Youth Ki Awaaz Climate Correspondents Programme
Climate change is not an abstract idea anymore; its effects are palpable and only expected to accelerate. From Delhi to Dibrugarh, Indian citizens are already beginning to witness the debilitating impact of a changing climate.

With an aim to document the human story behind this unravelling crisis, Youth Ki Awaaz Climate Correspondents Programme will train a select cohort of journalists, storytellers, academicians and civil society actors in climate journalism and communication, and work with them on stories that highlight the impact of climate change on India’s most vulnerable and marginalized communities.

वर्तमान में जलवायु परिवर्तन एक काल्पनिक विचार नहीं रह गया है। जलवायु परिवर्तन के प्रभाव स्पष्ट रूप से दिखने लगे हैं। दिल्ली से लेकर डिब्रूगढ़ तक भारत का हर नागरिक पहले से ही जलवायु के कमज़ोर होते प्रभावों को देख रहा है।

इस बेहद ही पेचीदा और अनसुलझे संकट में मानवीय प्रभावों को जानने-समझने करने के उद्देश्य से Youth Ki Awaaz क्लाइमेट कॉरस्पॉन्डेंट्स प्रोग्राम का आयोजन कर रहा है, जिसमें पत्रकारों, कहानीकारों, शिक्षाविदों और नागरिक समाज के संबंधित लोगों के समूह को क्लाइमेट जर्नलिज़्म और कम्यूनिकेशन में प्रशिक्षित करेगा। वहीं, उन समस्याओं और कहानियों को भी उजागर करेगा, जहां भारत में सबसे कमज़ोर और हाशिए पर आंके जाने वाले समुदायों पर जलवायु का नकरात्मकता असर पड़ रहा है।
Sign in to Google to save your progress. Learn more
Name/ नाम *
Age/ उम्र *
Email/ ईमेल आईडी *
Phone Number/ फोन नंबर *
Location/ लोकेशन *
I am a/ पेशा *
Required
Institution Affiliated with/Organisation/ आप किस संस्था/संगठन से संबंधित हैं:
Languages Known/ किन भाषाओं की जानकारी है *
Social media (Twitter, Instagram, Facebook) handles (if any)/ सोशल मीडिया हैंडल ( ट्विटर, फेसबुक) यदि हो तो
Tell us a bit about yourself/ संक्षेप में अपने बारे में बताइए *
Have you worked in the area of climate change before or written about it? (Please provide details of work/link to stories done)/ क्या आपने जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में पहले कोई काम किया है या इसके बारे में लिखा है? (कृपया किए गए कार्यों का विवरण/कहानियों का लिंक दें।) *
Do you have any experience in editing, or conducting research? If so, please describe what kind of editing, the length of texts, what subjects, etc. (Please provide as much detail as possible) / क्या आपके पास एडिटिंग या शोध करने का कोई अनुभव है? यदि हां, तो कृपया बताएं कि किस प्रकार का संपादन किया है, लेखों की शब्द सीमा कितनी थी, विषय क्या था आदि। (कृपया विस्तृत विवरण दें)। *
Do you have any experience in writing/ journalism? Please provide details and some links to your previous work/stories that you are proud of / क्या आपको लेखन/पत्रकारिता का कोई अनुभव है? कृपया आपके द्वारा पहले किए काम/कहानियों (जिन्हें लेकर आप आस्वस्थ हैं) के विवरण के साथ लिंक्स दें।
Note: It doesn’t have to be stories with lots of views, or even on climate change. We want to see how you write and what you’ve enjoyed working on./ नोट: इसमें ज़रूरी नहीं कि आप केवल जलवायु परिवर्तन के विषय में लिखी गई कहानियां या रिपोर्ट प्रदान करें। आप अपने कार्यों और लेखों को हमसे साझा करें ताकि हम आपकी लेखन क्रिया और विषय को चुनने का आकलन कर सकें।
Which one of the following statements is the most fitting description of you?/ निम्नलिखित में से कौन सा कथन आपके लिए सबसे उपयुक्त है? *
Required
What do you feel are three things often overlooked when we talk about climate change in the Indian context? (word limit: 300 words)/ जब हम किसी संदर्भ में जलवायु परिवर्तन के बारे में बात करते हैं, तो आपको क्या लगता है कि किन तीन चीज़ों की अक्सर अनदेखी की जाती है? (शब्द सीमा: 300 शब्द) *
What has been your experience so far on working on the issue of climate change? (word limit: 200 words)/ जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर काम करने का आपका अब तक का अनुभव कैसा रहा है? (शब्द सीमा: 200 शब्द) *
What are your reasons for applying for the Climate Correspondents Programme? What do you hope to gain out of it? (word limit: 500 words) / जलवायु संवाददाता कार्यक्रम के लिए आवेदन करने के आपके क्या कारण हैं? इस कार्यक्रम के ज़रिये आपको क्या हासिल करना है? (शब्द सीमा: 500 शब्द) *
If selected, which climate related issue would you like to work on? Please detail the issue you have in mind, along with two story ideas for the same. (word limit: 500 words)/ यदि आपको इस कार्यक्रम के लिए चुन लिया जाता है, तो आप जलवायु परिवर्तन के किन मुद्दों के लिए काम करना पसंद कीजिएगा? कृपया आप इस विषय में विस्तृत विवरण दें और साथ ही साथ 2 कहानियों के विचार भी साझा करें। (शब्द सीमा: 500 शब्द) *
Extra points if the issue you want to work on is lesser talked about, lesser understood or doesn't receive the attention it deserves. We also recommend selecting an issue that you feel comfortable to step out and report on. A possible way to do this would be to select a climate change issue that you are presently studying or working on as a part of what you do, or whose impact is being experienced by communities you can talk to./ नोट- आपको अधिक प्राथमिकता दी जाएगी यदि जिस मुद्दे पर काम करने की आपकी इच्छा है, उस विषय पर बहुत कम बात की जाती है, उसे कम समझा जाता है या उस पर ध्यान नहीं दिया जाता है। इसके अतिरिक्त हम चाहते हैं उन मुद्दों का भी चयन किया जाना चाहिए जिन मुद्दों में आप सहज महसूस करते हों। इसका एक सहज तरीका यह भी हो सकता है कि क्लाइमेट चेंज के उन मुद्दों को चुनिए जिन पर अभी आपका काम जारी है या उन समुदायों के बारे में बात कीजिए जिन पर क्लाइमेट चेंज का बुरा प्रभाव पड़ रहा है।
Pitch us an idea (or two if you like!) for a community whose story you’d like to bring out, if you are selected for the fellowship (word limit: 300 words) / यदि आप इस फेलोशिप के लिए चुन लिए जाते हैं तो आप समुदाय के लिए किन दो कहानियों के विचारों को साझा कीजिएगा? (शब्द सीमा: 300 शब्द) *
Submit
Clear form
Never submit passwords through Google Forms.
This form was created inside of YouthKiAwaaz.com. Report Abuse