रजिस्‍ट्री सं. डी॰एल॰ – (एन)०४/०००७/२००३-०९              

सत्‍यमेव जयते     

भारत रौ राजपत्र

असादारण

भाग २ - खण्‍ड १

हक ऊं छापीजियौड़ौ


सं. ३९]                नवीं दिल्‍ली, विस्‍पतवार, अगस्‍त २७, २००९ / भादरवो ५, १९३१


इण भाग मांय न्यारा न्यारा पानां नम्‍बर दिया जावै है जिण ऊं  कै ओ संकलन न्यारा रूप ऊं राखियौ जा सकै।


कानून अर न्याव मंत्रालय

(कानूनी मैकमौ)

                             नई दिल्‍ली, गुरूवार, अगस्‍त २७, २००९/ भादरवो ५, १९३१( साका)


संसद रा इण अधिनियम ने २६ अगस्‍त २००९ ने राष्‍ट्रपति री सैमति मिळी अर औ आम जाणकारी वास्‍तै अठै छापीज रियौ है।

टाबरां रौ मुफत अर जरूरी पडाई रौ हक-२००९

२००९ री सं. ३५

[२६ अगस्‍त, २००९]

औ अधिनियम ६ ऊं १४ साल रा टाबरां ने मुफत अर जरूरी पडाई रौ हक दिरावण खातर है।

संसद मारफत भारत रा  गणतंत्र रा साठवां साल मांय पारित औ अधिनियम इण तरे ऊं है:–

                                                         पाठ १

   स़रूवाती

१. (१) इण अधिनियम ने टाबरां री मुफत अर जरूरी पडाई रौ हक २००९ कैवीजै।

(२) ओ जम्‍मू अर कश्‍मीर राज्‍य ने छोड’र सगळा भारत मांय मानीजैला।

(३) ओ उण तारीख ऊं लागू व्‍है जावै जिण तारीख ने केन्‍द्र री सरकार, इणने आपरे अधिकारिक राजपत्र रे मांय लागू करियौ।

परिभाषा

२. इण अधिनियम मांय, उण स़गळी ब़ातौ रो सही मतळब जिकौ इण मांय खास तौर ऊं मानिजै

(क)  “काबिल सरकार“ रौ मतळब, – 

(१)  केन्‍द्र री सरकार, थापीजियोड़ी इस्‍कूलां रे बाबत्, ऐक केंद्रीय सरकार कांनी ऊं नियंत्रित अर  

      संचालित, कै संघ राज्य छैत्र रौ प्रशासक, जिणरी कोई विधानसभा नीं व्‍है।

(२)  इस्‍कूलां रे बाबत्, उपखंड (i) मांय ब़ताइज्‍योड़ी इस्‍कूलां रे अलावा, प्रदेस मांय थापीजियोड़ी

        (अ) ऐक राज्‍य, राज्‍य सरकार;

        (ब) केन्‍द्र शासित प्रदेस जिणरी आपरी विधानसभा व्‍है, उण केन्‍द्र शासित प्रदेस री                                          सरकार।

(ख) “हरेक टाबर री फीस” रौ मतळब इस्‍कूल कांनी ऊं बताइज्‍योड़ी फीस रे अलावा किणी दान कै योगदान कै दूजै  

     भुगतान ऊं है।

(ग) “टाबर” रौ मतळब छ: ऊं चऊदा साल रा टाबरां ऊं है।        

(घ) “कोई तरे री सुविधा नी मिळयौड़ा तबकां ऊं जुड़योड़ा टाबर” रौ मतळब है कै जकौ टाबर अनुसूचित जाति,         

     अनुसूचित जनजाति, सामाजिक अर शैक्षिक रूप ऊं पिछड़योड़ा तबकां कै इण तरे रा तबकां जका  

     सामाजिक, सांस्‍कृतिक, आर्थिक, भौगोलिक, भाषा, लिंग अर दूजा कारणां रे असर ऊं नुक्‍साण वाळा, जैड़ा कै सरकार कांनी ऊं अधिसूचना मांय बताइज्‍योड़ा टाबर।

(ड़) “गरीब तबके ऊं जुड़योड़ा टाबर“  रौ मतळब कै जकां रा माईत कै पाळणियाँ री सालाना कमाई सरकार री अधिसूचना मांय ब़तायोड़ी कम ऊं कम कमाई ऊं ई कम व्‍है।

(च) ‘स़रूवाती पडाई’ रो मतळब है पैली ऊं आठवी तांई री पडाई।

(छ) ‘पाळणियाँ’ रो मतळब ऐक टाबर रे सम्‍बंध मांय है कै ऐक ऐड़ौ मिनख जिणरे कने वो टाबर रेवै    

     अर वो उणरौ ध्‍यान राखै अर साथै ई उणरा जनम देवणिया माईत के कचेड़ी अर कानून कानी ऊं घोषित कियोड़ा पाळणियाँ।

(ज) ‘स्‍थानीय अधिकारी’ रौ मतळब है के नगर निगम, के नगर परिषद के जिला परिषद, के नगर पंचायत, के

    पंचायत जकौ ई नाम केवीजै अर इण मांय दूजा अफसर के निकाय (महकमौ) भेळौ व्‍है, जकांरो इस्‍कूल    

   माथै प्रशासनिक पकड़ व्‍है के अबार लागू कानून कानी ऊं उणने सक्‍तियां मिळयोड़ी व्‍है के  वो

   उण कानून मांय व्‍है जकौ स्‍थानीय अफसर रे रूप मांय स़े’र, कस्‍बा कै गाँव मांय काम करे;

(झ) “टाबरां रा अधिकारौं ने रूखाळण वास्‍तै राष्‍ट्रीय आयोग” रौ मतळब २००५ री संविधान री धारा ३ रे मांय ब़णायोड़ा टाबरां रे अधिकारों  ने रूखाळण वास्‍तै आयोग।    

                                                 

                                                                                                                                  २००६ रौ ४                                                                                                                               

(ञ) “अधिसूचना” रौ मतळब है दफ्‍तर रा गजट मांय छपयोड़ी अधिसूचना।

(ट)  “माईत” रौ मतळब टाबर ने जनम देवणिया, के स़ावका के खौळै लेवणिया माँ - बाप।                                                                      

(ठ) “तै'’ रौ मतळब है उण अधिनियम रे मांय ब़णियोड़ा नियमों  रे मुजब तै करयौड़ा।

(ड) “अनुसूची” रौ मतळब है इण अधिनियम मांय जुड़योड़ी अनुसूची।

(ढ) “इस्‍कूल” रौ मतळब कोई मान्यता मिळयोड़ी इस्‍कूल जकी  स़रूवाती पडाई करावै अर स़ाथै ई –

(१) ऐक  इस्‍कूल जकी काबिल सरकार के ऐक स्‍थानीय महकमां कांनी ऊं थापीज्‍योड़ी, के पकड़ मांय व्‍है।

(२) ऐक अनुदानित इस्‍कूल जिणने आपरा खुदरा पूरा के कीं खरचां रै वास्‍तै काबिल सरकार कै अफसर कानी ऊं मदद’ अर अनुदान मिळै।

(३) ऐक ऐड़ी इस्‍कूल जकी कै बताइज्‍योड़ा दरजा ऊं जुड़योड़ी; अर

(४) ऐक इस्‍कूल जकी अनुदानित नीं व्‍है, जिणने आपरा खुदरा पूरा के कीं खरचां रै वास्‍तै सरकार के स्‍थानीय अफसर  कानी ऊं मदद अर अनुदान नीं मिळै।

(ण) ‘भरती रा तरीका” रौ मतळब व्‍है एक टाबर ने इस्‍कूल मांय भरती करावण रौ तरीकौ, जिणमै ऐक  दूजै माथै तरजीह व्‍है, जकी क्रमवार तरीका  ऊं न्यारी व्‍है ।

(त) ‘ब़ताइज्‍योड़ो दरजो’ इस्‍कूल रै बाबत् मतळब व्‍है, के ऐक इस्‍कूल केन्‍द्रीय विद्‍यालय, नवोदय विद्‍यालय, सैनिक इस्‍कूल के दूजी कोई इस्‍कूल जिकी ऐक न्यारी पैचाण राखै, जकी ऐक काबिल सरकार, अधिसूचना कानी ऊं बताइज्‍योड़ी व्‍है।

(थ) “टाबरां रे हकां ने रूखाळण वास्‍तै राज्‍य आयोग” रौ मतळब है के टाबरां रे हकां ने रूखाळण वास्‍तै ब़णयोडौ अधिनियम २००५ रा संविधान री धारा ३ रे मांय ब़णियोड़ौ टाबरां रे हकां ने रूखाळण वास्‍तै आयोग ।                                                                                                                 २००६ रौ ४

                                                                           पाठ २

                                                           मुफत अर जरूरी पडाई रौ हक

(३)(१) छ: ऊं चउदा साल रा हरेक टाबर ने घर कने री इस्‍कूल मांय स़रूआती पडाई पूरी करण तांई मुफत अर जरूरी पडाई रो हक।

(२) उपखंड (१) रा उदेश्‍य रे वास्‍तै, कोई ई टाबर री कीणी तरे री फीस, चारज कै खरचौ देवण री कोई जिम्‍मैवारी नी व्‍हैला जकी कै उणरा के उणरी स़रूवाती पडाई करण ऊं के पूरी करण ऊं रोकै।       

(टाबर रौ मुफत अर जरूरी स़रूवाती पडाई रौ हक)

जै ऐक टाबर अदगावळौ व्‍है जेड़ौ कै अदगावळां रे वास्‍तै ( बरौबर मोकौ, निंगैदास्‍ती अर पूरौ जुड़ाव) अधिनियम १९९६ री धारा २ रे अनुच्‍छेद (१) मांय ब़तायोड़ौ है, इण अधिनियम रे पाठ ५ रे प्रावधान रे मुजब  उणने मुफत अर जरूरी स़रूवाती पडाई रौ हक व्‍हैला।                                                                                १९९६ रौ १

४.  जदै ६ सालां ऊं घणी उमर रौ टाबर किणी इस्‍कूल मांय भरती नी करीजियो है, कै कर दियो है पण उणरो के उणरी स़रूवाती पडाई पूरी नी कर सकियौ व्‍है , तौ वो कै वा उणरी, उमर रे हिसाब ऊं वाजिब कक्षा मांय भरती कराय दिया जावेला।

ब़ताइजियोड़ौ है कै, जै टाबर ने सीदौ ऊणरौ के उणरी उमर रे मुजब कक्षा मांय भरती कराइज्‍यो है, तो वा कै वो ने दूजा टाबरां रे बरोबर लावण वास्‍तै खास ट्रेनिंग रो हक व्‍हैला जकी ब़ताइज्‍यौडी तरीका अर टेम मांय पूरी व्‍है जावै।

आगे ब़ताईज्‍योड़ौ है के ऐड़ौ टाबर जकौ भरती कराइज्‍यौ है वौ चऊदा साल ऊं घणी उमर रौ होवण माथै ई स़रूवाती मुफत पडाई  पूरी होवण तांई पडण रौ हक राखैला।                                                                                                                                                                                              

(भरती नी कराइज्‍योड़ा कै स़रुआती पडाई पूरी नी कर सकिया टाबरां रे वास्‍तै खास प्रावधान)

५. (१) ऐड़ी कोई इस्‍कूल जठै स़रूवाती पडाई पूरी करण रौ प्रावधान नी व्‍है तौ ऐक टाबर ने औ हक है कै वो कै वा दूजी इस्‍कूल मांय बदळी ले सकै। वो धारा (२) रा खंड (ढ़) रे उपखंड (३) अर (४) मांय ब़ताइज्‍योड़ी इस्‍कूलां ने छोड़’र खुद री स़रूवाती पडाई पूरी कर सकै।                                              

                                              (दूजी इस्‍कूल मांय बदळी रौ हक)

(२) जणै ऐक टाबर ने ऐक ऊं दूजी इस्‍कूल मांय जावण री जरूत पड़ै, भलांई वा राज्‍य मांय व्‍है के बारे, चाऐ जेड़ौ ई कारण व्‍है, ऐड़ा टाबर ने धारा(२) रा खंड (ढ़) रे उपखंड (३) अर (४) मांय ब़ताईज्‍योड़ी इस्‍कूलां ने छोड’र वा के वो  स़रूवाती पडाई पूरी करण वास्‍तै दूजी इस्‍कूल मांय बदळी लेवण रौ पूरौ हक राखेला ।

(३) ऐड़ी दूजी इस्‍कूल मांय बदळी वास्‍तै ऐड़ा टाबर री पैली वाळी इस्‍कूल जिणमैं वो भरती हो, उणरा मुखिया के हैडमास्‍टर उणने जळ्‍दी ऊं जळ्‍दी बदळी रौ प्रमाण पत्र  दे देवैला।

ब़ताइज्योड़ौ है के ब़दळी रो परमाण-पत्र देवण मांय जेज ई ऐड़ी दूजी इस्‍कूल मांय भरती नी करण रौ के जेज करण रौ आदार नीं व्‍हैला।

आगे बताइज्‍योड़ौ है के इस्‍कूल रा हैडमास्‍टर के मुखिया बदळी रौ परमाण पतर (टी०सी०) जारी करण मांय जेज करे तौ नौकरी रा कानून कायदा रे हिसाब ऊं अनुसासन री कारवाई रा जिम्‍मेवार व्‍हेला।

 

                                                       पाठ ३

                            काबिल सरकार ,स्‍थानीय मैहकमों अर माईतां रौ फरज

. इण अधिनियम रा प्रावधानां ने लागू करण वास्‍तै, इण अधिनियम रे लागू व्‍हीयां रे तीन साल रे  मांय-मांय काबिल सरकार अर स्‍थानीय मेहकमो, जठै आज तांई कोई इस्‍कूल नी थापीजी व्‍है, उण जगा रे मांय के पाड़ौस री हद रे मांय-मांय एक  इस्‍कूल थापैला, ज्‍यूं के ब़ताइज्‍योड़ौ है ।

(थापीज्‍योड़ी इस्‍कूल वास्‍तै काबिल सरकार अर स्‍थानीय मैहकमां रो फरज  )  

.(१) इण अधिनियम  रा प्रावधानां ने लागू करण वास्‍तै  धन हाजर करावण खातर केन्‍द्र सरकार अर राज्‍य सरकारां री ऐक जेड़ी जिम्‍मेवारी व्‍हेला।

(आर्थिक अर दूजी जिम्‍मैवारियां रौ ब़ंटवारौ )

(२)  इण अधिनियम रा प्रावधानां ने लागू करण वास्‍तै, केन्‍द्र सरकार पूंजी अर घड़ी-घड़ी होवण वाळा खरचां रौ खाको तैयार करैला।

(३) केन्‍द्र सरकार राज्‍य सरकारां ने अनुदान राजस्‍व रे रूप मांय उप धारा (२) रे मांय बताइजियोड़ा खरचां रो प्रतिशत रे रूप मांय राज्‍य सरकारां रे साथै सलाह कर’र तै करेला।

(४) केन्‍द्र सरकार राष्‍ट्रपति ने अरज करेला के वे धारा २८० रा खंड (३) रे उपखंड (डी) रे तै’त वित्त आयोग ने जिकर करै के राज्‍य सरकार री दूजा अनुदानां री जरूत री जांच करे, जिण ऊं कै उण राज्‍य सरकार ने इण अधिनियम ने लागू करण वास्‍तै आपरौ हिस्‍सौ हाजर करा सकै।

(५) उपधारा (४) मांय आयोड़ी बातां रे बावजूद, राज्‍य सरकार उपधारा (३) रे हिसाब ऊं केन्‍द्र सरकार ऊं मिळयोड़ा धन अर दूजा संसाधनां ने ध्‍यान में राखतां थकां इण अधिनियम रा प्रावधानां ने लागू करण वास्‍तै धन हाजर करावण खातर जिम्‍मेवार व्‍हैला।

(६) केन्‍द्र सरकार करेला-

(अ) धारा २९ रे मांय बताइजियोड़ी बातां रे मुजब अकादमिक अधिकारी री मदद ऊं राष्‍ट्रीय पाठ्‍यक्रम रौ खाकौ तै‍यार करेला।

(ब) मास्‍टरां री ट्रेनिंग रा स्‍तर ने मजबूत कर विकास करेला।

(स) नवां तरीकां ने ब़दावण वास्‍तै,खोजां,योजनावां अर ताकत बदावण वास्‍तै राज्‍य सरकार ने तकनीकि मदद अर साधन हाजर करावैला ।

८. ऐक काबिल सरकार–

(काबिल सरकार रो फरज )

(क) हरेक टाबर ने मुफत अर जरूरी स़रूवाती पडाई उपलब्‍ध करावेला :

बताजियौड़ौ है कै:

काबिल सरकार के स्‍थानीय मैहकमों कांनी ऊं थापीजियोड़ी इस्‍कूल, लियोड़ी वांरी खुदरी, पकड़ री या मजबूती ऊं स़ामी कै परपूंठ रूप ऊं धन दियोड़ी के कोई ई इस्‍कूल मांय जठै ऐक टाबर उणरा माईत कै पाळणिया कानी ऊं भरती कराइज्‍योड़ौ है, चाहै जेड़ौ ई मामलौ व्‍है, ऐड़ौ टाबर या उणरा माईत के पाळणिया उण टाबर री जरुरी स़रूवाती पडाई रो उण स्‍कूल में व्‍हीयोड़ौ खरचौ पाछौ लेवण रौ हक नी राखैला, चाहै जेड़ौ ई मामलो व्‍है ।

खुलासौ:-  “जरूरी पडाई”  सबद रौ मतळब काबिल सरकार रा ऐ फरज व्‍है-

(१) हरेक छ: ऊं चऊदा साल रा टाबर ने मुफ्‍त अर जरुरी पडाई दिरावणी, अर

(२)  हरेक छ: ऊं चऊदा सालां रा टाबरां रा जरुरी दाखिला, हाजरी अर स़रुआती पडाई ने पूरी करावण ने पक्‍कौ करणौ;

(ख) धारा ६ मांय बताइज्‍योड़ा रे हिसाब ऊं पाड़ौस री इस्‍कूल व्‍हैवण री वैवस्‍था ने पक्‍कौ करेला;

(ग)  औ पक्‍कौ करणौ कै ऐड़ा टाबर जकौ गरीब तबकां अर सुविदा नी मिळयौड़ा तबकां ऊं जुड़योड़ा है उणाने किणी आदार माथै स़रुआती पडाई पूरी करण ऊं नीं रोकियो जावेला अर कोई भेदभाव नी करियो जावेला;

(घ) बुनियादी सुविधावां रो इंतजामा करैला जिण मांय स्‍कूल रौ भवन, पडावण वाळा मास्‍टर अर स़ीखण रा उपकरण भेळा व्‍हैला;

(ड़) धारा ४ मांय बताइज्‍योड़ी खास ट्रेनिंग री सुविदा रो इन्‍तजाम

(च) हरेक टाबरां रा दाखिला, हाजरी अर उणरी स़रुवाती पडाई नै पूरी करण माथै निंगै राखैला;

(छ) अनुसूची मांय बताइज्योड़ा नियम अर कायदां रे हिसाब ऊं ऊंचै दरजै री पडाई करावण ने पक्‍कौ करेला;

(ज) स़रुवाती पडाई वास्‍तै पाठ्‍यक्रम ने टेम माथै ब़तावण ने पक्‍कौ करेला; अर

(झ) मास्‍टरां री ट्रेनिंग री स़ुविदा रो इन्त‍जाम करावैला।

(९) हरेक स्‍थानीय मैकमो, करैला-

(स्‍थानीय मैहकमा रो फरज)

(क) हरेक टाबर ने मुफत अर जरुरी स़रुआती पडाई रो इंतजाम

औ बताइज्‍यौ है कै माईत कै पाळणिया री जैड़ी ई दसा व्‍है, आपरे टाबर ने ऐक ऐड़ी न्यारी इस्‍कूल मांय भरती करावै जकी के काबिल सरकार के स्‍थानीय महकमों कानी ऊं थापीज्‍योड़ी, लियोड़ी अर खुद री  पकड़ मांय व्‍है अर स़ामी कै परपूंठ रूप ऊं सई मांय जिणने अनुदान दिरीजियोड़ौ व्‍है, तौ ऐड़ौ टाबर के उणरा माईत कै पाळणिया री जैड़ी ई दसा व्‍है , ऐड़ी इस्‍कूल मांय स़रूवाती पडाई पूरी करावण माथै व्‍हीयोड़ा खरचा ने मांगण रा हकदार नीं व्‍हैला।

(ख) धारा ६ मांय बतायौड़ा मुजब पाड़ौस मांय इस्‍कूल व्‍हैण रो इंतजाम ने पक्‍कौ करैला;

(ग) औ पक्‍कौ करणौ के, ऐड़ा टाबर जका गरीब तबकां अर सुविदा नी मिळयोड़ा तबकां ऊं जु़ड़योड़ा व्‍है, वानै किणी आदार माथै स़रूवाती जरुरी पडाई करण ऊं नी रोकीजैला, अर कोई भेदभाव नी करियो जावैला।

(घ) चऊदा सांला तक रा टाबरां री जाणकारी आपरे हल्‍कै मांय इण तरै ऊं राखैला ज्‍यूं ब़ताइज्‍यौ है।

(ड़) आपरे हल्‍कै मांय रैवणिया टाबरां रा दाखिला, हाजरी अर जरूरी स़रूवाती पडाई पूरी करावण री निंगै राखणौ पक्‍कौ करेला।

(च) बुनियादी सुविधावां रो इंतजामा करेला जिण मांय इस्‍कूल रौ भवन, पडावण वाळा मास्‍टर अर सी़खण रो सामान व्‍हैला।

(छ) धारा ४ मांय ब़ताइज्‍योड़ी खास सुविदा रो इंतजाम करावैला।

(ज) अनुसूची मांय बताइज्‍योड़ा नियम अर कायदां मुताबिक ऊंचै दरजै री स़रूवाती पडाई करावण ने पक्‍को करैला।

(झ) स़रूवाती पडाई वास्‍तै कार्यक्रम अर पाठ्‍यक्रम ने टेम माथै ब़तावणौ पक्‍कौ करेला।

(ञ) मास्‍टरां री ट्रेनिंग री री सुविदा रो इंतजाम करावैला।

(ट) बारे ऊं आयोड़ा परिवारां रा टाबरां रे दाखिला ने पक्‍कौ करेला।

(ठ) आपरे हल्‍कै मांय आवण वाळी इस्‍कूलां रे काम करण रा तरीका माथै निंगै राखैला, अर

(ड) पडाई रौ कलैण्‍डर तैयार करेला।

१०. आ माईत कै पाळणिया रो फरज व्‍हैला कै वै, टाबर ने आपरे पा’ड़ै री इस्‍कूल मांय स़रूवाती पडाई करावण वास्‍तै भरती करावैला।

(माईत कै पाळणिया  रो फरज )

११. इण सोच ऊं, तीन सालां ऊं मांय रा टाबरां नै स़रूवाती जरुरी पडाई वास्‍तै तैयार करेला अर उणारे टाबरपणा री देखभाळ अर पडाई रो इंतजाम करावैला, जठै तांई ६ साल रा नी व्‍है जावै। काबिल सरकार ऐड़ा टाबरां ने इस्‍कूल रे पैला री मुफत पडाई दिरावण रो जरूरी इंतजाम करैला।                                          

(काबिल सरकार कानी ऊं इस्‍कूल रे पैला री मुफत पडाई दिरावण रो इंतजाम )

 

                                                                   पाठ  ४

                                           इस्‍कूलां अर मास्टरां री जिम्‍मेवारियां

१२. (१) इण अधिनियम रा नियमा वास्‍तै ऐक इस्‍कूल-

(मुफत अर जरूरी पडाई रै वास्‍तै इस्‍कूल री जिम्‍मेवारियां री हद)

(क) मांय भरती कराइज्‍योड़ा टाबरां नै धारा २ रा खंड (ढ़) उपखंड (i) मांय बताइज्‍योड़ा मुताबिक उणारे वास्‍तै जरुरी अर मुफ्‍त सरुआती पडाई रो इंतजाम करावेला।

(ख) धारा २ रा खंड (ढ) रै मुताबिक एक इस्‍कूल, भरती कराइज्‍योड़ा टाबरां नै इण अनुपात मांय मुफत अर जरुरी पडाई रो इंतजाम करावैला के उणारा सालाना घड़ी घड़ी होवणिया खरचा, उणरी सालाना मदद अर अनुदान ऊं पूरा पड़ जावै। जिका कम ऊ कम उणरा पच्‍चीस प्रतिशत व्‍है।

(ग) धारा २ रा खंड (ढ) रा उपखंड (iii) अर (iv) रै मुताबिक पाड़ौस रा गरीब तबकां अर सुविधावां नी मिळयोड़ा टाबरां नै ऐड़ी कक्षा रा कुल टाबंरा री संख्या रा कम ऊं कम पच्‍चीस प्रतिशत री हद तांई पैली कक्षा मांय भरती करावैला, जठै तांई उनी मुफत अर जरुरी पडाई पूरी नी व्‍है जावै।

                भळै बताइज्‍यौ है कै धारा २ रै खंड (ढ) मांय बताइज्‍योड़ी जकी इस्‍कूल ऊं पैली री पडाई करावै तौ ऐड़ी इस्‍कूल ऊं पैली री पडाई खातर भरती वास्‍तै खंड (क) अर (ग) रा प्रावधान लागू व्‍हैला।

(२) धारा २ रा खंड (ढ) रा (iv) मांय बताइज्‍योड़ी इस्‍कूल जकी उपधारा (१) रा खंड (ग)  रा बताया मुजब मुफत अर जरुरी स़रुआती पडाई रो इंतजाम करावै, ऐड़ी इस्‍कूल नै राज्‍य सरकार री हरेक टाबर माथै करयोड़ा खरचा री हद तांई उण ऊं करियोड़ा खरचा कै टाबर ऊं लियोड़ी मूल फीस, जको ई कम व्‍है, उणनै पाछी दी जावैला, जैड़ौ नियमां मांय बताइज्‍योड़ौ है।

                  धारा २ रा खंड (ढ) रा उपखंड (झ) रै मांय बताइज्‍यौ है के हरेक टाबर माथै करियोड़ा खरचा ऊं घणौ खरचौ पाछौ नी व्‍हैला।

                  भळै बताइज्‍यौ है के ऐक ऐड़ी इस्‍कूल जिणमै पैला ऊं ई तै करीज्‍योड़ी संख्‍या मांय टाबरां नै मुफ्‍त अर जरुरी स़रुआती पडाई करावण रो फरज बताइज्‍यौ है उण आधार माथै उणनै कोई जमीं, भवन, उपकरण के दूजी सुविधावां, भलैई वे मुफत व्‍है के रियायती दरां माथै व्‍है, तौ ऐड़ी इस्‍कूल फरज ड्‍यूटी री हद तांई पाछौ खरचौ लेवण री हकदार नी व्‍हैला।  

(३) काबिल सरकार के स्‍थानीय मेहकमा ने जकी सूचना री जरूत व्‍हैला, वा सूचना हरेक इस्‍कूल उणानै देवैला, जैड़ौ ई मामलौ व्‍है।   

१३.(१) कोई ई इस्‍कूल के मिनख, टाबर ने भरती करता टेम उण टाबर ऊं के उणरा माईत ऊं के पाळणिया कनै ऊं कोई तरै री फीस नीं लेवैला अर नीं ई कोई तरै री जाँच करैला।

(भरती री टेम कोई हरेक टाबर री  फीस अर जांच नी)

(२) कोई इस्‍कूल के मिनख, उपधारा [ठ] रा प्रावधानां नै तोड़ै तौ-

(अ) कोई हरेक टाबर री फीस लेवै, तौ सजा व्‍हैला अर जुरमानौ लियौ जावैला, जकौ हरेक टाबर री  फीस रौ दस गुणा तांई व्‍है सकै,

(ब) टाबर री जांच रै बाबत् तो, उणनै जुरमानै री सजा दी जावैला जकी पेलै उल्‍लंघन माथै पच्‍चीस हजार रूपियां तांई व्‍है सकै उणरै पछै हरेक उल्‍लंघन माथै पचास हजार रूपिया जुरमानौ व्‍हैला।

१४. (१) स़रूवाती पडाई मांय भरती रा उदैस वास्‍तै, ऐक टाबर रो उमर जनम प्रमाण पत्र रै आदार माथै तै करीजेला। जको जनम, मौत, सादी-ब्‍यांव पंजीकरण अधिनियम, १८८६ रै मुताबिक व्‍है कै इण तरै रा दूजा दस्‍तावेज माथै, जैड़ौ ई बताइज्‍यौ व्‍है।

(भरती री टेम उमर रौ सबूत )

(२) उमर रौ सबूत नी व्‍हैण ऊं कोई ई टाबर भरती करीजण ऊं नी रोकियो जावैला।

१५. एक टाबर पढाई रे साल री स़रूआत मांय भरती करियो जावैला कै ब़तायोड़ा हिसाब ऊं कोई ब़चियोड़ा टेम मांय भरती करियौ जावैला।

      बताइज्‍यौ है कै बधाइज्‍योड़ै टेम रै पछै ई कोई टाबर भरती करण री मांग करै, तौ उणनै दाखिलै वास्‍तै ना नी करीजैला।

       बताइज्‍योड़ौ है कै बधाइज्‍योड़ै टेम रै पछै भरती व्‍हैवण वाळा टाबरां नै काबिल सरकार रै कांनी ऊं बताया हिसाब ऊं पूरी पडाई कराई जावैला।

(भरती री टेम कोई ना, नी)

१६. इस्‍कूल मांय भरती करयोड़ा कोई ई टाबर नै उण कक्षा मांय नी रोकियो जावैला अर नी ई इस्‍कूल ऊं बारै काडीजैला जठै तांई उणरी स़रूवाती पडाई पूरी नी व्‍है जावैला।

(लारै राखण री अर इस्‍कूल ऊं बारै काडण री मनाई)

१७.(१) कोई ई टाबर नै मानसिक कै सारीरिक सजा नी दी जावैला।

(टाबर नै मानसिक कै सारीरिक सजा री मनाई)

   (२) जकौ ई उपधारा(1) रै प्रावधानां नै तोड़ैला, वो नौकरी रै नियमां रै हिसाब ऊं अनुसासन री कारवाई रौ जिम्‍मेदार व्‍हैला।

१८.(१) काबिल सरकार कै स्‍थानीय  मैहकमा कानी ऊं थापीजियोड़ी, खुद री कै पकड़ वाळी इस्‍कूल नै छोड’र कोई इस्‍कूल जकी इण अधिनियम रै लागू व्‍हीयां पछै थापीजी है कै काम करणौ स़रू करियौ है तौ वा ब़तायोड़ै हिसाब ऊं ऐक तै तरीका ऊं अरजी देय’र मान्यता रो परमाण पत्र हासल किया बिना काम नी करैला।

(मान्याता रो परमाण पत्र हासल किया बिना कोई इस्‍कूल नी थापणी)

  (२) उपधारा (1) रै मुताबिक अधिकारी तै रूप ऊं, तै टेम मांय, तै तरीका ऊं अर दसावां रै हिसाब ऊं मान्यता रौ परमाण पत्र जारी करैला।

   बताइज्‍यौ है कै उण इस्‍कूल नै मान्यता नी दी जावैला जठै तांई वा इस्‍कूल धारा १९ रा मापदंड अर मानकां नै पूरौ नी करैला।

  (३) मान्यता री सरतां नै तोड़ण रै माथै बताइज्‍योड़ा अधिकारी लिखित मांय हुकम देय’र मान्यता पाछी ले लेवैला।

      बताइज्‍यौ है कै ऐड़ै आदेस मांय निरदेस व्‍हैला, कै ब़िना मान्यता वाळी उण इस्‍कूल रा टाबरिया, पा’ड़ै री इस्‍कूल मांय भरती कराइजैला।

       भळै बताइज्‍यौ है कै स़ुणवाई रौ ऐक मौकौ दिया बिना ऐड़ी मान्यता पाछी नी ली जावैला, उण तरीका ऊं, ज्‍यूं ़ब़ताइजी है।

(४) उपधारा (३) रै मुताबिक मान्यता पाछी लेवण री टेम ऊं ऐड़ी इस्‍कूल कोई तरै रौ काम आगै नी करैला।

(५) कोई मिनख जिकौ मान्यता रौ परमाण पतर लियां ब़िना इस्‍कूल थापै कै चलावै, कै मान्यता पाछी लियां पछै ई इस्‍कूल चलावै तौ वो जुरमानौ भरण रौ जिम्‍मैदार व्‍हैला अर, ऐड़ौ जुरमानौ ऐक लाख रूपियां तांई बधायौ जा सकै अर नियम नहीं मानण माथै हरेक दिन दस हजार रूपिया रौ जुरमानौ लागैला।

१९.(१) धारा १८ मांय कोई ई इस्‍कूल नी थापीजैला कै उणनै मान्यता नी मिळैला जठै तांई अनुसूची मांय बतायोड़ा नियमां अर कायदां नै वा इस्‍कूल पूरा नी करै।

(इस्‍्‍कूल रै वास्‍तै नियमअर कायदा)

(२) अनुसूची मैं बतायोड़ा नियमां अर कायदां रै बिना, इण अधिनियम रै सरू व्‍हियां पैली जै कोई इस्‍कूल थापीजगी है तौ, ऐड़ी इस्‍कूल नै इण अधिनियम री स़रूआत रै तीन सालां रै मांय मांय खुद रा खरचा रै माथै नियमां अर कायदां रा पाळण करण रा कदम उठाणा पड़ैला।

(३) उपखण्‍ड (२) रै मांय बताइज्‍योड़ा टेम रै मांय जै कोई इस्‍कूल नियम अर कायदा पूरा नी कर सकै तौ धारा १८ री उपधारा (1) रा बतायौड़ा अधिकारी कांनी ऊं उण इस्‍कूल री मान्यता रद्‍द कर दी जावैला। उपधारा (३) रै मांय ब़ताइज्योड़ा रै हिसाब ऊं।

(४)  उपधारा (३) रै मुताबिक मान्यता रद्‍द व्‍हिया रे टेम ऊं पछै कोई इस्‍कूल कामकाज जारी नी राख सकैला।

(५) कोई मिनख जको मान्यता रद्‍द व्‍हियां रै पछै ई इस्‍कूल नै चलावैला उण माथै जुरमानौ लागैला। जिको ऐक  लाख रूपयां तक रौ व्‍है सकै। लगौलग उल्‍लंघन जारी रैवण ऊं दस हजार रूपया हरेक दिन ब़धता रेवैला।

२०. केन्‍द्र सरकार नोटिस ऊं अनुसूची नै बदळ सकै। कोई भी नियम कायदा नै ब़धाय नै , कै हटाय नै।

(अनुसूची नै बदळण री शक्‍ति)

२१. (१)  धारा (२) रा खण्‍ड (ढ) रा उपखण्‍ड (iv) मांय बताइज्‍योड़ी इस्‍कूल रै अलावा वाळी इस्‍कूल मांय भरती टाबरां रा माईत, पाळणिया, स्‍थानीय मैहकमा मांयनूं  चुनियोड़ा प्रतिनिधियां री ऐक  इस्‍कूल प्रबन्‍धन समिति ब़णावैला। (इस्‍कूल प्रबंधन समिति ) 

बताइज्‍यौ है कै समिति रा तीन चौथाई सदस्‍य(मेंबर) टाबरां रा माईत कै पाळणिया व्‍हैला।

भळै ब़ताइज्‍यौ है कै गरीब तबकां अर सुविधावां नी मिळयोड़ा तबकां रा टाबरां रा माईत अर पाळणिया नै ई आनुपातिक प्रतिनिधित्‍व दीरिजैला।

ब़ताइज्‍यौ है कै इण समिति री आदी (पच्‍चा प्रतिशत) सदस्‍य(मेंबर) लुगायां व्‍हैला।

(२) इस्‍कूल प्रबन्‍धन समिति ऐ काम करैला जका रा नाम इण तरै ऊं रेवैला-

(अ) इस्‍कूल रा कामां री निंगै राखैला।

(ब) इस्‍कूल रै विकास री योजना ब़णावैला अर सिपारिस करैला।

(स) काबिल सरकार अर स्‍थानीय महकमौ कै कोई दूजा ऊं मिळयोड़ा अनुदानां रा सई उपयोग री निंगै राखैला।

(द) ब़ताइज्‍योड़ा दूजा कामां नै ई करैला।

२२.        (१)  धारा(२१) री उपधारा(१) मैं गठित हरेक इस्‍कूल प्रबंधन समिति ऐक इस्‍कूल विकास योजना ब़णावैला, उण तरीकै ऊं ज्‍यूं ब़ताइज्‍योड़ौ है।  

(इस्‍कूल रै विकास री योजना)

(२) उपधारा (१) मांय ब़णयोड़ी इस्‍कूल विकास योजना रो आदार काबिल सरकार अर स्‍थानीय महकमा ऊं मिळयोड़ा अनुदान अर योजनावां व्‍हैला, जैड़ी ई दसा व्‍है।

२३.         (१) कोई ई मिनख जकौ कम ऊं कम पडाई री योग्यता राखै जकी कै अकादमिक मेहकमा कानी ऊं तै करीज्‍योड़ी व्‍है, केन्‍द्र सरकार कानी ऊं हक मिळीयोड़ा नोटिस ऊं, वो मास्‍टर रा रूप मांय नियुक्‍ति री योग्यता राखैला।

 (नियुक्‍ति वास्‍तै कम ऊं कम योग्यता अर मास्‍टर री नौकरी री सरतां)

(२) जठै ऐक  राज्‍य मांय पाठ्‍यक्रम री पडाई अर मास्‍टरां नै ट्रेनिंग करावणिया काबिल संस्‍थान नी व्‍है कै उपधारा (१) रै मुताबिक बताइज्‍योड़ा कम ऊं कम पडाई री योग्यता वाळा मिनख कम व्‍है तौ केन्‍द्र सरकार नै जरूरी लागै तौ नोटिस मांय बताइज्‍यो़ड़ा मुताबिक कम ऊं कम पडाई री काबिलियत नै घटाय नै पांच साल ऊं कम टेम वास्‍तै नौकरी माथै राख सकै।

ब़ताइज्‍यौ है कै ऐक  मास्‍टर जकौ इण अधिनियम री स़रूआत माथै उपखण्‍ड (१) मांय ब़ताइज्योड़ी कम ऊं कम पडाई री काबिलियत नी राखै तौ पांच सालां रै मांय मांय ऐड़ी कम ऊं कम पडाई री काबिलियत हासल कर लेवैला।

(३) देईजण जोग तनख्‍वाह अर भत्‍ता, अर मास्‍टर री नौकरी री सरतां ब़ताइज्‍योड़ा मुताबिक व्‍हैला।

२४. (१) धारा (२३) री उपधारा (१) रै मुताबिक नौकरी माथै राखयोड़ा मास्‍टर रा काम ऐ व्‍हैला,

नाम है-(मास्‍टरां री ड्‍यूटियां अर सिकायतां रौ निपटारौ)

(क) लगातार इस्‍कूल जावैला अर टेम री पाबंदी राखैला।

(ख) धारा (२९) री उपधारा (२) रा प्रावधानां रै हिसाब ऊं कोरस पूरौ करावैला अर संचालन करैला।

(ग) बताइज्‍योड़ा टैम रै मांय पूरौ कोरस करावैला।

(घ) जरूत रै हिसाब ऊं, हरेक टाबर री स़ीखण री काबिलियत नै आंकैला अर उण हिसाब ऊं न्यारा, जै कोई व्‍है तौ वांनै पूरा करण रा निरदेस देवैला।

(ड़) टाबर री लगातार हाजरी , स़मजण री काबिलियत, स़ीखण मांय व्‍हैतोड़ी तरक्‍की अर दूजी इणू मिळती सूचनावां देवण वास्‍तै उणरा माईत अर पाळणिया रै स़ाथै लगातार बैठकां राखैला।

(च) अर बताइज्‍योड़ा ऐड़ा दूजा काम ई करैला।

(२) उपधारा (१) रै मुताबिक काम नी करण री गलती करणिया मास्‍टर, नौकरी रै कानून रै मुताबिक वे, अनुसासन री कारवाई करीजण रा जिम्‍मैदार व्‍हेला।

बताइज्‍यौ है कै ऐड़ी अनुसासन वाळी कारवाई करण ऊं पैली ऐड़ा मास्‍टर नै ,सुणवाई रौ ऐक काबिल मौकौ दीरिजैला।

(३) ज्‍यूं बताइज्‍यौ है उण हिसाब ऊं किणी मास्‍टर री किणी तरै री सिकायतां व्‍है तौ उणनै निपटायौ जावैला।

२५.  (१) इण अधिनियम रै लागू व्‍हियां रै छै: मईणा रै मांय मांय काबिल सरकार कै स्‍थानीय महकमौ अनुसूची रै मुताबिक इस्‍कूलां रै मांयनै टाबरां अर मास्‍टरां रा अनुपात नै तै करैला।

(टाबरां अर मास्‍टरां रौ अनुपात)

      (२) उपधारा (१) रै मुताबिक टाबरां अर मास्‍टरां रा अनुपात नै बणाय’र राखण रा उद्‍देस खातर कोई इस्‍कूल मांय लागौड़ा मास्टरां नै दूजी इस्‍कूल कै आफिस कै ब़िना पडाई वाळा कामकाजां वास्‍तै नी भेजियौ जावैला, धारा २७ मांय बताइज्‍योड़ा निरदेसां नै छोड’र।

२६. ऐक थापीजियोड़ी, खुदरी पकड़ वाळी कै काबिल सरकार के स्‍थानीय मेहकमा कानी ऊं,  स़ामी के परपूंठ थोड़ाक रूप ऊं अनुदानित इस्‍कूल रा नियुक्‍त करण वाळा अफसर औ पक्‍कौ करैला कै उण रै हक मांय आवण वाळी इस्‍कूल मांय, मास्‍टरां री भरती, कुल मंजूर पद संख्‍या रै दस प्रतिशत ऊं घणी नी व्‍हैला।

 (मास्‍टरां री खाली जगावां नै भरणी)

२७. हरेक दस बरस वाळी जनगणना, अकाळ राहत वाळा काम कै स्‍थानीय मेहकमा कै राज्‍य विधानसभा के संसद रा चुनावां रा कामां ने छोड’र कोई ई बिना पडाई वाळा कामकाज रा उद्‍देस ऊं नी भेजियौ जावैला, चाऐ जैड़ौ ई मामलो व्‍है।

(बिना पडाई वाळा कामकाज  खातर मास्‍टरां नै भेजण री माथै रोक )

२८. कोई ई मास्‍टर / मास्‍टराणी खुद नै पराइवेट टूसण कै पराइवेट पडाई वाळा काम मांय नी लगावैला।

(मास्‍टर नै पराइवेट टूसण री मनाई)

 पाठ- ५

                                             पाठ्‍यक्रम अर स़रूवाती पडाई रौ निपटारौ  

२९. (१) काबिल सरकार कानी ऊं नोटिस दे’ने ब़णायोड़ा पडाई वाळा महकमा पाठ्‍यक्रम अर स़रूवाती पडाई नै आंकण वाळा तरीका नै लागू करैला।

(पाठ्‍यक्रम अर आंकण रो तरीकौ)

(२) पडाई वाळा अफसर उपधारा (१) रै मुताबिक पाठ्‍यक्रम अर आंकण वाळा तरीका लागू करता टेम ऐ बातां ध्‍यान मांय राखैला, जकां रा नाम है-

(क) संविधान मांय थापीजियोड़ा मूल्‍यां ऊं ऐक रूपता

(ख) टाबर रौ चारूंमैर विकास

[ग]  टाबर रौ ज्ञान, उणरी मांयली ताकत अर प्रतिभा नै बढावणौ

(घ) शरीर अर मन वाळी काबिलियतां रौ पूरी हद तांई विकास

(ड़) टाबर रै हिसाब री अर टाबर नै बिचै राख’र करीजण वाळा तरीकां ऊं काम करावणा, खोज अर  जांच पड़ताल ऊं स़ीखावणौ।

(च) स़ीखावण रौ तरीकौ उणरी मायड़ भासा मांय अर वैवारिक व्‍हैला।

(छ) टाबर नै डर, सदमौ अर चिंता ऊं आगौ राखैला अर टाबरां नै वांरा विचारां मांय बोलण री आजादी                 राखैला।

(ज) टाबरां रै ज्ञान नै स़मजण अर उणनै लगौलग आंकण रौ काम मोटा इस्‍तर माथै करीजैला।

३०. (१) कोई ई टाबर नै  स़रूवाती पडाई पूरी करण ऊं पैली बोर्ड री कोई परीक्षा पास करण री जरूत नी व्‍हेला।

(२) हरेक टाबर जको स़रूवाती पडाई पूरी करैला उनै बताइज्योड़ै तरीकै अर हिसाब मांय परमाण पत्र दीरिजैला।

(परीक्षा अर  पूरी पडाई रौ प्रमाण पत्र)

                                              पाठ- ६

                                        टाबरां रा हकां री रूखाळी

३१. (१) टाबरां रै हकां नै रूखाळणियां आयोग रौ अधिनियम, २००५ री धारा ३ मांय बणयोड़ा टाबरां रा हकां रौ रूखाळौ राष्‍ट्रीय आयोग, जेड़ौ ई मामलौ व्‍है, धारा १७ मांय बणयोड़ा टाबरां रा हकां रा रूखाळणिया राज्‍य आयोग इण अधीनियम मांय ब़तायोड़ा कामां रै अलावा ऐ काम ई करैला-(२००६ रौ ४)                                        

               (टाबरां रे पडाई रा हक री निंगै)

(क) इण अधिनियम मुताबिक ब़तायोड़ा हकां रा रूखाळां उपायां ने जांचेला अर परखैला अर उणानै सई                 तरीकै ऊं लागू करण वास्‍तै मापदंड ब़णावेला।

(ख) मुफत अर जरूरी टाबरां री पडाई रा हकां रे बाबत् सिकायतां री जांच करैला, अर

[ग] टाबरां रै हकां नै रूखाळण वास्‍तै अधिनियम मांय बणयोड़ा आयोग री धारा १५ अर २४ मांय ब़ताया                 मुताबिक जरूरी कदम उठावैला।

(२) उपधारा (१) रा खंड [ग] रै मुताबिक टाबरां रा मुफत अर जरूरी स़रूवाती पडाई रा हकां रै बाबत् कोई मामला री जांच करती टेम एड़ा आयोगां नै वैड़ा इज हक व्‍हैला जका टाबरां रा हकां रा रूखाळा अधीनियम रा आयोगां री धारा १४ अर २४ मांय दीरीजि‍या है।  

(३) जठै टाबरां रा हकां नै रूखालण वाळौ राज्‍य आयोग नी ब़णयोड़ौ व्‍है उण राज्‍य मांय काबिल सरकार उपधारा (१) रा खंड (क) ऊं [ग] तक मांय ब़तायोड़ा कामां नै करण वास्‍तै एक कमेटी ब़णावैला, जिण तरीका ऊं बताइज्‍योड़ी है वां तरीकां अर सरतां रै हिसाब ऊं।

३२.(१)  धारा (३१) मांय वैवण रै बावजूद ई जै कीणी मिनख नै आपरै टाबर रै हक ऊं जुड़योड़ी कोई सिकायत व्‍है तो इण प्रावधान रै हिसाब ऊं लिखित मांय न्‍याव वाळा हलका रा उण जगा रा मेहकमा नै सिकायत कर सकै।

(सिकायतां रौ निपटारौ)   

(२) उपधारा (१) मांय मिल्‍योड़ी सिकायत रै पछै स्‍थानीय मेहकमो मामला ऊं जुड़ियोड़ा धड़ां नै स़ुणवाई रौ मौकौ दिया पछै तीन मईना रै मांय मांय मामला रौ फैसलौ देवैला।

(३) स्‍थानीय मेहकमा रा फैसला ऊं जै कोई मिनख राजी नी व्‍है तौ वो धारा (३१) रा उपखंड (३) मांय बताइज्‍योड़ा हिसाब ऊं टाबरां रा हकां रा रूखाळा राज्‍य आयोग नै कै अफसर नै अपील कर सकै, जैड़ौ ई मामलो व्‍है।

(४) उपधारा (३) रे हिसाब ऊं करियोड़ी शिकायत रो फैसलो टाबरां रा हकां री रूखाळी राज्‍य आयोग कै अफसर  जकौ ई धारा (३) मांय बताइज्‍योड़ा  है , जेड़ौ ई मामलौ व्‍है, धारा (३१) री उपधारा (१) रा खंड [ग] मांय बताइज्‍योड़ा रे हिसाब ऊं करेला ।

३३.(१) अधिसूचना जारी कर नै केन्‍द्र सरकार ऐक ऐड़ी राष्‍ट्रीय सला’कार परिसद ब़णावैला जिण मांय सदस्‍यां री संख्‍या १५ ऊं घणी नी व्‍हैणी चईजै। कैन्‍द्र सरकार रै हिसाब ऊं ईण मांयनै उणीज सदस्‍य नै चुणनौ चाईजै जिणनै स़रूवाती पडाई अर टाबरां रै हकां अर टाबरां रै विकास री बातां रौ ज्ञान अर वैवारिक जाणकारी व्‍है।

(राष्‍ट्रीय सला’कार परिसद रौ संविधान)

(२) राष्‍ट्रीय सला’कार परिसद रौ काम केन्‍द्र सरकार नै अधिनियम मांय बणियोड़ा प्रावधानां नै सई तरीका ऊं लागू करण री सला’ देवणौ है।

(३) राष्‍ट्रीय सला’कार परिसद मांय चुणयोड़ा सदस्‍यां रौ भत्‍तौ अर दूजी सरतां अधिनियम मांय बताइज्‍योड़ा हिसाब ऊं इज व्‍हैला।  

३४. (१) राज्‍य सरकार अधिसूचना जारी कर’र ऐक ऐड़ी राज्‍य सला’कार परिसद ब़णावैला जिण मांय सदस्‍यां री संख्‍या १५ ऊं घणी नी व्‍हैणी चईजै , कैन्‍द्र सरकार रै हिसाब ऊं इण मांयनै उणीज सदस्‍य नै चुणनौ चईजै जिनै  स़रूवाती पडाई अर टाबरां रै हकां रा अर टाबरां रै विकास री बातां रौ ज्ञान अर वैवारिक जाणकारी व्‍है।

(राज्‍य सला’कार परिसद रौ संविधान)

(२)   राज्‍य सला’कार परिसद रौ काम राज्‍य सरकार नै अधिनियम मांय ब़णियोड़ा प्रावधानां नै सई तरीका ऊं लागू करण री सला’ देवणौ है।

(३) राज्‍य सला’कार परिसद मांय चुणयोड़ा सदस्‍यां रौ भत्‍तौ अर दूजी सरतां अधिनियम  मांय ब़ताइज्‍योड़ा हिसाब ऊं इज व्‍हैला।

पाठ ७

                                                           फुटकर

३५. (१) केन्‍द्र सरकार रै कानी ऊं जारी करियोड़ा अधिनियम रा प्रावधानां मांय ब़ताइज्‍योड़ी ब़ातां नै काबिल सरकार अर स्‍थानीय मेहकमो इण तरै ऊं लागू करैला जिण तरै ऊं सई स़मज अर प्रयोजन ब़तायोड़ा है, जैडौ ई मामलौ व्‍है।

 (दिसा निरदेस देवण री सक्‍ति)

(२) काबिल सरकार रै कांनी ऊं जारी, करियोड़ा दिसा-निरदेस जकां कै स्‍थानीय मेहकमा अर इस्‍कूल प्रबंधन समिति दोनां रे वास्‍तै अधिनियम रा प्रावधानां रै हिसाब ऊं व्‍है, लागू व्‍हैला।

(३) इण अधिनियम रा प्रावधाना ऊं स्‍थानीय मेहकमा कानीं ऊं जारी करयोड़ा संबंधित अर ऐड़ा दिसा निरदेसों ने इस्‍कूल प्रबंधन समिति लागू करैला।

३६. अधिसूचना देय’र काबिल सरकार कांनी ऊं ब़तायोड़ा हिसाब ऊं, इण काम वास्‍तै लगायोड़ा अफसर कानी ऊं पैली जारी करयोड़ा रै अलावा, धारा १३ री उपधारा [२], धारा १८ री उपधारा [५], अर धारा १९ री उपधारा [५] रै मांय थापीजियोड़ा केड़ा ई अपराध रे वास्‍ते दियोड़ा अभियोजन सजा रै लायक नीं व्‍हैला।

(अभियोजन धड़ा रै वास्‍तै पैली ऊं मंजूरी )

३७. केन्‍द्र सरकार, राज्‍य सरकार, टाबरां रा हकां रा रूखाळा राष्‍ट्रीय आयोग, टाबरां रा हकां रा रूखाळा राज्‍य आयोग, स्‍थानीय मेहकमो , इस्‍कूल प्रबंधन समिति कै कोई मिनख जका कै चोखी नीत ऊं अर भला वास्‍तै इण अधिनियम रा कानून कायदा नै लागू करण वास्‍तै काम करै, वांरै खिलाफ कोई तरै रौ मुकदमौ अर कानूनी सु़णवाई नी व्‍हैला।

(भला वास्‍तै करियोड़ी कारवाई रौ बचाव)

३८.(१)  अधिसूचना जारी कर’र काबिल सरकार इण अधिनियम नै आगै लागू करण खातर कानून ब़णावैला।

(काबिल सरकार री नियम बणावण री सक्‍तियां)  

(२) खास तौर ऊं जारी करियोड़ा हकां री व्‍यापकता माथै ऊंदौ असर पटकियां ब़िना सबां रै वास्‍तै ऐड़ा नियम अर नीचै दियोड़ा मामला, इण तरै ऊं है-

(क) धारा ४ रा पैला प्रावधान रै मुताबिक इण रै वास्‍तै खास ट्रेनिंग अर मियाद तै करैला।

(ख) धारा ६ मांय पा’ड़ै री इस्‍कूल नै थापीजण री हद अर क्षैत्र।

(ग)  धारा ९ रा खंड (घ) मांय १४ साल तक री उमर रा टाबरां रै रिकॉर्ड नै संभाळ’र राखण रौ तरीकौ।                                                          (घ) धारा १२ री उपधारा (२) मांय, खरचा नै पाछौ देवण री हद अर तरीकौ।

(ड़) धारा १४ री उपधारा (१) मांय टाबर री उमर तै करणियो दूजौ कोई कागद।

(च)  धारा १५ मांय, भरती वास्‍तै ब़दायोड़ै टेम पछै पडाई पूरी करावण रौ तरीकौ।

(छ) धारा १८ री उपधारा (१) मांय अफसर, फारम अर मान्यता पावण खातर अरजी देवण रौ तरीकौ।

(ज) धारा १८ री उपधारा (२) मांय मान्यता रौ प्रमाण पत्र जारी करण वास्‍तै फारम, टेम, तरीकौ अर दसावां।

(झ) धारा १८ री उपधारा (३)  रा दूजा प्रावधान मांय, सु़णवाई रौ मौकौ देवण रौ तरीकौ।

(ञ)  धारा २१ री उपधारा (२) रा खंड (घ) रै मांय इस्‍कूल प्रबंधन समिति रा दूजा करीजण वाळा काम।

(ट) धारा २२ री उपधारा (१) मांय, इस्‍कूल रै विकास री योजना बणावण रौ तरीकौ।

(ठ) धारा २३ री उपधारा (३) मांय, मास्‍टरां ने देवण जोग तिनख अरं भत्‍ता अर वांरी सेवा री सरतां ।

(ड) धारा २४ री उपधारा (१) रा उपखंड (च) मांय मास्‍टरां री करण वाळी ड्‍यूटियां।

(ढ) धारा २४ री उपधारा (३) मांय, मास्‍टरां री सिकायतां रौ निपटारौ।

(ण) धारा ३० री उपधारा (२) रै मांय स़रूवाती पडाई पूरी करियां पछै दीरीजण वाळौ प्रमाण पत्‍तर रौ फारम अर तरीकौ।

(त) धारा ३१ री उपधारा (३) मांय अधिकारी, उणरै संविधान रौ तरीकौ अर उणरा नियम अर सरतां।

(थ) धारा ३३ री उपधारा (३) रै मांय, राष्‍ट्रीय सला’कार परिसद रा सदस्‍यां नै नियुक्‍त करण वास्‍तै भत्‍ता अर दूजी सरतां।

[द] धारा ३४ री उपधारा (३) मांय, राज्‍य सला’कार परिसद रा सदस्‍यां नै लगावण वास्‍तै भत्‍ता अर दूजी सरतां।

(३) केन्‍द्र सरकार कानी ऊं धारा (२०) अर (२३) रै मांय इण अधिनियम रा ब़णियोड़ा हरेक नियम अर हरेक जारी करियोड़ी अधिसूचना ब़णतां ई जळ्‍दी ऊं जळ्‍दी, संसद रा हरेक सदन मांय जणै सत्र चलतौ व्‍है जको कै ३० दिन रौ व्‍है, कै दौ कै घणा सफल सत्रां मांय भैळौ व्‍है, राखीजैला। अर जै पैली ब़ताइज्‍योड़ा सत्र खतम व्‍हैण ऊं पैला तुरत दूजा सत्र व्‍है जणै अर सफल सत्र मांय दोनू सदन जै उण अधिसूचना अर नियम नै बदळण वास्‍तै राजी व्‍है कै, दोनू सदन नी मानै तौ जैड़ौ ई मामलौ व्‍हैला वो नियम, वा अधिसूचना उनै पछै उण इज नंवा बदळयोड़ा रूप मांय काम मांय आवैला कै नी आवैला। तौ ई ऐड़ौ कोई रद्‍द करणौ कै बदळाव पैला रा बणयौड़ा नियमां रै तै’त, खराब असर पटकियां ब़िना करिजैला, उण नियम अर अधिसूचना रै हिसाब ऊं।

(४) राज्‍य सरकार कानी ऊं ब़णन वाळा हरेक नियम कै अधिसूचना नै इण अधिनियम रै हिसाब ऊं जळ्‍दी ऊं जळ्‍दी बणतांई राज्‍य विधान सभा रै स़ामी रखीजैला।

                                                           

 अनुसूची

                                                         (देखौ धारा १९ अर २५)

                                     

     ऐक  इस्‍कूल रै वास्‍तै नियम अर कायदा

क्रम सं.                                मद                                                                              नियम अर कायदा

१            मास्‍टरां री संख्‍या

(क) पैली ऊं पांचवी कक्षा           तांई                    भरती टाबरिया                                    मास्‍टरां री संख्‍या

             साठ  तांई                                              दो

इकसठ ऊं नब्‍बै रै ब़िचै                                     तीन

इकराणु ऊं ऐक  सौ बीस                                      च्‍यार

रै बिचै

ऐक  सौ इक्‍कीस ऊं दौ                                       पांच

सौ रै बिचै

डैड सौ ऊं उपरै व्‍है तौ                                          पांच+ हैडमास्‍टर

दौ सौ ऊं जादा टाबर                              टाबरां अर मास्‍टरां रौ

अनुपात ४० ऊं घणौ नी

व्‍हैला ( हैडमास्‍टर नै

छोड’र)

(ख) छठी ऊं आठवी  तांई                (१) कम ऊं कम हरेक कक्षा मांय ऐक मास्‍टर

                                                    जिण ऊं कै हरेक कक्षा मांय ऐक मास्‍टर

व्‍हैला-        

(i) विज्ञान अर गणित

(ii) सामाजिक विज्ञान

(iii)  भासा रा

                                                     (२) हरेक पैंतीस टाबरां माथै कम ऊं कम ऐक  मास्‍टर।

                                                     (३) जठै सौ ऊं बत्‍ता टाबर भरती व्‍है-

(i) ऐक  पूरै टेम वाळा हैडमाट्‍साब

(ii) थौड़ै टेम वाळौ  स़िखावणियौ

(अ) कला री पडाई

(ब) स्‍वास्‍थ्‍य अर शारीरिक पडाई

(स) काम री पडाई

२.         भवन                                हरेक मौसम रै हिसाब रौ भवन जकौ

                                        बणयोड़ौ व्‍है-

                                                (i) ऐक  माड‍साब वास्‍तै ऐक  कक्षा अर हैड

                                                मास्‍टर वास्‍तै ओफिस कै इस्‍टोर कै हैड

                                                मास्‍टर रौ कमरौ।

                                        (ii) बिना रूकावट प्रवेश।

                                                (iii) छोरा अर छोरियां वास्‍तै न्यारा न्यारा

गुसलखाना।

(IV) सब टाबरां वास्‍तै पीवण रा पाणी री बड़िया सुविधा।

(v) ऐक  रसोई जठै दोपार रौ खाणौ ब़णायौ जाय सकै।

(vi) मैदान

(vii) तारबंदी कै हत्‍था ऊं इस्‍कूल रा भवन री सुरक्षा रो इंतजाम।

३. काम रा दिनां री कम ऊं कम संख्‍या/        (i) पैली ऊं पांचवी तक दो सौ काम वाळा दिन

ऐक पडाई रा साल रै मांयला प्रशिक्षण         (ii) छठी ऊं आठवी तक दो सौ बीस काम आळा

रा कम ऊं कम घंटा                                   दिन

(iii) पैली ऊं पांचवी तक हरेक पडाई रा साल रै मांय  पडाई रा आठ सौ घंटा

(iv) छठी ऊं आठवी तक हरेक अकादमिक साल रै मांय पडावण,                 स़िखावण रा ऐक हजार घंटा

४. मास्‍टर वास्‍तै हप्‍ता मांय काम रा कम        पड़ावण रै स़ाथै इज तैयारी रा पैंताळीस घंटा         ऊ कम घंटा

   ऊं कम घंटा  

५. पडण-स़ीखण रा उपकरण                    हरेक कक्षा री जरूत रै हिसाब ऊं इंतजाम कर दीयौ

जावैला

                                    

६. पुस्‍तकालय                                    हरेक इस्‍कूल मांय ऐक  पुस्‍तकालय व्‍हैला जिण

                                                मांय अखबार, पत्रिकावां, हरेक विषय री

किताबां अर बातां री किताबां ई व्‍हैला।

७. रमण रौ समान, खेल अर रमण                 हरेक कक्षा री जरूत रै मुताबिक इंतजाम

    रा उपकरण                                    करिजैला।  

                               टी. के. विस्‍वनाथन

                             भारत सरकार रा सचिव