Request edit access
उपन्यास "ढाई कदम" के लिए आर्डर करें.
स्त्री विमर्श पर आधारित उपन्यास 'ढाई कदम एक स्त्री की संघर्ष कथा के साथ उसके जीवन में महीन रेशों से बुनी सामाजिक व्यवधान को रेखांकित करती है। पाठकों को आज के भौतिकता की प्राथमिकता पर आधारित समाज में स्त्री-पुरुष की बिगड़ती मानसिक विकृतियों को पात्रों के माध्यम से सहज समझ आता है। इस उपन्यास में एक संघर्षरत विद्यार्थी की समस्याओं और उसके जीवन में आ रहे मानसिक अवस्था को बखूबी लिखा गया है। एक संघर्षरत छात्र एवं उनके अभिभावक के लिए यह उपन्यास एक मार्गदर्शिका की तरह है। लेखक उपन्यास के पात्रों के माध्यम से ढोंगी बाबाओं एवं सामाजिक ढकोशलों के प्रति सचेत करता एवं स्पष्ट राय रखता है। त्रिकोणीय प्रेम के साथ - साथ समाज के अन्य संबंधों के महीन रेशों में गुथी एक भावनात्मक उपन्यास है 'ढाई कदम'। पाठक इस उपन्यास को पढ़ कर कथा कहने की एक नई विधा से परिचित होते हुए लेखक द्वारा निर्मित पात्रों को स्वयं जीने की अनुभूति प्राप्त करता है।
उपन्यास "ढाई कदम" को आर्डर कैसे करें?.
उत्तर:- उपन्यास के लिए 200 रु. भुगतान NEFT या अन्य माध्यम से निम्नलिखित एकाउंट में जमा कर एवं इस फॉर्म को भर कर , इस फॉर्म के अंत में SUBMIT बटन को क्लिक करें :-
NAME : KAJAL KIRAN
A/c No. : 088010100150781
BANK NAME : AXIS BANK
IFSC CODE : UTIB0000088
इस माध्यम से उपन्यास का मूल्य भुगतान करने पर लेखक का ऑटोग्राफ के साथ शिपिंग फ्री होगा.
(अमेज़न बुक पर उपलब्ध है. KINDLE E-BOOK के लिए लिंक: https://www.amazon.in/Kadam-Hindi-Rakesh-Kumar-Srivastava-ebook/dp/B07XGRXK63/ और PAPERBACK के लिए लिंक: https://www.amazon.in/Dhai-Kadam-Rakesh-Kumar-Srivastava/dp/9387856038/ FLIPKART https://www.flipkart.com/dhai-kadam/p/itmd38b2e642bffc?pid=9789387856035
SNAPDEAL https://www.snapdeal.com/product/dhai-kadam/673905967782 )
कृपया अपना नाम एवं पता लिखें : *
Your answer
आपका ई-मेल एड्रेस (यदि हो तो)
Your answer
Submit
Never submit passwords through Google Forms.
This content is neither created nor endorsed by Google. Report Abuse - Terms of Service