Registration Form
पीसीआरए द्वारा 07.02.2018 को “परिवहन क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण और पर्यावरण पर इसके प्रभाव” आयोजित कार्यशाला Workshop on “Petroleum Conservation in Transport Sector and its impact on Environment” conducted by PCRA on 07.02.2018 at PCRA, New Delhi
1. India consumed 194 MMT of Petroleum Products in the year 2016-17. Out of which, 76 MMT was diesel and 24 MMT was Motor Spirit. As per a PPAC report 70% of the HSD is consumed by transport sector. Therefore, there is an urgent need to focus on Petroleum Conservation in this sector.

१. वित्त वर्ष 2016-17 में भारत में 194 एमएमटी पेट्रोलियम उत्पादों का उपभोग किया गया। जिसमें से 76 एमएमटी डीजल और 24 एमएमटी मोटर स्पिरिट था। पीपीएसी रिपोर्ट के अनुसार 70% एचएसडी परिवहन क्षेत्र में प्रयुक्त किया जाता है। इसलिए, इस क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण पर ध्यान केंद्रित करने की तत्काल आवश्यकता है।

2. Inculcating good driving habits, amongst the drivers, offers a scope of upto 20 % petroleum conservation. Therefore, it is extremely important that all the stakeholders associated with transportation industry should be sensitized on fuel efficient driving, so that they propagate message of petroleum conservation in the transport sector.

२. ड्राइवरों के बीच अच्छी ड्राइविंग के प्रति दृष्टिकोण पैदा करने से 20% तक पेट्रोलियम संरक्षण की संभावना बनती है। इसलिए, यह बेहद जरूरी है कि सभी परिवहन उद्योग से जुड़े हितधारकों को ईंधन कुशल ड्राइविंग के बारे में अवगत कराया जाना चाहिए ताकि वे परिवहन क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण के संदेश का प्रचार कर सकें।

3. Fleet operators, Fleet/ operations/sales officers of Retail and LPG SBUs of Oil marketing companies and officers of private sector fleet owners are dealing with the stakeholders on daily basis. Conducting half day workshop on 11.10.2017 will sensitize them about the importance of petroleum conservation in transport sector and encourage them to conduct transport workshops for the transporters/drivers while discharging their duties.

३. पीसीआरए, बेड़े मालिकों, बेड़े ऑपरेटरों, सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के अधिकारियों को जागरूक करने के लिए, जो दिन प्रतिदिन परिवहन क्षेत्र के हितधारकों के साथ काम कर रहे हैं। उन्हे परिवहन क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण के महत्व के बारे में अवगत कराने के लिए पीसीआरए 11.10.2017 को अपने मुख्यालय पीसीआरए, नई दिल्ली में आधे दिन की कार्यशाला आयोजित कर रही है। इस कार्यशाला में प्रतिभगियों को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए ट्रांसपोर्टरों / चालकों के लिए परिवहन कार्यशालाएं आयोजित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

४. कार्यशाला के अंतर्गत निम्न विषय है : -
(क) पीसीआरए और ऊर्जा संरक्षण में अपनी गतिविधियां।
(ख) परिवहन परिदृश्य – चुनौतियां और अवसर।
(ग) परिवहन क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण टिप्स और तकनीक।
(घ) ईंधन दक्षता मानदंड (अतीत, वर्तमान और भविष्य)

4. Following topics in the workshop shall be covered: -

a) Petroleum Conservation Research Association and its activities in Energy conservation.
b) Transport Scenerio – Challenges, Opportunity & Vehicular pollution
c) Petroleum Conservation techniques & tips in transport sector Fuel Efficiency Norms (Past, Present & Future)

५. परिवहन क्षेत्र में पेट्रोलियम संरक्षण और पर्यावरण पर इसके प्रभाव” विषय पर 11.10.2017 को कार्यशाला का आयोजन पीसीआरए का मुख्य कार्यालय संरक्षण भवन 10, भिकाजी कामा प्लेस, नई दिल्ली में किया जाएगा

5. The workshop on “Petroleum Conservation in Transport Sector and its impact on Environment” on 11.10.2017 will be conducted at it’s headquarter located at Sanrakshan Bhavan 10, Bhikaji Cama Place New Delhi.

६. सभी तेल विपणन कंपनियों के इच्छुक एलपीजी एसबीयू के संचालन, फ्लीट और बिक्री अधिकारी तथा फ्लीट मालिक निम्न दी गयी टेम्पलेट के अनुसार कार्यशाला के लिए खुद को रजिस्टर कर सकते हैं.

6. Interested Fleet operators, operations/ fleet / sales officers of Retail and LPG SBUs of Oil marketing companies and logistic officers of private sector and fleet owners can register themselves for the workshop as per the attached template.

७. इस कार्यशाला के लिय कोई भी भागीदारी शुल्क नहीं है ।

7. There is no participation fee for this workshop

Name *
Your answer
Designation *
Your answer
Company *
Location *
Your answer
State *
Email *
Your answer
Mobile Number *
Your answer
Special Comments
Your answer
Submit
Never submit passwords through Google Forms.
This content is neither created nor endorsed by Google. Report Abuse - Terms of Service - Additional Terms