक वर्ष पूर्व सचिवों का स्‍थानांतरण होने पर इनका स्‍थानांतरण अन्‍य पंचायत में हुआ था किन्‍तु भाई के द्वारा अधिकारियों से सांठ गांठ कर मात्र दो माह में ही वापिस कृष्‍णगंज में स्‍थानांतरण करा लिया है । उक्‍त सचिव विगत 15-20 सालों से ग्राम पंचायत कृष्‍णगंज में ही पदस्‍थ है । ग्राम पंचायत सचिव द्वारा नवीन पंचायत के गठन से आज दिनांक तक न तो आय व्‍यय समिति एवं निगरानी समिति का गठन किया गया है । ग्राम पंचायत में न तो विगत दो माहों से ग्राम सभा का आयोजन किया गया है और सचिव द्वारा स्‍वयं ठहराव प्रस्‍ताव तैयार कर पंचो के फर्जी हस्‍ताक्षर कर प्रस्‍ताव पास किये जा रहे है । एवं ग्राम पंचायत के द्वारा प्रचलित कार्यो के वारे में पूछने पर गोल मोल जवाव देकर भगा दिया जाता है । मेरे द्वारा प्रचलित कार्याो के जानकारी मांगने एवं आवंटित व व्‍यय राशि को हिसाव मांगने पर सचिव द्वारा मुझसे साफ मना कर दिया गया कि में किसी प्रकार की जानकारी नहीं दूंगा पंचायत में कोई काम नहीं चल रहा है तुम्‍हें दिखे सो करों में मेरे हिसाव से पंचायत चलाऊंगा । जिससे पता चलता है कि सचिव द्वारा पंचायत में भारी भ्रष्‍टाचार किया जा रहा है । एवं प्रचलित कार्यो को अपने लाेगो के द्वारा कराकर उन्‍हें लाभ पंहुचाया जा रहा है । चूंकी सचिव का भाई नेता है इस कारण न तो सचिव का आज दिनांक तक स्‍थानांतरण्‍ा हुआ है एवं कई वार शिकायतें करने के उपरांत भी अधिकारियों से सांठगांठ होने के कारण उक्‍त सचिव पर कोई कार्यवाही नहीं हुई विगत कई वर्षो से एक ही जगह पदस्‍थ रहकर भारी भ्रष्‍टाचार पंचायत सचिव द्वारा किया जा रहा है । अत: श्रीमान से निवेदन है उक्‍त सचिव का अन्‍य पंचायत में स्‍थानांतरण किया जाये एवं सचिव से कार्यो में किये गये व्‍यय का हिसाव लिया जाये तथा किये गये भ्रष्‍टाचार एवं शासकीय राशि के गवन के लिये कठोर से कठोर दण्‍ड से दण्डित किया जाये। श्री पवन सिंह पंवार ( उप सरपंच) ग्राम पंचायत कृष्‍णगंज जनपद पंचायत पोहरी जिला शिवपुरी म0प्र0
ऑनलाइन प्राप्त
43
100271521/23/2016 13:28:00लक्ष्मण7389588500जनपद बदरवास
माननीय मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल विषय -ः ग्राम पंचायत बदरवास मे सरपंच के द्वारा निर्माण कार्याे मे अनिमित्ता करने वावत्। महोदय, उपरोक्त विषय मे शिकायत निम्न प्रकार है। 1. यह कि ग्राम पंचायत बदरवास मे सरंपच सचिव के द्वारा भारी भृष्टाचार एवं अनिमित्तयें निर्माण कार्य मे की जा रही है गढ़ी से खिरकन मोहल्ला की ओर जो खरजा निर्माण हुआ था 2008 मे स्वीकृत हुआ था और 2010 मे उसकी सी.सी.जारी हुई थी जिसकी अच्छी स्थिति होने के बाबजूद बिना अनुमति की उखाड़कर शासन की संपत्ति का दुरूपयोग किया जा रहा है। 2. यह कि जिस स्थान पर खरजा था उस स्थान पर सी.सी.कर दी गयी है जबकि उस कार्य का वर्क जनरेट एवं मस्टर भी नही निकाल गया । 3. यह कि जब सर्व इंजीनियर साहब को मौखिक तौर पर बताया गया तो उन्होने कहा की मैने अभी ले-आउट भी नही दिया है तो सी.सी. कैसे डल सकती है। लेकिन मौके पर नियम विरूद्ध बिना इंजीनियर को बताये सी.सी.डाल दी गयी है। 4. यह कि खंरजा के खण्डे शांति धाम निर्माण मे लगा दिये गये है। और अभी कुछ खण्डे मौके पर मौजूद है। अतः श्रीमान जी से निवेदन है की निष्पक्ष जांच कर दोषि सरपंच, सचिव के विरूद्ध उचित कार्यवाही करने की कृपा करे । दिनांक............... प्रार्थी लक्ष्मण आदिवासी ग्राम पंचायत बदरवास पर.पिछोर जिला शिवपुरी म.प्र. मो. 7389588500
उपरोक्त विषय मे शिकायत निम्न प्रकार है। 1.
44
1001503311/6/2015 13:16:00हँसमुखी9685466394जल संसाधन
विषय : वेवा हँसमुखी खंगार की जमीन अधिग्रहण कर मुआवजा राशि न देने बावत। महोदय, निवेदन है कि प्रार्थिया की कृषि भूमि ग्राम आमोल के सर्वे न. ८३६ के रकवा 0. २१ हेक्टेयर में से ०. १८ हेक्टेयर भूमि सिंचाई विभाग द्वारा सिंध परियोजना द्वितीय चरण उकायला नहर के तहत डी-4, एम-4 एस एम -१, एवं एस एम-२ नहर निर्माण हेतु अधिग्रहित की गई थी परन्तु मुझे आज दिनांक तक मुआवजा की राशि प्रदान नहीं की गई है। प्रार्थिया द्वारा कई बार सम्बंधित कार्यालय में आवेदन दिए जा लेकिन सुनवाई नहीं की जा रही है। लगभग थीं वर्ष पूर्व दिनांक २९-०६-२०१२ को मेरे आवेदन पर सिंचाई विभाग के अधिकारीयों को उक्त प्रकरण से सम्बन्ध में रिपोर्ट बना कर प्रकरण तैयार करने के लिए निर्देशित किया गया था लेकिन किसी भी अधिकारी द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। मेरे द्वारा विगत तीन वर्षों में कई कई बार आवेदन दिया जाकर (जिसका रिकार्ड मेरे पास उपलब्ध है) समक्ष में उपस्थित होकर भी विनती की जा चुकी है। SDM महोदय करैरा से संपर्क करने पर कहते हैं कि हमने सिचाई विभाग नरवर को निर्देशित किया है लेकिन वे प्रकरण नहीं बना रहे हैं तो हम क्या कर सकते हैं। सिचाई विभाग नरवर में संपर्क करने पर कोई जवाब नहीं दिया जाता है। अतः निवेदन है कि त्वरित व परिणाममूलक कार्यवाही करवाने एवं मुआवजा राशि दिलवाने की कृपा करें।
ऑनलाइन प्राप्त
45
1001367610/29/2015 14:30:00कमला9407246351जल संसाधन
प्रति मुख्य अभियंता राजघाट नहर परियोजना दतिया (म0प्र0) विषय:- आवेदिका के पति श्री ओमप्रकाष परिहार पद चैकीदार का स्वयं के व्यय पर स्थानांतरण पक्का
बांण संभाग मडीखेडा में करने के संबंण में। संदर्भ:- आपका पत्र क्र. 776/न्याय. दिनांक 25.02.2015 के संबंण में। महोदय, उपरोक्त विषय में संदर्भित पत्र के क्रम म
प्रर्थीया का बिन्दुवार आवेदन निम्नानुसार है- 1. प्रार्थीया का पति आपके आदेष के तहत बानसुजारा बांण जल संसाणन विभाग में जारी आदेष दिनांक से वर्तमान तक
रहकर अपनले कर्तत्य का पालन कर रहा है। 2. आपके आदेष में छठवें वेतन के मूल वेतन का निर्णारण कर प्रार्थीयों को पदस्थ किया है जबकि आदेष में मंहगाई भत्ते का
उललेख नहीं किया है। जिस कारण पति को वर्तमान में मात्र 6388/- रू0 भुगतान किये जा रहे है। प्रार्थीया का श्रीमान से निवेदन है कि भारतवर्ष अथवा किसी राज्य में
वेतनमान बर्गर मंहगाई भत्ते के रूप में स्वीकृत है। प्रार्थीया का परिवार क्या सूचकांक के आणार पर बाजार की महंगाई से बच सकता है। किस आणार पर महंगाई भत्ता
नहीं दिया जा रहा है। अवगत करना की कृपा करें। 3. चंूकि प्रार्थीया के पति को पूर्व में पांचवे वेतनमान के पालन में न्यायालय आदेष के सम्मान में महंगाई भत्ते का लाभ
पूर्ण रूप से प्राप्त होता रहा है। 4. आपके द्वारा छठवें वेतनमान का लाभ न देने पर प्रार्थीया के पति न्यायालय के ारण में जाना पड़ा जिसके फलस्वरूप सिंगल बैंच
ग्वालियरण् युगल पीठ ग्वालियर एवं उच्च न्यायालय दिल्ली द्वारा भी छठवें वेतनमान देने के दिषा निर्देष दिये जा चुके। इसके पष्चात भी उसका लाभ नहीं दिया जा रहा
है। अतः महंगाई भत्ता देने की स्वीकृति प्रदान करने की कृपा करें। 5. उक्त संदर्भित आदेष ओदष में 7 कर्मचारियों के स्थानांतरण किये गये थे। उक्त आदेष में से 2 तृतीय
श्रेणी कर्मचारियों के स्थानांतरण क्रमषः मुख्य अभियंता एवं प्रमुख अभियंता द्वारा किये जा चुके है। जिनका वर्तमान वेतन 9500 एवं 10,000 है। जबकि प्रार्थीया के
पति के साथी कर्मचारियों को वेतन मात्र 6388/- रू. है। वर्तमान पदस्थापना में कर्मचारी किराये का मकान लेकर अपने परिवार से 250 किमी. दूर रहकर अपने परिवार का
खर्चा उठाने में असमर्थ है। इस अनियमितता पर ाीर्घ उचित कार्यवाही की जावे। कर्मचारियों के स्थानांतरण पूर्व की पदस्थपना में की जावे अति कृपा होगी। अतः उक्त
बिन्दुओं के आणार पर आवेदिका के परिवार के साथ यदि कोई अप्रिय स्थिति निर्मित होती है। तो इसका उत्तर दायित्व ाासन का होगा। दिनांक: 28/10/2015 आवेदिका
कमला परिहार पति श्री ओमप्रकाष परिहार महड़ीखेड़ा काॅलोनी पोस्ट नरवर जिला षिवपुरी (म.प्र.) प्रतिलिपि:- 1. मुख्यमंत्री हेल्प लाइन की दौर प्रार्थनात एवं
आवष्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित। 2. प्रमुख अभियंता जल संसाणन विभाग तुलसीनगर भोपाल की ओर सूचनार्थ एवं आवष्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित। दिनांक:
28/10/2015 आवेदिका कमला परिहार पति श्री ओमप्रकाष परिहार महड़ीखेड़ा काॅलोनी पोस्ट नरवर जिला षिवपुरी (म.प्र.)
46
100368863/9/2016 14:42:00बुन्देल सिंह7747872978जल संसाधन
उपरोक्त विषय मई निवेदन ह क प्राथी ओर समस्त ग्राम वासी ग्राम खिरया पिपरा नयागाओं माइनर क निर्वाचित सदस्य सिरनाम सिंह खुशीलाल बुन्देल सिंह यादव की ओर से प्रस्तुत है १- यह की स्तिथि इस प्रकार ह की कंचनपुर माईनर का निर्वाचित अड्याच मजबूत सिंह यादव निवासी खिसलोनी ह शाशन द्वारा कंचनपुर माइनर से खेत तक जाने वाले बारहो का निर्माण अड्याच के मद्धम से करने हेतु अदयकह के बैंक खाते मई राशि दे गयी ह जिससे से नए बारह बनाना प्रस्तावित है अड्याच द्वारा जो पूर्व मई खांडा पत्थर के बने हुए थे उनके खांडा उखड कर अपने घर पर रख लिए ओर कुछ निजी माकन के उपयोग मैं लगअ लिये शेस घर पर रखे हुए ह उन्ही खंडो पर बरहा पर नये सीमेंट ओर गिट्टी के बरहा का निर्माण किया गया है जिसमे सीमेंट ओर गिट्टी न डालकर मिटटी के बारह का निर्माण किया गया है जो निर्माण के एक माह के अंदर खुर्द बुर्द हो गये है जिसमे से पानी नहीं निकल पा रहा है जो बारह कंचनपुर माइनर से पिपरा सादा पर बनाया गया ह एवं कंचनपुर माइनर से खिरिया सादा के चार बरहा बनाये गए थे जो भी नष्ट हो गये है ई इनके आलावा जो भी बरहा बनाये गए वो भी नष्ट हो गये है एवं अड्याच द्वारा राशि का लगभग ६०-७० लाख रूपए राशि का आहरण भी किया जा चूका है जो आहरण संभावित फर्जी मूल्याङ्कन से निकला गये है ओर सम्पूणे राशि अड्याच इंजीनियर एवं अन्य कर्मचारियों ने खुर्द बुर्द कर दी गयी है जिसकी शिकायत माननिये मुख्यमंत्री, जिला शिवपुरी कलेक्टर एवं प्रमुख अभियंता महोदय दतिया को दिनाक १२-२-२०१६ को फेक्स कर जानकारी दे दी थी तब भी कोई कार्यवाही नहीं हुई जांच टीम सदयस सिरनाम सिंह, प्रकाश लोधी खुशीलाल लोधी
ऑनलाइन प्राप्त
47
1007468829-08-16
रामचरण माझी और समस्त माझी समाज
0जल संसाधनतालाब में सीमा से अधिक पानी रोकने से फसल बर्बाद होने के संदरभ मेंऑनलाइन प्राप्त
48
1001990812/11/2015 0:02:00प्रह्लाद singh9993480444जिला पंचायत
श्री यादवेन्द्र सिंह भदौरिया की भर्स्ट कार्य शैली मनमाना पण एवं शाशन की योजनाओं को पलीता लगाने का रवैया एवं अपने राजनैतिक प्रभाब आदि दोसो के सिद्ध होने पर तत्कालीन सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकाश विभाग श्री बसींम अख्तर द्वारा यह आदेश जारी किया गया की श्री यादवेन्द्र सिंह भदौरिया को महत्बपूर्ण पद पर न रखा जाये ग्राम पंचायत वंदा जनपद पंचायत खनियाधाना मैं सी सी रोड बेहद घटिया क्वालिटी की डाली गयी जो की अपूर्ण है उसकी सी सी जारी कर दी गयी जिसकी जाँच परियोजना अधिकारी मनरेगा श्री सुरेन्द्र शरसं अर्ध्वर्यु एवं कार्यपालन यंत्री आर ई एस शिवपुरी द्वारा की गयी जाँच मैं दोसी पाये जाने पैर भी इन जाँच अधिकारीयों ने पैसा लेकर कोई इस्पस्ट रिपोर्ट नहीं दी जिससे इन के होंसले और भी बुलंद हो गए अतः श्री मन से निवेदन है की उक्त सी सी रोड की जाँच कराकर श्री यादवेन्द्र भदौरिया सहायक यंत्री एवं भर्स्ट जाँच अधिकारीयों के निलंबन की कार्य बही की जाये
ऑनलाइन प्राप्त
49
100410994/1/2016 12:12:00नन्द कुमार9406585001जिला पंचायत
प्रति, माननीय मुख्य मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, भोपाल. विषय:- प्रार्थी के भवन की रजिस्ट्री में प्रार्थी की किसी भी प्रकार की कोई गल्ति न होते हुये रजिस्ट्रार महोदय की मांग की पूर्ति न कर सकने के कारण रजिस्ट्रार महोदय द्वारा अवैधानिक एवं मनगढंत आधार पर लगाई गई जुर्माना राशि समाप्त कर अन्य रजिस्ट्रीकता की भांति मूल मुद्रांक जमा कर करने बावत्। एवं इस संबंध में रजिस्ट्रार महोदय द्वारा सेवाशुल्क की मांग करने बावत्। मा0 महोदय, सेवा में, उपरोक्त विषयांतर्गत अत्यंत विनम्रता पूर्वक निवेदन है कि:- 01. यह कि, प्रार्थी का भवन एल.आई.जी. प्रथम-28, आर.के. पुरम काॅलोनी में है जो कि हाऊसिंग बोर्ड की काॅलोनी है, जिसकी रजिस्ट्री बोर्ड ने दिनांक 31.07.2015 को सब रजिस्ट्रार कार्यालय में प्रस्तुत की थी उस समय स्टाम्प नहीं मिल रहे थे, जिससे सब रजिस्ट्रार महोदय ने रजिस्ट्री एम.बी. करके जिला पंजीयक को भेज दी। 02. यह कि, मैनें स्वयं जाकर रजिस्ट्रार महोदय से संपर्क किया तो उन्होनें मुझे पत्र दिया उसमें मुझे 30.10.2015 को दोपहर 11ः00 बजे उपस्थित होने के लिये आदेशित किया गया, मैं नियत तिथि को उपस्थित हुआ तथा प्रार्थी ने निवेदन किया कि मुझे शेष कितने रूपये का चालान बनवाना है तब जिला पंजीयक महोदय ने कहा कि आप पर 10 प्रतिशत का जुर्माना किया जाता है जिसकी राशि 1,10,000.- होती है, तब प्रार्थी ने पुनः निवेदन है कि मुझ किस अपराध के तहत ये सजा दी जा रही है जबकि आपके द्वारा ही हाउसिंग बोर्ड काॅलोनी की एक अन्य रजिस्ट्री सूरज प्रकाश भसीन की बिना पैनेल्टी के की गई है जिसकी छायाप्रति भी मेरे पास है फिर मुझ प्रार्थी के साथ ये अन्याय क्यों? इस पर रजिस्ट्रार महोदय द्वारा कहा गया कि तुम हमारी सेवा-पानी कर दो तो हम तुम्हारे कहे अनुसार रजिस्ट्री कर देगें। यह कि, प्रार्थी पर अवैधानिक एवं मनगढंत आधारों पर लगाया गया जुर्माना की राशि बिना सेवा शुल्क के रजिस्ट्रार महोदय कम करने को तैयार नहीं है एवं ना ही प्रार्थी की रजिस्ट्री ही कर रहे है। यह कि, रजिस्ट्रार महोदय द्वारा अपने पत्र क्र. 598 दिनांक 07.11.2015 जारी कर लेख किया गया है कि जर्माना जमा न करने की स्थिति में आपके भवन की कुर्की की जावेगी। तब प्रार्थी द्वारा रजिस्ट्रार महोदय से संपर्क कर मोखिक निवेदन किया गया कि कुर्की उस स्थिति में की जाती है जब सरकारी पैसा जमा न किया जावे जबकि प्रार्थी पैसा जमा करने हेतु निरंतर कार्यालय के चक्कर लगा रहा है, ऐसे में फिर कुर्की कैसे कर सकते है। रजिस्ट्रार महोदय के इस कृत्य से प्रार्थी एवं परिवार को काफी मानसिक आघात पहुंचा है। अतः माननीय जी से निवेदन है कि प्रार्थी पर गलत रूप से लगाया गया जुर्माना राशि समाप्त करते हुये प्रार्थी से मूल मुद्रांक राशि जमा कराने के स्पष्ट आदेश संबंधित को देने की कृपा करें जो कि रजिस्ट्रार महोदय द्वारा एक अन्य रजिस्ट्री सूरजप्रकाश भसीन की रजिस्ट्री मूल मुद्रांक जमा कर की गई है एवं उक्त रजिस्ट्रार पर सेवा शुल्क मांगने एवं प्रार्थी व परिवार को अकारण गलत रूप से आर्थिक लाभ प्राप्त करने के उद्देश्य से परेशान करने पर रजिस्ट्रार महोदय पर उचित वैधानिक कार्यवाही करने की कृपा करें तो अति कृपा होगी। ।। विशेष निवेदन ।। मैं माननीय जी का ध्यान इस ओर आकृष्ट करना चाहता हूॅ जो कि जांच का विषय है एवं रजिस्ट्रार शिवपुरी की भृष्टाचारी को भी उजागर करता है कि - प्रार्थी के भवन की कीमत 3.84 लाख रूपये है उसमें जुर्माना 5000.- रूपये अधिरोपित किया गया है जबकि सूरज भसीन के मकान की कीमत 6,85,500.- रूपये है उ पर कमी मुद्रांक शुल्क मात्र 1000.- रूपये अधिरोपित करना इनकी भृष्टाचारी का जीवंत उदाहरण है इसी प्रकार इनके द्वारा द्वितीय पत्र में कमी मुद्रांक 275.- मात्र उसमें जुर्माना 1375.- रूपये अधिरोपित किया गया है जबकि दूसरे पत्र में आपेक्षित कमी मुद्रांक शुल्क 1538.- रूपये है इसमें जुर्माना मात्र 500.- रूपये है। ऐसे में यह विसंगति मुझ प्रार्थी के साथ ही क्यों? नोट:- कृपया उक्त प्रकरण की जांच मुझ प्रार्थी के समक्ष ही किये जाने के स्पष्ट आदेश संबंधित को देने की कृपा करें, पक्त जांच प्रार्थी अन्य साक्ष्य प्रस्तुत कर देगा। प्रार्थी, नन्दकुमार शर्मा, एडव्होकेट पुत्र श्री प्रेमनारायण शर्मा निवासी रामकृष्णपुरम, शिवपुरी, म.प्र. मोबा. 09406585001
50
100718728/16/2016 16:35:00अवधेश पाठक9425748485जिला पंचायत
प्रति माननीय मुख्य मंृी महोदय म0प्र0 शासन भोपाल बिषय ७० में स्व तं दिवस पर सी ई ओ जनपद पंचायत खनियॉधाना द्वारा सत्ताघ पक्ष के जन प्रतिनिधियों के अपमान संबधित माननीय उपरोक्त संदर्भ में निवेदन है कि सदा से स्वयतंृता दिवस अथवा गणतंदिवस पर सत्ताा पक्ष के जन प्रतिनिधियों को कार्यक्रम के मंच पर प्रथम पंक्ति में स्था न दिया जाता रहा हैा इसके विपरीत ब्लॉपक अघ्यसक्ष नगर पालिका अघ्यचक्ष, विधायक प्रतिनिधि,जनपद सदस्यों को आगे की पं क्ति में बिठाला गया व्यिवस्थाय की जिम्मेपवारी सी ई ओ जनपद पंचायत खनियॉधाना की थी इनके द्वारा जान बूझकर हम सबके पद अभिमानना की गई हैा मण्ड ल अघ्यॉक्ष बी जे पी शासकीय अत्यों्दय समिति अघ्यपक्ष आदि को पिछली पंक्ति में बिठाया गया मैं अत्यों्दय अघ्ययक्ष अवधेश पाठक माननीय सी एम महोदय का संदेश वाचन तक बैठा रहा उसके उपरांत चुपचाप उठकर के बाहर आ गया मैंने वहॉ पर चर्चा इसलिए नहीं की मंच के कार्यक्रम में व्यचवधान पैदा होगा अस्तु खनियॉधाना मण्डमल की ओर से मण्डतल अघ्यकक्ष अथवा मेरी ओर से यह निवेदन है ऐसा कदाचित आचरण के लिए सी ई ओ जनपद पंचायत खनियॉधाना जिम्मेयवार हैा शासन द्वारा प्रशासन पर कसावट की बात माननीय के द्वारा की जा रही है हलात वर्तमान में मौजूद है सी ई ओ जनपद पंचायत खनियॉधाना के खिलाफ हम सब खनियॉधाना मण्ड ल बी जे पी पार्टी के कार्यकर्ता माननीय से आग्रह करते है सी ई ओ जनपद पंचायत खनियॉधाना के खिलाफ अवैधानिक कार्यवाही अत्यतन्त आवश्यगक हैा भवदीय खनियॉधाना मण्डील अघ्ययक्ष डॉ भानू चौधरी एवं सभी सदस्यागण अत्योंरदय समिति खनियॉधाना अघ्य्क्ष महाराज अवधेश पाठक खनियॉधाना जिला शिवपुरी म0 प्र0
ऑनलाइन प्राप्त
51
1007564101-09-16महेश आ‍दिवासी0तहसीलदार कोलारसअतिवृष्टि से मकान में पानी भर जाने पर आरबीसी 6-4 के अन्तर्गत सहायता दिलाये जाने बाबत .ऑनलाइन प्राप्त
52
100266221/18/2016 21:13:00हरिराम रामकिशनतहसीलदार खनियाधाना
आवेदक- हरीराम, रामकिशन लोणी पुत्र बैजू लोणी निवासी ग्राम खिरकिट तहसील खनियांणाना (म.प्र.).........आवेदक गण
53
100272891/23/2016 21:43:00
कालूराम सैन पुत्र रामप्रसाद सैन
तहसीलदार खनियाधाना
श्रीमान जी से निवेदन है के मेरा नाम गरीबी रेखा के सूचि मैं जोड़ने की कृपा करें मैं बहुत ही गरीब हूँ मेरा कोई नही है मैंने कई बार लोक सेवा केंद्र पर आवेदन किया लेकिन हरबार मेरा आवेदन निरस्त कर दिया जाता है कृपया सही जाँच करवाकर न्याय दिलाने की कृपा करें मेरा कोई भी नहीं है मेरी उम्र ५० साल की है मेरी माँ मेरे साथ रहती है मेरा ना तो मकान है न ही जमीन है मैं लोगों की मजदूरी करकर अपना एवं अपनी माँ का पालन पोसन कर रहा हूँ कृपया मेरा नाम बी पी एल की सूचि मैं जोड़ने की कृपया करें
ऑनलाइन प्राप्त
54
100317612/13/2016 16:07:00अमित jain9826125145तहसीलदार खनियाधाना
मेरे दवारा सूचना अधिकार के तहत तहसीलदार खनियाधाना को आवेदन पेश किया गया था दिनाक १८-०१ -२०१६ को कार्यालय में दिया गया था जो नहीं लिया जा रहा है ना ही पावती दी जा रही है.
ऑनलाइन प्राप्त
55
100317672/13/2016 16:29:00पद्म जैन9977001767तहसीलदार खनियाधाना
मेरी जमीन जो ग्राम पोथ्याई पटवारी हल्का नो २७ खसरा नो ५९४ रकबा 60*60 तहसील खनियाधाना जिला शिवपुरी में है.दिसम्बर २०१५ के खसरा बी-१ नक्शा में मेरा नाम नहीं है जो की तसीलदार जगदीश प्रसाद गुप्ता दवरा पूर्व में चीफ मिनिस्टर हेल्प लाइन में की गई शिकयतो के कारन मेरा नाम काट दिया गया है. अतः महोदय जी से निवेदन है की मेरा नाम २०१४-१५ खसरा बी-१ में मेरा नाम पुनः जोड़ा जाये.
ऑनलाइन प्राप्त
56
100384173/16/2016 19:17:00विशाल सिंह9752565995तहसीलदार खनियाधाना
श्री मान मुख्यमंत्री महोदय जी निवेदन है कि ग्राम विजरावन के उकत सर्वे न- २६१, २६४, २६५ की नक़ल निकालने में श्रीमती गुड्डीबाई सेन ८ दिन से परेशान हो रही हैं लेकिन श्रीमान नायब तहसीलदार साहब कम्प्यूटर से अनुमोदन नहीं करा रहे हैं अतः आपसे निवेदन है कि अनुमोदन कि हुई नक़ल निकलबाने कि कृपा करें
ऑनलाइन प्राप्त
57
100404453/29/2016 18:08:00अशोक सिंह8085612699तहसीलदार खनियाधाना
श्रीमान मुख्य मंत्री महोदय मध्य प्रदेश शासन भोपाल विषय - प्रार्थी के प्रकरण पर रिस्वत मॉगने और प्रकरण रोकने पर श्रीमान जी को आवेदन महाेदय, सेवा में सविनय नम्र निवेदन है कि प्रार्थी अशोक सिंह यादव पुत्र रूपसिंह यादव निवासी ग्राम देवरी तह खनियाधाना का मूल निवासी है प्रार्थी ने अपनी पत्नि कमलेश यादव के नाम से मुख्य मंत्री ग्रामीण आवास योजना हेतु आवेदन भरा था जो कि कुछ त्रुटियो की वजह से वापिस आ गया श्रीमान प्रार्थी ने उन त्रुटियो का सुधार तहसीलदार एवं पटवारी द्वारा मौके पर ही सुधार करा दिया था और हमने हमारे जनपद खनियाधाना में ए,डी,ओ, सूर्यकांन्त मिश्रा को कागज दे दिये अव वह अपने आप से कागजो को ऑगे वडाने के लिये 5000 रू मॉग रहे है जो कि मेरे पास नही है और उन्‍होने इस वात को कहते हुऐ कहा कि जवतक 5000 रू नही देते तवतक फिल्ड ऑफिसर भी कार्य नही करेंगा अतैव श्रीमान जी से विनम्र अनुरोध है कि प्रार्थी एक गरीव क़षक है जो कि जैसे तैसे अपने वच्‍चो का पेट भर रहा है श्रीमान जी से प्रार्थना है कि प्रार्थी की रूकी हुई फाईल मुख्य मंत्री ग्रामीण आवास योजना को नियत स्‍थान पर पहुचाये और पूरे मामले कि नस्‍पक्ष कार्रावाही कर प्रार्थी को न्‍याय दिलवाने का कष्ठ करें तो श्रीमान जी की अति क़पा होगी और प्रार्थी श्रीमान जी का जीवन भर आभारी रहेगा
महाेदय, सेवा में सविनय नम्र निवेदन है कि प्रार्थी अशोक सिंह यादव पुत्र रूपसिंह यादव निवासी ग्राम देवरी तह खनियाधाना का मूल निवासी है प्रार्थी ने अपनी पत्नि कमलेश यादव के नाम से मुख्य मंत्री ग्रामीण आवास योजना हेतु आवेदन भरा था जो कि कुछ त्रुटियो की वजह से वापिस आ गया श्रीमान प्रार्थी ने उन त्रुटियो का सुधार तहसीलदार एवं पटवारी द्वारा मौके पर ही सुधार करा दिया था और हमने हमारे जनपद खनियाधाना में ए,डी,ओ, सूर्यकांन्त मिश्रा को कागज दे दिये अव वह अपने आप से कागजो को ऑगे वडाने के लिये 5000 रू मॉग रहे है जो कि मेरे पास नही है और उन्‍होने इस वात को कहते हुऐ कहा कि जवतक 5000 रू नही देते तवतक फिल्ड ऑफिसर भी कार्य नही करेंगा अतैव श्रीमान जी से विनम्र अनुरोध है कि प्रार्थी एक गरीव क़षक है जो कि जैसे तैसे अपने वच्‍चो का पेट भर रहा है श्रीमान जी से प्रार्थना है कि प्रार्थी की रूकी हुई फाईल मुख्य मंत्री ग्रामीण आवास योजना को नियत स्‍थान पर पहुचाये और पूरे मामले कि नस्‍पक्ष कार्रावाही कर प्रार्थी को न्‍याय दिलवाने का कष्ठ करें तो श्रीमान जी की अति क़पा होगी और प्रार्थी श्रीमान जी का जीवन भर आभारी रहेगा
58
100689248/4/2016 18:14:00Vivek Singh7405060680तहसीलदार खनियाधाना
कृतिदेव यहां प्रति, माननीय मुख्य मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, भोपाल. विषय:- तहसील कार्यालय खनियाधाना में बाबूओं द्वारा हो रहे भृष्टाचार को रोकने एवं शासन नीति अनुसार तीन वर्ष से अधिक समय से जमे हुये बाबूओं को अविलम्ब स्थानान्तरण करने बावत्। मा0 महोदय, सेवा में, निवेदन है कि जबसे खनियाधाना तहसील कार्यालय में योगेन्द्र बाबू तहसील कार्यालय में पदस्थ हुये है तब से ही खनियाधाना तहसील में भृष्टाचार चरम पर है। इस कार्यालय के अधिकांशतः बाबू तीन वर्षो से भी अधिक समय से जमे हुये है इनके द्वारा शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन में एवं आमजन के रोजमर्रा के छोटे-मोटे कार्या हेतु रूपयों की मांग की जाती है एवं पूर्ति ना करने पर उन्हें तहसील कार्यालय के चक्कर लगाने पर मजबूर किया जाता है। योगेन्द्र जैन सहायक ग्रेड-3 द्वारा आबादी भूखण्ड के पट्टों एवं बी.पी.एल. कार्ड बनवाने हेतु 5 से 10 हजार रूपये लेकर अपात्रों को भी पात्र कर धांधली की जा रही है। अजय सविता सहायक ग्रेड-3 द्वारा नकल निकालने के नाम पर 100 से 1000 रूपये प्रत्येक कृषक से वसूले जा रहे है एवं 10 से 25 हजार रूपये में रिकार्ड में हेराफेरी कर दी जाती है एवं 151 की जमानत में 2 से 5 ह जार रूपये वसूले जाते हैं। ई-गर्वनेंस सहायक मैनेजर राजवीर यादव द्वारा कम्प्यूटर में नामांतरण एवं नाम फीड करने हेतु पांच सौ से दो हजार रूपये तक वसूले जाते हैं। अमित जैन सहायक ग्रेड-3 द्वारा व्यापारियों से एवं छोटे मोटे काम-धन्धे वालों से तहसीलदार के नाम पर अवैध वसूली कर छात्र छात्राओं को फर्जी डिग्रीया बांटी जाती है। सुरेश विश्वकर्मा डाटा एन्ट्री आपरेटर द्वारा जाति प्रमाण पत्र, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र हेतु आमजन को अनावश्यक परेशान कर कागजों की पूर्ति के नाम पर 500 से 1000 रूपये वसूले जाते हैं। अतः माननीय जी से निवेदन है कि तहसील कार्यालय में वर्षो से पदस्थ ऐसे भृष्ट बाबूओं के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही कर इनका अविलम्ब अन्यंत्र स्थानान्तरण करने की कृपा करें ताकि भृष्टाचार पर रोक लग सके। प्रार्थी, विवेक सिंह यादव ग्राम सिमलार, हिलोराखेड़ी, तह. खनियाधाना, जिला शिवपुरी, म.प्र. मोबा. 7405060680
59
100689298/4/2016 18:24:00विवेक सिंह7405060680तहसीलदार खनियाधाना
प्रति, माननीय मुख्य मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, भोपाल. विषय:- नायब तहसीलदार योगेन्द्र बाबू शुक्ल द्वारा तहसील कार्यालय में हो रहे भृष्टाचार के विरूद्ध कार्यवाही करने एवं अन्यंत्र स्थानान्तरण हेतु आवेदन पत्र। मा0 महोदय, सेवा में, निवेदन है कि जबसे खनियाधाना तहसील कार्यालय में योगेन्द्र बाबू तहसील कार्यालय में पदस्थ हुये है तब से ही खनियाधाना तहसील में भृष्टाचार चरम पर है। इनके द्वारा हजारों की संख्या में पांच से दस हजार रूपये प्राप्त कर भ्थूखण्ड आबादी पट्टे एवं बी.पी.एल. एवं हजारों प्लाट के नामांतरण एवं फर्जी वसीयतनामा कर लाखों करोड़ों रूपयों का राजस्व का चूना लगाया गया इनके कार्यालय के अधिकांशतः बाबू तीन वर्षो से भी अधिक समय से जमे हुये है इनके द्वारा शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन में एवं आमजन के रोजमर्रा के छोटे-मोटे कार्या हेतु रूपयों की मांग की जाती है एवं पूर्ति ना करने पर उन्हें तहसील कार्यालय के चक्कर लगाने पर मजबूर किया जाता है। योगेन्द्र जैन सहायक ग्रेड-3 द्वारा आबादी भूखण्ड के पट्टों एवं बी.पी.एल. कार्ड बनवाने हेतु 5 से 10 हजार रूपये लेकर अपात्रों को भी पात्र कर धांधली की जा रही है। अजय सविता सहायक ग्रेड-3 द्वारा नकल निकालने के नाम पर 100 से 1000 रूपये प्रत्येक कृषक से वसूले जा रहे है एवं 10 से 25 हजार रूपये में रिकार्ड में हेराफेरी कर दी जाती है एवं 151 की जमानत में 2 से 5 ह जार रूपये वसूले जाते हैं। ई-गर्वनेंस सहायक मैनेजर राजवीर यादव द्वारा कम्प्यूटर में नामांतरण एवं नाम फीड करने हेतु पांच सौ से दो हजार रूपये तक वसूले जाते हैं। अमित जैन सहायक ग्रेड-3 द्वारा व्यापारियों से एवं छोटे मोटे काम-धन्धे वालों से तहसीलदार के नाम पर अवैध वसूली कर छात्र छात्राओं को फर्जी डिग्रीया बांटी जाती है। सुरेश विश्वकर्मा डाटा एन्ट्री आपरेटर द्वारा जाति प्रमाण पत्र, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र हेतु आमजन को अनावश्यक परेशान कर कागजों की पूर्ति के नाम पर 500 से 1000 रूपये वसूले जाते हैं। अतः माननीय जी से निवेदन है कि नायब तहसीलदार योगेन्द्र बाबू शुक्ल एवं तहसील कार्यालय में वर्षो से पदस्थ ऐसे भृष्ट बाबूओं के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही कर इनका अविलम्ब अन्यंत्र स्थानान्तरण करने की कृपा करें ताकि भृष्टाचार पर रोक लग सके। प्रार्थी, विवेक सिंह यादव ग्राम सिमलार, हिलोराखेड़ी, तह. खनियाधाना, जिला शिवपुरी, म.प्र. मोबा. 7405060680
60
100618947/6/2016 10:26:00
भूरा, विशाल, हरपाल, आवर समस्त ग्राम वाशी
9981850474तहसीलदार खनियाधानाग्राम झलकुि बीत से अतिक्रमण हटवाने बाबतऑनलाइन प्राप्त
61
1008028919-09-16अल्लूषाह0तहसीलदार नरवरअवैध रूप से शासकीय कब्रस्तान भूमि पर पर जाने आने का रास्ता बंद करने बाबत्।ऑनलाइन प्राप्त
62
100716548/16/2016 10:45:00श्री भैयालालतहसीलदार पिछोर
584-RAS-PT-1-2016 यह कि आवेदक की खेती की जमीन ग्राम पंचायत पढरा द्वारा सडक डालकर कृषि भूमि पर जबरन कब्जा कर लिये है जिसके आवेदन द्वारा सिविल वाद दायर करके अब सिविल जज पिछोर ने बाद डिक्री किया पिछोर से डिक्री होने के बाद पंचायत द्वारा प्रथम सिविल अपील ए.डी .जे पिछोर पेश की जो निरस्त की गई पंचायत द्वारा द्वितीय अपील उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर मे की जो निरस्त की जा चुकी है इसकी जांच कर कार्यवाही की जाए
राज्यपाल कार्यालय से प्राप्त
63
1008373729-09-16श्री रमेश कुमार0तहसीलदार पिछोरअर्थदण्ड एंव अन्य कार्यवाही को रोकने व उक्त नोटिस को निरस्त किए जाने बावत !ऑनलाइन प्राप्त
64
100412394/1/2016 16:22:00पुष्पा9755188862तहसीलदार पोहरी
प्रार्थिया के पति एवं एक मात्र पुत्र की मृत्यु हो चुकी है .प्रार्थिया के स्वामित्व की भूमि सर्वे न. ५६०, ५५७, ५५०, ५६९, ५६८, 556 ग्राम तिमनी तहसील पोहरी जिला शिवपुरी में स्थित है जिस पर विक्रम सिंह पुत्र भूपत सिंह यादव निवास लोहदेवी ने अवैध कब्ज़ा कर रखा है. प्रार्थिया ने पटवारी से निवेदन किये, तहसील में और जनसुनवाई में आवेदन दिए लेकिन न तो अवैध कब्ज़ा हटवाया गया है न ही सीमांकन किया गया है न ही भू अधिकार एवं ऋण पुस्तिका बनाई गई है. स्वयं की भूमि होते हुए भी प्रार्थिया को जीविकोपार्जन करना मुश्किल हो रहा है . अतः मेरी भूमि से विक्रम सिंह पुत्र भूपत सिंह यादव निवास लोहदेवी का बेदखल करवाए जाने एवं मेर भूमि का सीमांकन करवाने एवं भू अधिकार एवं ऋण पुस्तिका बनवाने की कृपा की जावे
ऑनलाइन प्राप्त
65
1008151422-09-16श्री केदारीलाल0तहसीलदार बैराडसब्जी मंडी वालो को जगह दिलवाने के सम्बन्ध में !ऑनलाइन प्राप्त
66
100084019/26/2015 12:10:00रामरूप9407563003नगरपालिका
मैं नल कनेक्शन लेना चाहता हूँ जिसके लिए मैं पानी की टंकी कोर्ट रोड शिवपुरी ऑफिस में कनेक्शन लेने गया था मैं अपने साथ राशन कार्ड वोटर कार्ड आधार कार्ड आदि डॉक्यूमेंट साथ ले गया था लेकिन ऑफिस बालो ने रजिस्ट्री या पट्टा लाने को कहा चुकी मेरा मकान अतिक्रमण में आता हे इस कारण मेरे पास रजिस्ट्री या पट्टा नहीं हे इस कारण से मुझे नल कनेक्शन देने से मना कर दिया कृपया मुझे नल कनेक्शन दिलाया जावे तो श्रीमान जी की अति कृपा होगी
ऑनलाइन प्राप्त
67
1001602611/16/2015 20:39:00mayank9999167735नगरपालिका
A Person Ravindra gupta resident of sri ram colony is creating encroachment in sri ram colony shivpuri near nalla between gautam vihar and sri ram colony.he has created heap of boulders .he has obstructed the all way for public and creating nuisance .all residents of ward are getting problems .please remove the encroachment as early as possible. this complaint is also being uploaded on cm helpline.
ऑनलाइन प्राप्त
68
100394003/22/2016 14:09:00ज्ञान प्रकाश9425489266नगरपालिका
निवेदन है कि शिवपुरी शहर में माननीय न्‍यायालय के आदेश के पश्‍चात नगर पालिका शिवपुरी एवं जिला प्रशासन के सहयोग से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जा रही है। जिसका मै स्‍वागत करता हूॅ। साथ ही यह शिकायत दर्ज कराता हूॅ कि नगर पालिका द्वारा अतिक्रमण के जो नोटिस जारी किये है। उसमें भेदभाव की नीति अपनाई गयी है उनके द्वारा नगर पालिका शिवपुरी के कमर्चारियों को नोटिस नही दिया गया है। जिसके द्वारा नगर पालिका की बैश कीमति ज‍मीन पर अतिक्रमण कर पक्‍के मकान व दुकान निर्मीत कराई गई है। उनके नाम इस प्रकार है- १- मदनलाल शर्मा के द्वारा विधामंिदर स्‍कूल के पीछे नगरपालिका क्‍वाटर्र के पीछे नगर पालिका भूमि पर अतिक्रमण कर पक्‍का मकान बनाया गया है। २- गुप्‍ता द्वारा विधा मंदिर के पास अन्‍दर गली में लकडी की टाल के पास पक्‍का निर्माण एवं भूमि पर लकडी की टाल नगर पालिका भूमि पर कब्‍जा कर के चलाई जा रही है। अत: इन्‍हे भी नोटिस देकर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जावे।
ऑनलाइन प्राप्त
69
1007373425-08-16श्री सुरेश चन्द्र0नगरपालिका
ए,बी,रोड से फतेहपुर टोंगरा रोड के मकानों को टूटने से बचाकर रोड निर्माण बिना किसी क्षति के कराए जाने बावत !
ऑनलाइन प्राप्त
70
1007303723-08-16मलखान0पशु चिकित्सा
अनुसूचित जाति के अत्यधिक निर्धन प्रार्थी को पात्र होने से वर्ष 2015 में पशुशैड स्वीकृत होने एवं प्रार्थी द्वारा उधार रूपया प्राप्त कर पशुशैड निर्माण करने किन्तु आज दिनांक तक पशुशैड की राशि अप्राप्त होने बावत्।
ऑनलाइन प्राप्त
71
100295662/4/2016 13:49:00अनुराधा सिंह9893601998पीजी काॅलेज
मैं अनुराधा सिंह पत्नी श्री रधुराज सिंह का स्वास्थ्य खराब होने के कारण बायपास सर्जरी कराई गयी थी। मेरे पति द्बारा विभाग को 226000 (दो लाख छब्बीस हजार) बीमारी के देयक प्रस्तुत किये गये थे। मध्य प्रदे8ा 7ाासन के नियमानुसार 7ाासन के पत्र क्रमांक एफ4.2013.2.पचपन दिनांक 28.05.2013 कार्योत्तर स्वीकृति हेतु संभाग स्तर पर अधिकारों के विके्रद्रीकरण वाले आदे8ाानुसार हृदय रोग सर्जरी हेतु राज्य सरकार तथा मा्रयता प्राप्त निजी चिकित्सालय में उपचार कराने हेतु अधिकत रा8िा 2,50,000 (दो लाख पचास हजार) तक एवं वास्तविक व्यय 226000 (दो लाख छब्बीस हजार) बीमारी के देयक प्राचार्य 7ाासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय को प्रस्तुत किये थे जिसमें से प्राचार्य 8िावपुरी द्बारा संबंधित को 114964 रू0 का भुगतान किया गया है। 7ो6ा रा8िा प्रार्थी को आज दिनांक तक अप्राप्त है। 7ो6ा रा8िा भुगतान न करने के कारण मैं अपने पत्नि का इलाज नहीं करा पा रहा हूॅ। 7ाासन द्बारा संयुङ्कत संचालक स्वास्थ्य सेवा ङ्गवालियर सिटी से्रटर ङ्गवालियर को स्वीकृति हेतु देयक प्राचार्य 8िावपुरी द्बारा भेजा गये थे। लेकिन 7ाासन द्बारा स्वीकृत रा8िा 2,50,000 (दो लाख पचास हजार) में से वास्तविक व्यय रा8िा226000 (दो लाख छब्बीस हजार) भुगतान किया जाना चाहिये था लेकिन विभाग द्बारा प्राथी के पति को 7ो6ा रा8िा का भुगतान आज दिनांक तक नहीं किया जा रहा है। प्रार्थी द्बारा पूर्व में पीजी क्र0 328968.2015 के द्बारा भी 8िाकायत की गयी थी। पर्रतु निराकरण अधिकारी द्बारा गलत एवं अपूर्ण जानकारी भेजी गयी थी। प्राथी पूर्ण भुगतान हेतु महोदय के समक्ष पुनः 8िाकायत पे8ा करना चाहती है। जिससे इस सम्ब्रध में नियमानुसार 7ाासन के पत्र क्रमांक एफ423.2013.2.पचपन दिनांक 11.02.2014 के पालन अनुसार 7ो6ा रा8िा का भुगतान किया जा सके। महोदय 7ो6ा भुगतान हेतु प्राचार्य 7ाासकीय महाविद्यालय 8िावपुरी को भुगतान की कार्यवाही करने के आदे8ा प्रसारित करने की कृपा करें।
ऑनलाइन प्राप्त
72
100376093/12/2016 14:32:00suneel sharma7898638770पीजी काॅलेज
Manneey mukya mantri mahoday M.p. bhaopal Sir. Mere duara satr 2014-2015 me b.ed kesav kalej se kiya he meri ma ke nam se m.p .lebar bord ki kitab he mene 01.10.2014 ko scolarsip ka aabedan mr.tirbhuban babuji sms kalej me compleet karbakar jama kiya examm ka rijlt bhi aa gya lekin scolarsip ki rasi nhi mili kalej me kai chakkar lagai
ऑनलाइन प्राप्त
73
100376923/13/2016 19:13:00suneel7898638770पीजी काॅलेज
मा.मुकयमंतरी महोदय मेने २०१४-२०१५ मे केशव कोलेज से बी.एड किया है परिणाम भी आ गया है मेरी मा के नाम से म.प.भवन निरमाण करमकार मजदूरी की किताब है मेने एसएमएस पीजी कालेज मे ०१.१०.२०१४को तिरभुबन बाबुजी को आबेदन दिया है
ऑनलाइन प्राप्त
74
100402763/29/2016 10:46:00सुमित9406590266पीजी काॅलेज
यह कि 1. डाॅ चतुर्वेदी के प्रभारी प्राचार्य पद से क्‍यो और किस दिनांक को प्रभारी प्राचार्य प्रभार संवन्धित को किस दिनांक को किस को दिया गया हैा 2. डॉ चतुर्वेदी ने उपस्थिति दिनांक से आज दिनांक 29.03.2016 तक कितनी कक्षाये पडाई गई है समय चक्र की छाया प्रति उपलब्‍ध करावे 3. महा विधालय मे वर्तमान कितने स्‍थाई शिक्षक पदस्‍थ है शिक्षक कम होने के वाद भी जीवाजी विश्व विधालय की महत्‍वपूर्ण परीक्षाये संचलित है उसके वाद भी डाॅ चतुर्वेदी को किस अादेश के तहत विश्व विधालय के लिये आपके द्वारा कार्यमुक्त किया गया किस आदेश के तहत कार्य मुक्त आदेश निरस्‍त करने एवं अतिरिक्‍त से चालक ग्वालियर के आदेश की चतुर्वेदी परीक्षा कार्य में सहयोग करने को लिखा गया लेकिन चतुर्वेदी आपके आदेश . वरिष्ट कार्यालय के आदेश की अवहेलना करते रहे इस पर आपके द्वारा क्या कार्यवाही की गईा 4. डाॅ चतुर्वेदी द्वारा जी. वि. वि. की परीक्षाओ जैसे महत्‍व पूर्ण कार्य में सहयोग न करने के लिये आज दिनांक मक कितने प्रकार के अवकाश लिये गये है तो मेडीकल बोर्ड का चिकित्सा प्रमाण पत्र प्रस्‍तुत किया गया , उक्‍त अनुपस्थिति दिवसो के संवंन्ध में आपके द्वारा क्‍या कार्यवाही की गई व वेतन भुगतान किस आधार पर किया जा रहा हैा 5. माननीय न्यायालयीन आदेश के पालन में क्या डॉ चतुर्वेदी की जॉच पूर्ण हो चुकी है अथवा नही यदि नही हुई तो निश्पक्ष जॉच करायें डॉ चतुर्वेदी द्वारा प्रभारी प्राचार्य महाविधालय वित्‍तीय अनिमित्‍ताये की गई जिनके संवंध में वार वार वरिष्ठ अधिकारीयो को लिया गया है किन्तु आज दिनांक तक किसी भी प्रकार की निश्पक्ष् जॉच नही हुई है क़पया निश्पक्ष जॉच हेतु शासन को लिखें
ऑनलाइन प्राप्त
75
100315012/12/2016 13:30:00सत्यनारायण9407568406पीडबल्यूडी
निवेदन है की प्रार्थी का निवास सर्किट हाउस बाईपास को जाने वाली मार्ग पर है तथा कृषि भूमि भी है इस मार्ग पर १९७५ से पूर्व पानी निकासी के लिए एक नल था इस नाले को पूर्व मैं सुभाषचन्द्र , श्यामसुन्दर आदि के द्वारा खंड लगाकर बंद कर दिया गया जिससे पानी का निकास अवरुद्ध हो गया है, और प्रार्थी के इस नाले को खुलवाने हेतु न्यायालय तहसीलदर के यंहा संदर्भित प्रकरण प्रस्तुत किया गया जिसमें तहसीलदार महोदय ने प्रकरण क्रमांक १.७९-८०.आ -७४ दिनांक २१-०४-१९८० को पारित किया जिसमें पुलिया को खोलने का आदेश पारित किया गया उक्त पुलिया उस टाइम से अब तक बनी हुई थी परन्तु सीवर लाइन खोदने के कारन अस्तित्व हीन हो गई इस कारन प्रार्थी के माकन एवं कृषि भूमि में वर्षा का पानी भरने की आशंका बलवित हो गई है इस पानी के निकास के लिए इस रोड पर सी-सी रोड डालने से पहले कलवर्ट (पुलिया) बनाई जाना आवश्यक है जो की पूर्व में भी यह पुलिया प्रार्थी के माकन से लेकर संतोषी माता मंदिर के बीच रोड क्रॉस कर बनी थी जिसे पुन: बनाया जाना अति आवश्यक है- इससे जल भराव के कारन निर्मित होने वाली सड़क भी क्षतिग्रस्त नहीं होगी. अत: निवेदन हैं की इस सबंध में पी.डब्लू. ड़ी. विभाग को आदेश पारित करने की कृपा करें की वे प्रार्थी के निवास से संतोषी माँ के मंदिर के बीच में पानी निकास हेतु रोड क्रॉस कर पानी के निकास हेतु पुलिया का निर्माण सी.सी.सकड निर्माण से पूर्व कराया जा सके.
ऑनलाइन प्राप्त
76
100646437/19/2016 19:15:00
शांतिसरण दुबे , दीपक दुबे , और समस्त निमघिना ग्राम बासी
0भू अभिलेख
श्री मान महोदय , उपरोक्त विषय अंतर्गत निवेदन कर लेख है कि ग्राम निमघिना , परगना पिछोर , जिला शिवपुरी की निवासी श्रीमती सीमा दुबे पत्नी सुनील दुबे का फ़र्ज़ी तरीके से बी.पी . एल . कार्ड बनबाया गया है . जबकि सीमा दुबे के नाम जमीन और जायदाद है , और परिवार की 70 बीघा ज़मीन में हिस्सा है , इनके घर ट्रेक्टर बाहन भी है , और सीमा दुबे की 10 वी की अंकसूची फ़र्ज़ी तरीके से रूपए देकर दिल्ली बोर्ड से बनबाई गयी है, कृपा कर गरीबो का हक़ छीनने बाले इन फ़र्ज़ी लोगो पर कड़ी से कड़ी कार्यबाही करने की कृपा करें.. ,
ऑनलाइन प्राप्त
77
100069879/18/2015 17:32:00सुरेन्द्रभू अभिलेख
प्रति, श्रीमान मुख्यमंत्री महोदय मण्यप्रदेष ाासन भोपाल विषय:- अनुकम्पा नियुक्ति के संबंण में आवेदन पत्र। महोदय, 1. यह कि प्रार्थी के पिता स्व. श्री देवेन्द्र
कुमार आदिवासी तहसील षिवपुरी में पटवारी के पद पर पदस्थ थे ाासकीय सेवा के दौरान सड़क दुर्घटना में दिनांक 30/10/2005 को उनका स्वर्गवास हो चुका है। 2. यह कि
प्रार्थी की माता श्रीमती ओमवती आदिवासी ने स्वयं कि नियक्ति के लिए चतुर्थ श्रेणी के पद पर वर्ष 2006 व 2007 में तहसील में आवेदन दे चुकी हैं तथा अणिकारियों
द्वारा कोई भी निष्चित रूप से कार्यवाही नहीं की गई है। 3. यह कि उस समय प्रार्थी की उम्र 11 वर्ष थी जो कि वर्तमान में प्रार्थी सुरेन्द्र कुमार आदिवासी की उम्र
20 वर्ष हो चुकी है और कक्षा हा0सेकेण्ड्री स्कूल वर्ष 2014 में उत्तीर्ण कर चुका है जिसके साथ एक वर्ष का कम्प्यूटर कोर्स भी उत्तीर्ण कर चुका है। 4. यह कि
प्रार्थी के परिवार में एक छोटा भाई एक छाटी बहन तथा माता है प्रार्थी परिवार का बड़ा पुत्र है तथा प्रार्थी आदिवासी समाज का है पिता के स्वर्गवास के बाद घर की
आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। 5. यह कि प्रार्थी की कम उम्र होने के कारण आवेदन श्रीमान कलेक्टर महोदय को सात वर्ष बाद प्रस्तुत किया है। 6. प्रार्थी ने प्रथम
आवेदन दिनांक 27/08/2013 को श्रीमान कलेक्टर महोदय को प्रस्तुत कर चुका है इसके बाद से लगातार आवेदक के द्वारा आवेदन 2 वर्षों से दिये जा रहे हैं परंतु अभी तक
कोई भी निराकरण नहीं किया गया है। अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि कृप्या अनुकम्पा नियुक्ति में प्रार्थी को आदिवासी समाज का होने के कारण आरक्षण प्रदान कर
पिता के स्थान पर प्रार्थी पुत्र सुरेन्द्र कुमार आदिवासी को योग्यतानुसार पूरे नियमों को परिप्रेक्ष्य में नियुक्ति के संबंण में उचित निराकरण कर नियुक्ति कराने की कृपा
करें। दिनांक: 18/09/2015 प्रार्थी सुरेन्द्र कुमार आदिवासी पुत्र स्व. श्री देवेन्द्र कुमार आदिवासी निवासी: ग्राम हाथीगढ़ा पोस्ट कमलपुर चक्क हाल निवासी मदकपुरा
लुणावली तहसी व जिला षिवपुरी म0्रप0 मोबा: 8878373541
78
100644097/18/2016 19:42:00शत्रुधन7869816855
म.प्र. गृह निर्माण मंडल शिवपुरी
प्रति, माननीय मुख्यमंत्री महोदय, म.प्र. शासन भोपाल विषय - भारत सेवक ग्रह निर्माण सहकारी संस्था शिवपुरी जो कि म.प्र. सहकारी समितियां अधिनियम 1960 क्र. 17 1961 के अधीन पंजीयन क्र. उपपंजी..14.दिनांक 23.07.1964 के पंजीयक है। उप पटटाकर्ता महेन्द्र कुमार मिश्रा पुत्र श्री शीतलचंद मिश्र व्यवसाय शासकीय सेवक स्वास्थ्य विभाग टी.व्ही. अस्पताल शिवपुरी द्वारा शासकीय भूमि हल्का नं. 30 ग्राम छावनी परगना शिवपुरी में स्थित सर्वे नं. 300, 303, 307, 344 एवं 348 शहर की पाॅश गांधी काॅलोनी शिवपुरी में भूखण्ड बनाकर बेशकीमती भूमि को अपात्र लोगो को उपपटटा अनुबंध पत्र के माध्यम से हस्तांतरण महोदय को कलेक्टर महादय शिवपुरी के जरिये रजिस्ट्री क्र. 1334 दिनांक 03.07.1973 पुस्तक क्र. अ-1 में लेआउट प्लान बनाकर भूमि को खुर्दबुर्द कर बेशकीमती भूमि उपपटटा की शर्तो के विरूद्ध किया गया हैं कि जांच वरिष्ठ अधिकारी से करायी जाकर लाभ प्राप्तकर्ता एवं महेन्द्र कुमार मिश्रा के विरूद्ध जांच में दोषी पाये जाने पर कठोर कार्यवाही किये जाने हेतु। माननीय महोदय, सेवा में हम आवेदकगण की ओर से उपरोक्त विषयान्तर्गत निवेदन है कि:- 1. यह कि, अनुबंध पत्र में अनुबंध किन व्यक्तियों को किया जावेगा उसमें शर्त क्र. 01 में स्पष्ट उल्लेख है कि पटटेदार को उक्त भूखण्ड उसके कथन के अभिव्यक्ति के अंतर्गत किया जाता है कि उसके पास शिवपुरी नगर में अनयंत्र कोई भी मकान, रिहायशी भूखण्ड, निकट संबंधी (माता-पिता, आश्रित बहिन-भाई या बच्चो का नहीं है) अथवा किसी भी मकान रिहायशी भूखण्ड में हिस्सा नहीं है। उपपटटाकर्ता ने लेआउट नक्शा में जो भूखण्ड है वह भूमि पूर्व से ही अपने चहेते व्यक्तियों से मुंह मांगी कीमत लेकर शहर की पाॅश काॅलोनी जिसे गांधी काॅलोनी वार्ड नं. 02 के नाम से जाना जाता है उक्त भूमि को सर्वे नं. 300, 303, 307, 344, 348 पर जो लेआउट प्लान बताया गया है के अनुसार गांधी नगर में भूखण्ड है हस्तांतरण महोदय को कलेक्टर महोदय शिवपुरी के जरिये म.प्र. के राज्यपाल जिन्हें इस अनुबंध में पटटादाता कहा गया है। ने रजिस्ट्री क्र. 1334 दिनांक 03.07.1973 पुस्तक क्र. अ-1 भूमि पर काबिज है और उसे पटटा करने का स्वत्व प्राप्त है यह इस बात का साक्षी है उपपटटे द्वारा प्रीमियम के रूप में 19590.- रूपये का भुगतान जिसकी प्राप्तिी उपपटटाकर्ता स्वीकार करता है तथा लेआउट अनुसार प्लान नं. 2 का पूर्वी भाग है। 2. यह कि रजिस्टर्ड विक्रय पत्र में शर्त क्र. 1 के अनुसार उप पटटाग्रहिता द्वितीय पक्ष सुधीर शर्मा पुत्र स्व.श्री भवानीशंकर शर्मा आयु 43 वर्ष निवासी 02, गांधी काॅलोनी शिवपुरी परगना व जिला शिवपुरी को दिनांक 10.05.2013 को जो उपपटटा अनुबंध पत्र महेन्द्र कुमार मिश्रा द्वारा सुधीर शर्मा के हित में किया गया है तथा नक्शा, मानचित्र लगाया गया है उसमें दक्षिण दिशा में सुधीर शर्मा का मकान होना लेख है तो यह जानते हुये कि उक्त उपपटटा अनुबंध पत्र शर्त क्र. 1 का स्पष्ट उल्लंघन होने के बाद भी मुख्य रोड़ की भूमि जो सर्वे नं. 300, 303, 307, 344, 348 का भाग नही है कि आड़ में बिना लेआउट नक्शा के 1306 वर्गफीट भूमि सुधीर शर्ता को लाखों की भूमि उपपटटा अनुबंध पर दे दी गई। जिसकी रजिस्टर्ड विक्रयपत्र की छायाप्रति जिसमें सभी शर्ते उपपटटाकर्ता एवं उपटटाग्रहीता के मध्य कैसे होगा जिसमें शर्त क्र. 1 लगायत 21 में स्पष्ट उल्लेख है फिर भी अपने मिलने वाले को महेन्द्रकुमार मिश्रा ने भूमि का अनुबंध कर दिया है, जिसे करने का अधिकार नही था। 3. यह कि, इस संबंध में हमने पूर्व में श्रीमान् उपपटटाकर्ता महेन्द्र कुमार मिश्रा जी को दिनांक 28.11.2014 को आवेदन दिया था तथा उन शर्तो से अवगत कराया था तथा दिनांक 28.11.2014 को महेन्द्र कुमार मिश्रा एवं सुधीर शर्मा को हमारे द्वारा सूचना पत्र भिजवाया था। के बाद हमें आश्वासन दिया कि हमसे गलती हुई है हम उपपटटा अनुबंध पत्र निरस्त कर देगें तथा हमने यह भी बताया था कि यह भूमि आपके द्वारा वर्णित सर्वे नम्बरों की नही है हम लोग इस भूमि का आने जाने के लिये उपयोग करते है तथा शेष भूमि संरक्षित पार्क के लिये शासकीय भूमि है जिसे आपके गलत तरीके से अनुबंध किया है के बाद उनका मौखिक आश्वासन मानते हुये हमने कोई अग्रिम कार्यवाही नही की इसी का फायदा उठाकर सुधीर शर्मा के हित में नामांतरण नगर पालिका में नगर पालिका अधिकारी ने बिना दस्तावेज एवं अनुबंध पत्र की शर्तो के पढ़े ही नामांतरण सुधीर शर्मा के नाम कर दिया है जो पूर्णतः अवैध है। 4़. यह कि दिनांक 21.06.2016 को शत्रुधन शर्मा द्वारा रजिस्टर्ड डाक द्वारा सूचना पत्र महेन्द्र कुमार मिश्रा, सुधीर शर्मा एवं श्रीमान् कलेक्टर महोदय की ओर भी भेजा गया है अभी तक कोई जबाव नोटिस प्राप्त होने के बाद भी प्राप्त नही हुये है और हमको महेन्द्र कुमार मिश्रा तथा सुधीर शर्मा द्वारा डराया धमकाया जा रहा है कि यदि कोई कार्यवाही की जाती है तो ठीक नही होगा इसलिए हम डरे हुये है उक्त लोग संपन्न व्यक्ति है इसलिए श्रीमान् की ओर आवेदन पेश किया हैं 5. यह कि, भारत सेवक गृह निर्माण सहकारी संस्था मर्यादित शिवपुरी द्वारा संपूर्ण वेशकीमती भूमि सहकारी संस्था द्वारा दी गई शर्तो का उल्लंघन करते हुये भूमि नं. 300, 303, 307, 344, 348 को अपने लोगो को फायदा पहुंचानपे के लिये लाखो रूपये की भूमि गलत तरीक से उपपटटा ग्रहितागण को वितरण की गई है सभी उपपटटा ग्रहिता संपन्न है जो उपपटटा प्राप्त करने के पात्र नही है इसलिए श्रीमान से निवेदन है कि महेन्द्र कुमार मिश्रा से संपूर्ण भूमि के भूखण्ड बनाकर वितरण किये है उनकी जांच तथा उपटटेदार की ओर से दिये गये कब्जे के अनुसार किन-किन उपपटटाग्रहिता ने शर्तो का उल्लंघन किया है तथा किन व्यक्तियों द्वारा निर्धारित राशि जमा की गई है और इनमें कितने व्यक्ति ऐसे है जिनके पास शहर में अन्य संपत्तियाॅं अपने स्वयं के नाम तथा शर्त क्र. 1 में वर्णित संबंधियों के नाम है सभी जांचे बिन्दुवार जांच कर महेन्द्र मिश्रा एवं उपपटटाग्रहितागण के विरूद्ध की जावे। जो उपपटटा सुधीर कुमार शर्मा को दिनांक 10.05.2013 को दिया है उसमें शर्त क्र. 01 के अनुसार उसी उपपटटा ग्रहीता का मकान पूर्व से ही लाखो रूपये की कीमत का पक्का बना हुआ है। जिसे उपपटटा अनुबंध में एवं नक्शा में उल्लेख है के अनुसार जांच की जाकर दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही करायी जावे तथा उक्त उपपटटा अनुबंध की आड़ में हमारा रास्ता भी अनुबंधित कर दिया है। अतः श्रीमान् से निवेदन है कि उपपटटादाता महेन्द्र कुमार मिश्रा एवं उपपटटाग्रहीता सुधीर शर्मा के विरूद्ध प्रस्तुत दस्तावेजो के आधार पर कार्यवाही की जावे तथा आज दिनांक तक भूमि सर्वे नं. 300, 303, 307, 344, 348 वार्ड नं. 02 गांधी काॅलोनी जो लेआउट नक्शा बनाया है उसके माध्यम से दिये गये उपपटटा को भी निरस्त किया जावे। उपपटटा ग्रहिता जो अपात्र है। उनमें उपपटटा ग्रहितागण से उपपटटा में वर्णित राशि से अधिक रूपये लेकर किये गये है और एक दूसरे की आपस में सांठगांठ है इसलिए वह सत्य नही बतायेगें। इसलिए किसी राजस्व अभिलेख में या श्रीमान् स्वयं सभी दस्तावेजो की जांच एवं पूर्व के सभी अनुबंध मंगाये जाकर दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही किये जाने की कृपा की जावे। दिनांक - 18.07.2016 संलग्न दस्तावेज 1. उपपटटा अनुबंध पत्र दिनांक 05.10.2013 नक्सा सहित 2. सूचना पत्र दिनांक 28.11.2014 3. आवेदन पत्र दिनांक 28.11.2014 4. सूचना पत्र दिनांक 21.06.2016
79
100332762/21/2016 10:43:00संतोषी8959431747महिला बाल बिकास
में एक गरीब अनसूचितजाती की महिला हूँ मेरे इस आंगनबाड़ी प्रकड़ को कृपाया जलधि निराकड़ हो जबै तो में आपकी बहुत आभारी रहूगी मेरे साथ एक छोटा सा मेरा बच्चा भी है उसका भी पालन करना है मेरे इस प्रकड़ को लगभग ०३ बर्ष हो चुके है जल्द से जल्द नेरकाड हो जबै
ऑनलाइन प्राप्त
80
100718508/16/2016 15:51:00अनीता8962285004महिला बाल विकास
प्रार्थिया को गुमरहा करने & नियुक्ति चयन होने के बावजूद भी साजिश पूर्वक प्रार्थिया को गुमरहा करने & नियुक्ति से बंचित करने की निष्पक्ष जाँच करवाकर प्रार्थिया को न्याय दिलाए जाने हेतु महोदय से निवेदन है की प्रार्थिया ग्राम उड़वाहा तहसील करैराजिला शिवपुरी मध्यप्रदेश की निवासी है. प्रार्थिया द्वारा अगनवाड़ी केंद्र उड़वाहा के लिए आगनवाड़ी कार्यकर्ता पद हेतु आवेदन प्रस्तुत वर्ष २०११ को किया गया था. उपरोक्त पद हेतु अंतिम सूची मैं प्रार्थिया का नाम दर्ज था परंतु प्रार्थिया का चयन होने सबंधी तथ्य को ना सिर्फ़ छिपाया गया है बल्कि प्रार्थिया द्वारा आँगनवाड़ी केंद्र सूपरवाइज़र तत्कालीन प्रभारी अधिकारी ममता सिंग , आईसी-डी-एस करैरा तथा प्रार्थिया द्वारा निरंतर उपरोक्त कार्यालयों मैं संपर्क किया जाता रहा लेकिन मुझे मेरे ही चयन की जानकारी नही होने दी गई. मेरे कर्तव्य पर उपस्थित होने की अवधि गुजरने के तुरंत बाद ही श्रीमती कमलेश पत्नी मंगल सिंग कुशवाह निवासी उड़वाहा को कर्तव्य पर उपस्थित करवा दिया गया और नियुक्ति प्रदान कर दी गई. वीदित हो की श्रीमती कमलेश कार्यकर्ता बनी थी जिसकी शिकायत हो तथा उनका फरजीवाड़ा होने के बाद पद छॉड्ना पड़ा था इनके द्वारा ०४-०२-२०११ मैं त्याग पत्र दिया था जिसकी पुष्टि की जा सकती है. इस चयन मैं भी श्रीमती कमलेश कुशवाह को जानबूचकर व एन केन पर लाभ देने के लिए मेरे साथ घोर अन्याया किया गया है जिससे प्रार्थिया अत्यंत दुखितहै . यदि उपरोक मामले मैं निष्पक्ष जाँच की जावेगी तो सत्यता सामने आ जवेगी. प्रार्थिया जाँच व कार्यवाही मैं पूर्ण सहयोग करने को तत्पर रहेगी. जाँच की सूचना मुझे दी जावे. इससे पूर्व भी प्रार्थिया ने जॅन शिकायत निवारण विभाग मैं शिकायत दर्ज कराई लेकिन आज दिनाक तक कार्यवाही नही हुई है जिसका नंबर 2800.2015.99** वदूसरा नंबर१००१०६४९ है प्रार्थी अनिता कुशवाह ग्राम उड़वाह तहसील करेरा जिला शिवपुरी
ऑनलाइन प्राप्त
81
100080669/24/2015 15:45:00मोहित9425378035शहरी विकास
मेरे प्ला‍ट राजराजेश्वनरी मंदिर के सामने हेण्डं पम्प के पास स्थित हैा मेरे प्ला ट पर आस पास के निवासी श्री अन्नुा गुप्ताज, बल्लूे टीला, डब्बेप, संजीव जी, कोमल सेठ, सतीश गुप्ता गिरीश मास्ट र, विष्णु एवं गोपाल आदि समस्त वार्डवासियों द्वारा लगभग १० से १२ फिट तक कचरा एवं अन्यै प्रकार का मलबा लगातार फेका जा रहा है जिससे मैं अपना भवन निर्माण का कार्य चालू नहीं कर पा रहा हूा मेरे भतीजे द्वारा समस्त लोगों को बार बार समझाईश देने पर भी इन लोगों द्वारा कचना फेकना बंद न किया जाकर मेरे भतीजे अवधेष गुप्ताो को परेशान किया जा रहा हैा क़पया लोगों को समझाईश दिलवाये जाकर मलबा हटवाने का कष्ट् करें ताकि में अपना भवन निर्माण का कार्य कर सकूं
ऑनलाइन प्राप्त
82
1001489511/5/2015 14:51:00जीतेन्द्र8878537109शहरी विकाससफाई हेतुऑनलाइन प्राप्त
83
1001494211/5/2015 17:15:00कोमल8435785985शहरी विकास
प्रति, माननीय मुख्यमंत्री महोदय, मध्यप्रदेश शासन भोपाल म.प्र. विषय-ः हम गरीबो की झोपडियां ने हटायें जाने वावत् । श्रीमान महोदय, 1. यहकि हम समत्त गरीब व्यक्ति निवासी बरबटपुरा बडी़ खादान गिरेट बाग बार्ड नं.13 तह पिछोर तिला शिवपुरी के निवासी है । 2. यह कि हम सभी लोग गरीब जाति के व्यक्ति होकर झुकी झोपडियों मे निवास कर रहे है जो हम उस जगह पर अतिक्रमण किये हुऐ 10-15 साल हो चुके है जो हम सभी लोगे के उसमे कम से कम 70-80 मकान एवं झुकी झोपड़ीया बनी हुई है । जो अब हमारी झोपडियों को नगरपालिका अध्यक्ष श्री संजय पाराशर हम सभी गरीब लोगो के बच्चे मर जावेगे जो हम उसी जगह रहकर मजदूरी करके अपने परिवार एवं बच्चों का भरण पोषण करते है जो श्रीमान जी आप तत्काल आदेश कर हम गरीबों पर दया करके अपनी बनी हुई झुकी झोपडीयों को रोका जावे । अन्यथा हम सभी लोग मर जावेगे जो हम सभी लोग आपके यहाँ आस लगाकर आये है, अब हमारे को आप ही न्याया दिलवाओगे एवं हमारी बनी हुई झोपडीयों को टुटने से बचाओंगे एवं अध्यक्ष संजय पाराशर हमारे को धमकी दे रहा है कि वैघर कर देंगे जो श्रीमान जी आपके अलावा हमारा कोई भी नही है जो आप ही गरीब लोगो पर दया करते है एवं आप तत्काल नगरपालिका अध्यक्ष संजय पाराशर को आदेश कर हमारी बनी हुई झोपड़ीयों को न तोड़ा जावे हमारी झोपडियों के पीठे 100 बीद्या खाली जमीन पड़ी हुई है जो आप उस पर कुछ करवा लो लेकिन हम गरीबो की बनी हुई झुकी झोपडि़यों को न तोड़ा जावे जो श्रीमान जी हम मेहनत मजदूरी करके दो समय का भोजन करते है हमारे पास इतना पैसा नही है कि हम दूसरी जगह मकान बना सके श्रीमान जी हम आपके शरण मे पड़े है अब आप ही हमे संजय पाराशर नगरपालिका अध्यक्ष से बचा सकते है। 3. यह कि महोदय, से निवेदन है कि हम सभी लोगो को पट्टे दिलाने की कृपा करें अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि हम गरीब लोगो पर दया करके अपनी बनी हुई झुकी झोपड़ीयों को टूटने से बचाया जावे एवं आप आदेश कर हमारी झोपडियों को न तोड़ा जावे तो श्रीमान जी की अति कृपा होगी । दिनांक........................ समस्त प्रार्थीगण कोमल पुत्र तुलसी जाटव, रामकुमार, रश्मि लोधी, हरी लोधी, पार्वती लोधी, तलनसिंह, कोमल, देशराज, आशाराम, देवचंद, देशराज कोली, रचना बाल्मिक, जयराम लोधी, लालराम झा, रोशन, बल्लू वंशकार, भागीरथ साहू, कल्लू अहिरवार, रमेश अहिरवार, भागीरथ वंशकार, इमरत वंशकार, रमेश वंशकार, किशोरी आदिवासी, शारदा आदिवासी, लक्ष्मण आदिवासी, नीरज लोधी, महेश कोली, कमलेश लोधी, मनोहर शर्मा, ज्ञानदास कोली, परशुराम तिवारी, हरीकिशन यादव, रमेश प्रजापति, रामसिंह पाल, रामसिंह लोधी, शांती, कमलेश लोधी, मीना कोली, विक्रय लोधी, सियाराम साहू, रमेश प्रजापति, रघुवीर लोधी, सुखनंदन, किरण, धीरज लोधी आदि समस्त निवासीगण बरबरटपुरा बड़ी खादान गिरोंट बाग वार्ड नं. 13 तहसील पिछोर जिला शिवपुरी म.प्र. मो. 9165591280, 8435785985
माननीय मुख्यमंत्री महोदय,
84
1002226712/24/2015 18:39:00नरेंद्र9425769862शहरी विकास
निवेदन है कि , मैं नगर परिषद पिछोर मे मुख्य लिपिक कम लेखापाल के पद पर पदस्थ हूँ , मुझे एक साल पहले नगर परिषद खनियाधना द्वारा निलंवित किया था , जब से अभी तक मुझे ना ही बेतन वृद्दि , ना ही महंगाई , ना ही आरोप पत्र दिया और ना ही बहाल किया गया है , शासन नियम अनुसार निलंबन काल के द्वारान 3 महीने बाद 75% बेतन दिया जाता है और 30 से 45 दिन मे आरोप पत्र दिया जाता है , आरोप पत्र ना दिये जाने पर निलंबन स्वतः ही बहाली के रूप मे माना जाता है , मेरे प्राकरण को लगभग एक साल होने बाला है , नगर परिषद पिछोर के सी.एम.ओ. द्वारा केबल आश्वासन दिया जा रहा है कार्यवाही नहीं की जा रही है , श्रीमान जी से निवेदन है , मैं शुगर व लकवा की बीमारी से ग्रसित हूँ मेरे साथ न्याय उचित कार्यवाही कर महगाई भत्ता एवं वेतन वृद्दि दिया जाये व बहाल करने का कष्ट करे.
ऑनलाइन प्राप्त
85
100292702/3/2016 13:16:00सावित्रीशहरी विकास
सेवा में निवेदन है कि पीरथिया के पति श्री छक्कनलाल नगर परिषद करेरा में सफाई संरछक के पद पर पदस्थ रहते हुये दिनांक ३०.०१.२०१६ को आयु पुरी करने के पश्चात सेवा निवृत हुये किन्तु नगर परिषद करेरा के लोक सेवक जिम्मेदार अधिकारी श्री हरी शंकर रावत दुवारा शासन निर्देशो के बाबजूद भी सेवा निवृत से ६ माह पूर्ब पेंशन प्रकरण संचनालय नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग भोपाल भेजा जाना चाहिए था जो आज दिनांक तक नहीं भेजा गया है श्री रावत की मानशिकता दलित विरोधी रही है श्री हरी शंकर रावत के विरूद्ध वैधानिक, कठोर कार्यवाही की जाबे जिससे एक सेवा निवृत सफाई संरछक को उसके हको का भूगतान हो सके .
ऑनलाइन प्राप्त
86
100485465/13/2016 13:54:00मानसिंह9752852091शहरी विकास
महोदय सेवा में निवेदन प्रार्थी निम्नलिखित है कि:- 1. यह कि, प्रार्थी ग्राम पारागढ थाना व तह. नरबर जिला षिवपुरी का निवासी होकर एक गरीब पशुपालक है। 2. यह कि, प्रार्थी की एक दुधारू भैंस जिसकी कीमत लगभग 60,000 रू है पशुपालन कर प्रार्थी स्वयं एवं अपने परिवारजनों का भरणपोषण करता है। 3. यह कि, घटना दिनांक 11.05.2016 प्रातः लगभग 08-09 बजे की है कि प्रार्थी की भैस नरबर करैरा रोड के पास जुझाई तिराहेें पर खडी थी कि करैरा से नरबर की ओर तेजगति से आ रही मुस्कान मीनीबस क्रमांक एम.पी33ई. 2004 के वाहन चालक ने प्रार्थी की भैस मंे दायी मुॅह की ओर टक्कर मारदी प्रार्थी की भैस का दाया सींग मौके पर टूट गया एवं दायी आॅख क्षतिग्रस्त हो गई मौके पी बसचालक तडपती हुई प्रार्थी की भैंस को छोडकर भाग खडा हुआघटना के समय प्रार्थी एवं उसके साथियों से घटना स्थल से कुछ आगे आकर लोढीमाता मंदिर के पास टक्कर के बारे में कहा तो बसचालक ने प्रार्थी की भतीजा पीतम की मारपीट कर दी नरबर थाना में झूठी रिपोर्ट करदी। 4. यह कि, प्रार्थी ने उक्त घटना के संबंध में पुलिस अधीक्षक षिवपुरी एवं थाना प्रभारी नरबर को षिकायत प्रस्तुत की है लेकिन प्रार्थी के आवेदन पर कोई कार्यवाही न की जाकर उल्टे बसचालक प्रार्थी के घर पर आकर रिर्पोट वापिस लेने हेतु धमकीयाॅ देने लगा है बसचालक जिसे प्रार्थी से सकल से पहचानता है घर पर आकर जान से मारने की भी धमकी दी है। तथा पशुचिकित्सक नरबर द्वारा भी बसमालिक के दबाव में आकर प्रार्थी की भैंस का इलाज करने से इंकारी करदी है जिस कारण प्रार्थी की भैंस में गंम्भीर अवस्था में होकर मरने की स्थित में आ रही है उक्त घटना से प्रार्थी अन्याय का षिकार होकर जानमाल का खतरा होने की संभावना बनी हुइ है। अतः श्रीमान से निवेदन है कि न्यायहित में संबंधित बसचालक के विरूध कार्यवाही कर जानमाल की सुरक्षा एवं घायल भैंस का इलाज हेतु पशुचिकित्सक नरबर को निर्देषित करने की क्रपा करे तो श्रीमान की अति क्रपा होगी। गरीब प्रार्थी की हजारों रूपये कीमत की दुधारू भैंस में बसक्रमांक एम.पी.3 ई. 2004 द्वारा तेजगति से आकर टक्कर मारकर गंम्भीर रूप से घायल कर देने एवं पशुचिकित्सक द्वारा घायल भैस का इलाज करने से इंकारी करने से प्रार्थी के साथ अन्याय होने बाबत्।
सेवा में निवेदन प्रार्थी निम्नलिखित है कि:- 1.
87
100694538/6/2016 15:24:00मानसिंह8878339455शहरी विकास
महोदय सेवा मंें निवेदन एवं जबाव निम्नलिखित है कि:- 1. यह कि, प्रार्थी राजस्व ग्राम मुबारिकपुर एवं नगरपरिषद का बार्ड नं 09 मुबारिकपुर ( नरबर ) तहसील नरबर जिला षिवपुरी का स्थाई निवासी होकर कई सदियांें से यानि पैत्रिक समय से ग्राम मुबारिकपुर का ही निवासी हैं यहाॅ पर हमारी कृर्षिभूमि आवादी संम्पत्तियाॅ स्थित है जिन पर हम मौकाकाबिज होकर पैत्रिक समय ही उपयेाग आदि करते आ रहे है। 2. यह कि, प्रार्थी का सही सही नाम पतुआ उर्फ मानसिंह है लेकिन नोटिस सदर में गलत नाम अंकित किया गया है। 3. यह कि, आवासीय संम्पत्ति के अभिलेख का सन्धारण नगरपरिषद अथवा स्थानीय निकाय एवं कृर्षिभूमि के अभिलेख का सन्धारण पटवारी अभिलेख में किया जाता है। 4. यह कि, सरमन, ब्रजकिषोर, ओमप्रकाष, देवीसिंह, जगदीष, पुत्रगण मानसिंह कुषवाह मुझ प्रार्थी के पुत्रगण है जिनके नाम बार्ड नं 09 नगरपरिषद नरबर में ग्राम आवादी क्षेत्र में विधिवत एक भूखण्ड 6000 बर्गफिट अंकित है उक्त भूखण्ड की लंम्बाई पूर्व से पष्चिम 100 फिट एवं चैडाई उत्तर से दक्षिण 60 फिट है जिसके दक्षिण में वनभूमि स्थित है उक्त भूखण्ड पर प्रार्थी एवं प्रार्थी के परिवारजन मकानात बनाकर एवं कच्चेघर बनाकर पशुओं को बाधने का कार्य करते है, मकानात कमरे पुनः निर्माण के उदेष्य से क्षतिग्रस्त कर दिये है उक्त संम्पत्ति आवादी संम्पत्ति होकर रहनासी प्रयोजन आदि हेतु ही स्थित है जिस पर मैं प्रार्थी एवं परिवारजन पैत्रिक समय से मौकाकाबिज होकर उपयेाग आदि कर रहे है एवं वैधानिक रूप से भूमिस्वामी है। 5. यह कि, उक्त संम्पत्ति के संबंध में नगरपरिषद नरबर द्वारा दिनांक 07.08.2007 को विधिवत उक्त संम्पत्ति सरल क्रमांक 167 पर अंकित करते हुये एवं संम्पूर्ण कर आदि प्राप्त करते हुये प्रमाणीकरण क्रमांक 861 प्रदाय किया है जो प्रदर्ष एक है। ......2..... .....2.... 6. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा उक्त संम्पत्ति के संबंध में बार्डनं 09 के अंतर्गत विधिवत संषोधित सरलक्रमांक 161 पर उक्त संम्पत्ति अंकित करते हुये प्रमाणीकरण क्रमांक.न0प0.नरबर.14.444. दिनांक 29.03.2014 संम्पूर्ण टैक्स प्राप्त कर प्रदाय किया था जो प्रदर्ष 02 है। 7. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा बार्डनं 09 के अंतर्गत उक्त संम्पत्ति सरल क्रमांक 161 पर अंकित का प्रमाणपत्र क्रमांक 111 दिनांक 20.1.2014 विधिवत प्रदाय किया था जो संलग्न प्रदर्ष 03 है। 8. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा ही रसीदबुक क्रमांक 02 सीरियल नं 10.10 दिनांक 09.01.2007 समेकितकर की रसीद बर्ष 2000-01 से 2003-04 तक मार्च तक 480 रू की विधिवत प्रदाय की है जो प्रदर्ष 04 है। 9. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा रसीदबुक क्रमांक 03 सीरियल 10.10 दिनांक 23 जनवरी 2007 समेकितकर बर्ष 2004-05 से बर्ष 2006-07 मार्च तक 360 रू की रसीद प्रदाय की है जो प्रदर्ष 05 है। 10. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा रसीदबुक क्रमांक 0, रसीदक्रमाक 66 सीरियल नं 159, संम्पत्ति अधिभार एवं समेकितकर व षिक्षा उपकर बर्ष 2007-08 एवं बर्ष 2008-09 मार्च तक कुल रू 952 दिनांक 25.06.2009 को प्रदाय की है जो प्रदर्ष 06 है। 11. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा रसीदबुक क्रमांक0, रसीदक्रमांक99 सीरियल नं 159.00 से संम्पत्तिकरअधिभार, समेकित का षिक्षाकर की राषि 952 रू दिनांक 10 दिसम्बर 2010 को प्राप्त कर रसीद प्रदाय की है जो प्रदर्ष 07 है। 12. यह कि, नगरपरिषद नरबर रसीदबुक क्रमांक 40.06 सीरियल नं 159 से संम्पत्तिकर अधिभार, समेकितकर एवं षिक्षाकर की समस्त राषि 942 रू दिनांक 21 फरवरी 2016 को विधिवत प्राप्त कर रसीद प्रदाय की है प्रदर्ष 08 है। 13. यह कि, प्रार्थी के पुत्रगण के नाम आपके नगरपरिषद अभिलेख में उक्त प्रकार से अंकित संम्पत्ति का मानचित्र संलग्न है जो प्रदर्ष 09 है। 14. यह कि, उक्त भूखण्ड पर स्थित कच्चे घरों में विघुत विभाग द्वारा विधिवत उपरोक्त संम्पत्ति वैधानिक स्वामित्व की होने से विधिवत विघुत कनैक्सन प्रार्थी पुत्र सरमनसिंह पुत्रश्री मानसिंह के नाम प्रदाय किया गया है जिस पर बर्ष 2007 से आज तक कोई भी विघुत का बकाया नही है उक्त विभाग का विघुत कनैक्सन क्रमांक 72-01-00071778 है जो प्रदर्ष 10 है। 15. यह कि, नगरपरिषद नरबर द्वारा प्रार्थी पुत्रों के नाम संम्पत्ति नगरपरिषद के बार्ड नं 09 में विधिवत अंकित है जिसकी भवनकर की पंजी पूर्व में प्रार्थी को प्रदाय की गई है जो प्रदर्ष 11 है। .....3..... ......3..... !! विषेष आपत्ती !! 16. यह कि, आपके द्वारा प्रार्थी को गलत नाम अंकित करते हुये नोटिस पूर्णतः अवैध रूप से आपके ही कार्यालय में मौजूद अभिलेख का अवलोकन किये बगैर गलत तथ्यों एवं गलत जानकारी के आधार पर प्रदाय किया गया है नोटिस सदर में अवैध अतिक्रमण संबंधी शब्द का उल्लेख विधिविरूध किया जाकर बिना किसी कार्यवाही के ही अतिक्रमण बताकर प्रार्थी के वैधानिक स्वामित्व आधिपत्य की भूमि को शासकीय एवं शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण बताना न्याय प्रक्रिया के विपरीत कार्यवाही हैं भूमिस्वामी स्वत्व की संम्पत्ति के भूमिस्वामी एवं आधिपत्यधारी को अतिक्रमण की परिभाषा में उल्लेखित किया जाना विधिविरूध है आप महोदय को वैधानिक स्वामित्व आधिपत्य की संम्पत्ति के मालिक व आधिपत्यधारी को अवैध अतिक्रमण के रूप में प्रदर्षित किये जाने का कोई भी वैधानिक अधिकार नही है। 17. यह कि, नोटिस सदर राजनैतिक दुरभवनाओं पर अज्ञात स्वार्थ प्रदाय किया गया हैं आप महोदय को प्रार्थी पुत्रों के नाम आपके ही राजस्व अभिलेखों में वैधानिक रूप से अंकित संम्पत्ति संम्पूर्ण अथवा उसके किसी भी अंष पर किसी भी प्रकार का कोई भी हस्तकक्षेप आदि करने का वैधानिक अधिकार नही है। 18. यह कि, आपके द्वारा यदि प्रार्थी पुत्रों के नाम आपके ही अभिलेखों में विधिवत अंकित संम्पत्ति के संबंध में कोई भी अवैधानिक कार्यवाही स्वयं अथवा प्रषासनिक बल के आधार पर की जाती है तो उसके लिये समस्त प्रकार के हर्जे खर्चे आदि के लिये आप महोदय स्वयं व्यक्तिगत रूप से जिम्मेवार होगें। 19. यह कि, नोटिससदर विधिविरूध एवं अभिलेखों की विपरीत होने से न्यायहित में निरस्ती योग्य है। अतः प्रदर्षित संख्या 1 लगायत 11 संलग्न दस्तावेज प्रस्तुतकर निवेदन है कि नोटिससदर न्यायहित में निरस्त किये जाने की क्रपा की जावें।
88
100401653/26/2016 17:13:00विजय सिंह8819029890शिक्षा विभाग
प्रति, माननीय शिक्षा मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, भोपाल. विषय:- अनुसूचित जाति के निर्धन प्रार्थी को प्राथमिकता के आधार पर एवं पूर्व में विगत पांच वर्षो तक निरंतर अतिथि शिक्षक के पद पर पूर्ण लगन, मेहनत एवं निष्ठा से सेवा देने पर पुनः शास0 प्राथमिक विद्यालय धांधियापुरा में अतिथि शिक्षक के पद पर नियुक्त करने बावत् विनम्र निवेदन। मा0 महोदय, सेवा में, अत्यंत विनम्रता पूर्वक निवेदन है कि प्रार्थी अनुसूचित जाति वर्ग से होिकर एक निर्धन परिवार से है तथा ग्राम धांधियापुरा तह. व जिला शिवपुरी का निवासी है। यह कि, प्रार्थी द्वारा पूर्व में वर्ष 2007 से वर्ष 2013 तक निरंतर अतिथि शिक्षक के पद पर प्राथ. विद्यालय धांधियापुरा में अपनी सेवाऐं दी गई है। प्रार्थी द्वारा उक्त अवधि में अपना कार्य पूर्ण लगन, मेहनत एवं निष्ठा से संपादित किया जाता रहा, तथा प्रार्थी के कार्य एवं व्यवहार से किसी भी ग्रामीण को एवं वरिष्ठ अधिकारियों को कभी कोई शिकायत नहीं रही है। यह कि, प्रार्थी का जन्म दिनांक 08.02.1978 है इस हिसाब से प्रार्थी ओव्हर ऐज भी होने जा रहा है। यथा प्रार्थी की ओव्हर ऐज को दृष्टिगत रखते हुये एवं प्रार्थी द्वारा पूर्व में अतिथि शिक्षक के पद पर अपनी सेवाओं को देखते हुये पुनः उक्त विद्यालय में अतिथि शिक्षक के पद पर नियुक्त किया जाना न्यायसंगत एवं न्यायोचित होगा। यह कि, प्रार्थी ग्राम धांधियापुरा का ही स्थानीय निवासी है जिस कारण समय पर छात्रों को अध्ययन कार्य भी करा सकेगा। यह कि, प्रार्थी उच्च शिक्षित भी है तथा उक्त पद के लिये पूर्ण योग्यता भी रखता है तथा उक्त विद्यालय में वर्तमान् में पदस्थ संविदा शिक्षक वर्ग-3 अधिकतर विद्यालय से अनुपस्थित रहती है जिस कारण छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है, इस संबंध में पूर्व में भी ग्रामवासियों द्वारा कई बार वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत भी की गई है। अतः श्रीमान् जी से निवेदन है कि प्रार्थी की पूर्व की सेवाओं को दृष्टिगत रखते हुये एवं प्रार्थी की ओव्हर एज को दृष्टिगत रखते हुये प्रार्थी को पुनः शा0प्रा0वि0 धांधियापुरा में अतिथि शिक्षक के पद पर नियुक्त करने की कृपा करें तो माननीय जी की अति कृपा होगी। प्रार्थी, विजय सिंह जाटव पुत्र श्री कमरलाल जाटव निवासी ग्राम धांधियापुरा, तह. व जिला शिवपुरी, म.प्र. मोबा. 8819029890
89
1000944710/2/2015 12:46:00कुमारी प्रगति8827030873शिक्षा विभाग
सेवा में निबेदन हे की प्रार्थी ग्राम पंचायत रन्नौद की पंच वार्ड ४ में रहती हे हमारे ग्राम में बरसो से रामेस्वर श्रीवास्तव एव् उनका छोटा भाई बनबारी लाल श्रीवास्तव ग्राम रन्नौद में ही शा.कन्या .मा.बि.में रामेस्वर दयाल श्रीवास्तव एव् उनका छोटा भाई बनबारी लाल श्रीवास्तव शा. बालक विधालय रन्नौद में बनबारी लाल श्रीवास्तव उकत दोनों भाई बरसो से ग्राम में ही पदस्त रहते हुए राजनीती एव् इनके प्रभाब से इनके दो भाई राकेश श्रीवास्तव सुभाष निकेतन हाई स्कूल रन्नौद में संचालित करते हे दूसरा भाई सतीश श्रीवास्तव चित्रांश कान्वेंट स्कूल चलते हे राकेश श्रीवास्तव पैसे भरकर हाई स्कूल एव् हइसेकण्ड्री परीक्षा केंद्र रन्नौद ले आते हे और प्रतेक छात्रों से छात्र को पास कराने का असबषान देकर १०,००० रूपये की मोती रकम लेते हे बरसो से रन्नौद झेत्र में चल रहा हे जिसमे इनकी मदद इनके शिक्षक दोनों भाई जो रन्नौद में शासकीय शिक्षक हे मदद करते हे नक़ल कराकर छात्रों को पास करा देते हे काम बरसो से चल रहा हे जिसमे जो लाखो का न्यारा बरा करते हे जिसमे जो छात्र पड़ते हे उनका शोषण हो रहा हे निबेदन हे की बरसो से जमे दोनों शिक्षको पर कार्यबहि कर अन्य भेजा जाये गुप्त रूप में शिवपुरी से जांच दाल भेजकर जांच करायी जाये और इस पत्र को गोपनीय रखे जिसमे लड़ाई की सम्भावना न बने सभी भाई लडको हे और सात भाई ही प्रार्थी कुमारी प्रगति जैन पुत्री ऋषब चन्द्र जैन ग्राम पंचायत रन्नौद जिला शिवपुरी
ऑनलाइन प्राप्त
90
1001222210/19/2015 18:56:00प्रदीप singh9584354481शिक्षा विभाग
महोदय उपरोक्त बिषय में निबेदन बिन्दुबार इस प्रकार है १-यह की प्रार्थी प्रदीप सिंह पुत्र देवेन्द्र सिंह ग्राम मलवानी तहसील पिछोर म- प्र- का मूल्यनिवासी है शासकीय प्राथमिक विद्यालय बालक मलवानी में अतिथि शिक्षक वर्ष २०१४ - २०१५ में कार्यरत रहा प्रार्थी डी एड एवं ग्रेजुएट है शिक्षित वेरोजगार है २- यह कि शासकीय प्राथमिक विद्यालय पडोरा से सहायक अध्यापक श्री राजेश तोमर शासकीय प्राथमिक विद्यालय मलावानी कैसे उपस्थित हुये क्योंकि शिक्षक विहीन शाला हुयी पडोरा की वहां दूसरा शिक्षक नहीं था जबकी शाशन का स्पष्ट आदेश है की शाला विहीन शिक्षक के तबादला नहीं हो सकता यह निरस्त किया जाबे और जाँच की जाबे ३- यह कि शासकीय प्राथमिक विद्यालय खडोय से उदल सिंह सहायक अध्यापक शासकीय प्राथमिक विद्यालय बालक मलावानी में शैक्षडिक व्यवस्था तहत कैसे रखा गया यह भी निरस्त करने योग्य हैं क्योंकि शासन वर्तमान में अटेचमेंट का करना पुर्ड़ता प्रतिबंध है ४- यह कि शासकीय प्राथमिक विद्यालय बालक मलवानी में कार्यरत अतिथि शिक्षक प्रदीप सिंह चौहान को यथावत अतिथि शीषक रखा जाने की कृपा करें वस्तुस्थिति की मौके पर जाँच की जाबे
ऑनलाइन प्राप्त
91
1001602711/16/2015 20:53:00Vinod Singh dhakar9893616920शिक्षा विभाग
प्रार्थी अतिथि शिक्षक विनोद सिंह धाकड़ ग्राम झलवासा में शासकीय माध्यमिक विद्यालय झलवा सा मैं अतिथि शिक्षक पद पर 1अगस्त 2014 से 30 दिसंबर २०१४ तक कार्य किया जिन का वेतन भुगतान नहीं किया गया और संकुल प्राचार्य ने शाला प्रचार्य के माध्यम से 2000 रुपए लिए एवं वेतन भुगतान भी नहीं किया गया अतः श्रीमानजी से निवेदन है प्रार्थी का वेतन भुगतान करवाने की कृपा करें शाला का नाम शासकीय माध्यमिक विद्यालय झलवासा संकुल केंद्र भटनावर विकासखंड पोहरी जिला शिवपुरी मध्य प्रदेश pin कोड 4 7 3 5 5 1
ऑनलाइन प्राप्त
92
1001650011/19/2015 21:04:00विनोद सिंह धाकड़9893616920शिक्षा विभाग
आवेदक का नाम. विनोद सिंह धाकड़ पिता का नाम श्री श्याम लाल धाकड़ पता ग्राम झलवासा तहसील पोहरी जिला शिवपुरी मध्य प्रदेश Email vinoddhaked31 @gmail.com Sampark 9893 616920 प्रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय जन शिकायत निवारण विभाग भोपाल मध्य प्रदेश अतिथि शिक्षक का मानदेय भुगतान बाबत माननीय सेवा में निवेदन है कि प्रार्थी शासकीय माध्यमिक विद्यालय झलवासा संकुल केंद्र भटनावर विकासखंड पोहरी जिला शिवपुरी मैं अतिथि शिक्षक के पद पर 1 अगस्त 2014 से 30 अगस्त 2014 तक मुझे रखा गया एवं मुझे संस्कृत भाषा के लिए चुना गया और मैंने नियमित रूप से साला मैं उपस्थित होकर कार्य किया उसके बाद भी मुझे साला से हटा दिया गया और मुझे वेतन भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है और मुझसे ए वेतन भुगतान के नाम से दो हजार रुपए नरेश सिंह जाटव ने मुझसे लिए और मुझे वेतन भुगतान भी नहीं हुआ और संकुल प्राचार्य मुन्ना शर्मा मुझसे दो हजार रुपए की मांग और कर रहे हैं इस प्रकार मुझे भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है मुझसे 5 महीने कार्य करने के बाद में मुझे साला से हटा दिया गया इसलिए श्रीमान महोदय मुख्यमंत्री महोदय जी ए से विनम्र निवेदन है कि प्रार्थी का वेतनमान डलवाने की कृपा करें
ऑनलाइन प्राप्त
93
1001650111/19/2015 21:06:00विनोद सिंह धाकड़9893616920शिक्षा विभाग
आवेदक का नाम. विनोद सिंह धाकड़ पिता का नाम श्री श्याम लाल धाकड़ पता ग्राम झलवासा तहसील पोहरी जिला शिवपुरी मध्य प्रदेश Email vinoddhaked31 @gmail.com Sampark 9893 616920 प्रति माननीय मुख्यमंत्री महोदय जन शिकायत निवारण विभाग भोपाल मध्य प्रदेश अतिथि शिक्षक का मानदेय भुगतान बाबत माननीय सेवा में निवेदन है कि प्रार्थी शासकीय माध्यमिक विद्यालय झलवासा संकुल केंद्र भटनावर विकासखंड पोहरी जिला शिवपुरी मैं अतिथि शिक्षक के पद पर 1 अगस्त 2014 से 30 अगस्त 2014 तक मुझे रखा गया एवं मुझे संस्कृत भाषा के लिए चुना गया और मैंने नियमित रूप से साला मैं उपस्थित होकर कार्य किया उसके बाद भी मुझे साला से हटा दिया गया और मुझे वेतन भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है और मुझसे ए वेतन भुगतान के नाम से दो हजार रुपए नरेश सिंह जाटव ने मुझसे लिए और मुझे वेतन भुगतान भी नहीं हुआ और संकुल प्राचार्य मुन्ना शर्मा मुझसे दो हजार रुपए की मांग और कर रहे हैं इस प्रकार मुझे भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है मुझसे 5 महीने कार्य करने के बाद में मुझे साला से हटा दिया गया इसलिए श्रीमान महोदय मुख्यमंत्री महोदय जी ए से विनम्र निवेदन है कि प्रार्थी का वेतनमान डलवाने की कृपा करें
ऑनलाइन प्राप्त
94
1002251012/28/2015 10:45:00अध्यापकशिक्षा विभाग
शिवपुरी स्कूल शिक्षा बिभाग में कलेक्टर के अनुमोदन से नगर पालिका शिवपुरी को अध्यापको की पदोन्नति हेतु दिए गए बिषयवार तथा शलवार पदो के स्थान पर पदोन्नति उपरांत डी इ ओ ऑफिस की मिली भगत से डी इ ओ को अँधेरे में रखकर ऑफिस में पदस्थ बाबू सचिन अग्रवाल प्रधान अध्यापक रोहणी अवस्थी पि टी आई राजीव श्रीवास्तव के कारनामो से अनुमोदित पदो के आलावा अन्य स्कूल में पोस्टिंग कर दी है कलेक्टर के द्वारा अनुमोदन कर डी इ ओ ऑफिस ने नगरपालिका को आदर्श स्कूल एवं सादर बाजार के पद दिए थे सादर बाजार में एक भी पोस्टिंग नहीं करते हुए कोर्ट रोड स्कूल एवं क्रमांक २ में पोस्टिंग कर दी है इसके एवज़ में २५०००-२५००० हज़ार रूपए इन लोगो के द्वारा संबंधितो से लिए गए है शासन से आदर्श स्कूल एवं सादर बाजार के स्कूल के पद आये थे जिनको बिषयवार बांटकर कलेक्टर से अनुमोदन लिया गया था फिर कोर्ट रोड एवं क्रमांक २ में पद कैसे आ गए यदि आये तो कलेक्टर से अनुमोदन क्यों नहीं लिया गया नगरपालिका ने गलत पोस्टिंग की तो बाबू ने जिला शिक्षा अधिकारी को क्यों नहीं बताया ये जांच का बिषय है जहा पोस्टिंग की गई है वह पद कब स्वीकृत हुए ईसी गलत पोस्टिंग को निरस्त कर पद स्वीकृत हुए स्कूल में पोस्टिंग की जाए तथा गलत काम करने वाले को दंड दिया जाये सादर बाजार में इब समय एक भी टीचर नहीं है बच्चे कैसे हाई स्कूल की परीक्षा पास करेंगे
ऑनलाइन प्राप्त
95
100334682/22/2016 17:42:00यासीन हुसेन9589209877शिक्षा विभाग
शिवपुरी जिले में विकासखंड कोलारस के लुकवासा में श्रीमति सुनीता आर्य शासकीय माध्यमिक विघालय झाडेल संकुल केन्द्र लुकवासा में अनुपस्थित रहती हैं। महीने में केवल 1 बार आती हैं। और रजिस्टर पर साईन करती है। बीईओ श्री सुरेन्द्र कुमार अटारिया द्वारा रिष्वत लेकर वेतन दिलवायी जाती है। इनका पति कोलारस में ही डाॅक्टर है डाॅ हरीश आर्य अपने पद का दुरूपयोग करता है। षिक्षिका को नोटिस जारी होते है। तो रिष्वत देकर उन्हें विलोपित कर दिया जाता है। शिकायत करने पर शिक्षिका सुनीता आर्य हरिजन एक्ट के झूठे केस में फंसाने की धमकी देती है। कार्यवाही की जावे। शासकीय मा0 विघा0 झाडेल संकुल केन्द्र लुकवासा साजिद हुसैन
ऑनलाइन प्राप्त
96
100399333/25/2016 19:06:00
रोहणी अवस्थी एवं संघ
9630193696शिक्षा विभाग
उपरोक्त विषय मै अनुरोध है की शा उ मा वि क्रमांक २ शिवपुरी के प्राचार्य ए के रोहित के द्वारा संकुल के टीचर्स को परेशान किया जा रहा है I वेतन समय पर भुगतान नहीं करते संकुल के टीचर्स के साथ अभद्र व्यवहार करते है I अतिथि टीचर्स का पांच माह से वेतन नहीं निकाला i एरियर निकलने पर १० प्रतिशत रिश्वत की मांग करते है इनका कार्यालय पर कोई नियंत्रण नहीं है i शिक्षक संगठन में रोषव्याप्त है I प्राइवेट स्कूल की अनुदान की जाँच मै १०००० मांगते हैछात्रवृति निकलने के रुपये मांगते है गणक स्कूल मे नहीं बैठते है और बिना काम के वेतन दे रहे है संकुल के टीचर को अवकाश नहीं देते है महिला कर्मचारी को छूट दी जाती है i भेदभाव करते है , संकुल की सेवा पुस्तिकाओ मे एच एम एवं कर्मचारियों के अर्जित अवकाश की एंट्री कई वर्षो से नहीं की i ऑफिस के बाबू रिश्वत के बगैर कोई काम नहीं करते i ए के रोहित प्रिंसिपल ने फर्जी एवं डबल राशि के बिल लगाकर शासन को लाखो रुपयो का गमन किया है i संकुल स्टाफ से रिश्वत नहीं देने पर हस्ताक्षर नहीं करते एवं परेशान करते है i शिकायत करने पर देख लेने की धमकी देते है , इनकी तानाशाही के पूरा संकुल की पढ़ाई चोपट हो गई है ,इनने स्कूलों के हालात बहुत ख़राब कर दिये है ,रिश्वत खोर ,एवं विफल प्रिंसिपल ए के रोहित के आर एम एस ए से प्रिंसिपल कार्यकाल के फर्जी बिलो की उच्च स्तरीय जांच आयुक्त महोदय द्वारा गठित कमेटी से की जाना अति आवश्यक है एवं प्रशासनिक ट्रांसफर करके हटाना संकुल हित एवं शासन हित छात्र हित मे होगाI
ऑनलाइन प्राप्त
97
100401643/26/2016 17:11:00कमरलाल834987148शिक्षा विभाग
प्रति, माननीय शिक्षा मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, भोपाल. विषय:- कु. डिम्पल शर्मा (मुदगल) संविदा शिक्षक वर्ग-3 शाला से अनुपस्थित रहने बावत्। मा0 महोदय, सेवा में, अत्यंत विनम्रता पूर्वक निवेदन है कि शास0प्रा0शाला ग्राम धांधियापुरा, तह. व जिला शिवपुरी, म.प्र. विगत वर्ष माह अगस्त 2013 से नई नियुक्ति होकर उपस्थित हुई थी। यह कि, उक्त शिक्षिका अगस्त 2013 से अप्रेल 2014 तक महीने में केवल दो दिन ही उपस्थित थी वे शाला से नदारत रहती है और प्रधानाध्यापक शासकीय कार्य से चले जाते है तब शाला बंद रहती है, ऐसे में छात्रों की कैसे पढाई हो सकती है, यह समझ से परे है। यह कि, वर्ष 2014 में दिनांक 11.06.2014 से सत्र चालू हो गया था, फिर भी वह दिनांक 01.07.2014 को दोपहर बाद 02ः00 बजे कार्यस्थल पर उपस्थित हुई थी, जो कि गंभीर लापरवाही का घोतक है। यह कि, उक्त कु. डिम्पल शर्मा इसी प्रकार लापरवाही करती है तथा इनके द्वारा अध्ययन कार्य में कोई रूचि नहीं ली जाती है, जिस कारणस छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। यह कि, ग्राम वासियों द्वारा व अन्य लोगों द्वारा उक्ताशय बावत् कई बार वरिष्ठ अधिकारियों से भी शिकायत की गई, किन्तु उक्त शिक्षिका पर कोई कार्यवाही नहीं की गई यथा स्थिति जस की तस बनी हुई है, उक्त शिक्षिका की कार्यशैली पूर्व की भांति बनी हुई है तथा इनके द्वारा आज भी छात्रों के अध्ययन कार्य में कोई रूचि नहीं ली जाती है। यह कि, उक्त शिक्षिका शिवपुरी में निवास करती है, जिस कारण भी उक्त शिक्षिका प्रतिदिन विद्यालय में उपस्थित नहीं होती है शिवपुरी से ग्राम धांधियापुरा की दूरी करीबन 22-23 कि.मी. है। यह कि, ग्राम वासियों की भी विगत काफी लम्बे समय से मांग चली आ रही है कि उक्त शिक्षिका का अन्यत्र स्थानान्तरण कर किसी स्थानीय व्यक्ति को अतिथि शिक्षक के पद पर उक्त शा0प्रा0वि0 धांधियापुरा में नियुक्त किया जावे ताकि छात्रों का अध्ययन कार्य निरंतर हो सके। अतः श्रीमान् जी से निवेदन है कि कार्य के प्रति बेहद लापरवाह संविदा शिक्षक वर्ग-3 कु. डिम्पल शर्मा को अविलम्ब शा0प्रा0वि0 धांधियापुरा से अन्यत्र स्थानान्तरण किया जावे तथा कु. डिम्पल शर्मा के विरूद्ध उचित विभागीय कार्यवाही की जावे तथा किसी स्थानीय अतिथि शिक्षक को उक्त विद्यालय में नियुक्त किया जावे तो अति कृपा होगी। प्रार्थी, कमरलाल पुत्र श्री कम्मोदीलाल जाटव ग्राम धांधियापुरा, तह. व जिला शिवपुरी मोबा. 08349871489
98
1001700611/23/2015 18:28:00राकेश9584645018सीसीबी
सेवा में सबिनैय निबेदन हे की राकेश पुत्र रामबाबू केवट ग्राम दौलतपुर तहसील बदरवास जिला शिवपुरी का निवासी हु अत मुझे ग्रामीण उधोग खोलना चाहते हे अत हमने इसके लिए लोने लिया था जो की शिवपुरी से पास कर ग्रामीण बैंक में भेज दिया हे बैंक बाले बोलते हे तुम्हारा लोने नही करेंगे और हमसे पैसे मांगते हे और तुम पैसे नही दे पाओगे ये सब बोलके सखा प्रबंधक ने मना कर दिया हे अत यह लोन हमने ११-०६-२०१५ को बैंक में अ गया हे अत श्री मान जी से निबेदन हे की मेरी समस्या का समाधान करे
ऑनलाइन प्राप्त
99
1001700711/23/2015 18:44:00राकेश9584645018सीसीबी
सेवा में निवेदन हे की राकेश पुत्र रामबाबू केवट ग्राम दौलतपुर तहसील बदरवास जिला शिवपुरी का निवासी हु में ग्रामीण उधोग खोलने के लिए शिवपुरी से लोने लिया था जो की उन्होंने शिवपुरी से पास कर दिया हे और ग्रामीण बैंक खतोरा में भेज दिया हे अत बैंक बाले कहते हे की तुम्हारा लोन पास नही करेंगे क्योकि तुम गरीब हो और पैसे की मांग करते हे में गरीब ब्यक्ति हु इसलिय सखा प्रबंधक ने लोने पास करने से मना कर दिया हे अत श्री मन जी से निबेदन हे की हमारा लोन पास करबाने की कृपा करे
ऑनलाइन प्राप्त
100
1001129110/13/2015 14:40:00राजपाल9669785474स्वास्थ्य
माननीय मुख्यमंत्री महोदय म. प्र. शासन भोपाल विषय :- प्रार्थी की पत्नी के प्रसव के एवज में नर्स आरती कविता द्वारा अवैधानिक रूप से ५००० रुपयों की मांग करने, १५०० रूपए लेने के बाद भी जबरन डिस्चार्ज कर देने से नवजात शिशु की मृत्यु होने के मामले में त्वरित कार्यवाही एवं न्याय दिलवाए जाने विषयक . महोदय, निवेदन है की दिनांक २९ जून २०१५ को प्रार्थी की पत्नी श्रीमती उर्मिला यादव को प्रसव हेतु प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र लुकवासा में भर्ती किया गया था जहां दिनांक ३० जून २०१५ सजा नर्स आरती कविता ने हमसे ५००० रूपए मांगे, हमने किसी तरह १५०० रूपए दिए तो उसने डिलेवरी तो करवा दी लेकिन शेष रूपए मिलने में देरी की वजह से जानबूझकर प्रसूता को डिस्चार्ज कर दिन एवं जबरन वहा से निकल दिया जबकि जबरन डिस्चार्ज करते समय शिशु एवं प्रसूता की हालत ठीक नहीं थी. शिशु की खराब हालत होने से हम उसे तुरंत ही सामुदायिक स्वा. केंद्र कोलारस ले गए जहां डॉ. शर्मा ने कहा की शिवपुरी या गुना ले जाओ जल्दी से जल्दी. परन्तु रास्ते में ही शिशु की मृत्यु हो गई. इस प्रकार नर्स आरती कविता के भृष्टाचार और जानबूझकर की गई आपराधिक लापरवाही के कारण मेरा शिशु जीवित नहीं रह पाया. मैंने इसकी शिकायत SDM कोलारस को दिनांक ३० जून २०१५ को एवं कलेक्टर महोदय शिवपुरी को जनसुनवाई में आवेदन दिए हैं लेकिन नयनपूर्ण कारवाही नहीं हो सकी है. अतः निवेदन है कि दोषी नर्स एवं स्टाफ के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर दंडात्मक कार्यवाही करवाने एवं प्रार्थी को न्याय दिलवाने की कृपा करें.
ऑनलाइन प्राप्त
Loading...
 
 
 
PgrSheet_870.xls
Summary