बोहरा समुदाय में महिला ख़तना के बारे में बात करना: एक सर्वेक्षण
For the English version, please click here: https://forms.gle/XNptXzEqKSokVLKG6
ગુજરાતીમાં વાંચવા માટે, અહીં ક્લિક કરો: https://forms.gle/hZmkmV9NEFCBcARh8

नमस्कार!

आशा है कि आप कोरोना महामारी का मुकाबला करते हुए बिलकुल स्वस्थ हैं।

पिछले कुछ वर्षों में, जैसा कि आप जानते होंगे, महिला ख़तना, ख़फ्ज़, सुन्नत या फीमेल जेनिटल कटिंग (FGC) की प्रथा बोहरा समुदाय में चर्चा का एक बड़ा विषय बन गया है। व्यक्तिगत संवाद और सामुदायिक बातचीत से लेकर व्हॉट्सऐप के ग्रुप में आदान-प्रदान और समाचार की सुर्ख़ियों तक, भारत और विश्व स्तर पर इन प्रथाओं पर काफ़ी चर्चा और वाद-विवाद हो चुका है।

इन आदान-प्रदान को बेहतर तरीके से समझने के लिए हमने एक सर्वेक्षण तैयार किया है, ताकि हम जान सकें कि समुदाय के सदस्य FGC के बारे में कैसे बातचीत करते हैं और किन चुनौतियों का सामना करते हैं। यह सर्वेक्षण सार्वजनिक आंदोलनों के प्रति दृष्टिकोण और प्रथा के पक्ष या विपक्ष में वाद-विवाद की भी विवेचना करेगा। आपकी प्रतिक्रियाओं के आधार पर हम आपके अनुभव और प्रथा के बारे में बात करने की आपकी सूक्ष्म दृष्टि पर एक अध्ययन रिपोर्ट संकलित करेंगे।

यह सर्वेक्षण
... ख़तना / ख़फ्ज़ / सुन्नत / FGC की प्रथा का पालन करने वाले समुदायों के सभी सदस्यों (पुरुष, महिला और अन्य) के लिए खुला है, जो कि 18 वर्ष से ऊपर हैं।
... पूर्णतया अज्ञातकृत है। हम आपसे किसी भी पहचान सम्बन्धित जानकारी (जैसे नाम, ई-मेल पता, आदि) के लिए नहीं पूछेंगे।
... 30 बहुवैकल्पिक और लघु उत्तरीय प्रश्नों का मिश्रण है।
... पूरा करने में आपके 15-20 मिनट लगेंगे।

यदि आपका कोई प्रश्न है और/या आप हमसे संपर्क बनाए रखना चाहते हैं, तो मुझे talkingaboutfgc@gmail.com पर लिख सकते हैं।

इस प्रथा के विषय में बात करना निश्चित रूप से आसान नहीं है, लेकिन इस बातचीत को आगे बढ़ाने में आपका अनुभव और सूक्ष्म दृष्टि बहुत सहायक सिद्ध होने वाले हैं।

बहुत बहुत धन्यवाद।


भवदीय,
रीतिका सुब्रमण्यम (PhD स्कॉलर, कैंब्रिज विश्वविद्यालय, यूके)
वासव्य महिला मंडली के नेतृत्व में और सहियो [भारत] के सहयोग से एक परियोजना पर अनुसंधान सलाहकार, ग्रैंड चैंलेजेस कनाडा द्वारा समर्थित
Next
Never submit passwords through Google Forms.
This content is neither created nor endorsed by Google. Report Abuse - Terms of Service - Privacy Policy