रजिस्‍ट्री सं. डी॰एल॰ – (एन)04/0007/2003–05                                                  

भारत रौ राजपत्र

असाधारण

भाग 2 - खण्‍ड 1

हक ऊं छापिजियोड़ो


सं. 25]                                नवी दिल्‍ली, मंगलवार, जून 21, 2005/ जे‍ठ    1927


इण भाग मांय न्यारां-न्यारां पाना नम्‍बर दियो जावे है जिण ऊं औ संकलण न्यारा रूप ऊं राखियौ जा सकै।


कानून अर न्याव मंत्रालय

(कानूनी महकमौ)

नवी दिल्‍ली, जून 21, 2006/ जे, 1927( साका)


संसद रौ औ अधिनियम 15 जून 2005 नै राष्‍ट्रपति री सैमति प्राप्त‍ करियौ, अर औ आम सूचना वास्‍तै अठै प्रकासित कियौ जा रियौ है:-

सूचना रौ अधिकार अधिनियम - 2005

[2005 रौ अधिनियम  संख्‍या- 22 ]

                                                                                                               [15 जून 2005]

हरेक जनता रा प्राधिकारी रे कार्य करण में पारदर्शिता अर पालण करण रे वास्‍तै, जनता रा प्राधिकारियों रे नियंत्रण मांय आवण वाळी सूचना ताँई पहुँच तय करण रे वास्‍तै नागरिकों ने सूचना रो अधिकार री वैवारिक सासन पद्धति स्‍थापित कर’र, एक क्रेन्‍द्रिय सूचना आयोग अर राज्‍य सूचना आयोग री थापना करणै अर उणऊँ जुड़योड़ा विषयों रो उपबंध करण रे वास्‍तै मांयियम

भारत रे संविधान ने जनता रातंत्रात्‍मक गणराज्‍य री थापना किधी।

अर जनता रातंत्र पडियोड़ा नागरिक वर्ग अर ऐड़ी सूचना री पारदर्शिता री अपेक्षा करै। जिकौ वांरे कामकरण अर भष्‍ट्राचार ने रोकण रे वास्‍तै ई अर सरकारों अर उणरै समाज रे कांनी जिम्‍मेवार ब़णावण वास्‍तै जरूरी है।

अर असली वैवहार मांय सूचना रो ब़तावणे ऊं व्‍हे सके दूजा जनता रा फायदा, जिणरै मांयनै सरकार रा बड़िया चलावण वाळा राज्‍य रा धन वाळा संसाधनों रो घणाकर काम लेवणो अर स़ुजाग सूचना री गोपनीयता ने ब़णावण राखणौ ई है, रे स़ाथे विरोध व्‍है सकै।

अर जनता रातंत्रात्‍मक  रा आदर्श री प्रभुता ने बणावण राखता थका इण विरोधी फायदा ब़िचे ताळमेळ ब़णावणौ आवश्‍यक व्‍है।

इण वास्‍ते अबै ओ ठीक व्‍हैला के ऐड़ा नागरिकां ने, थोड़ी सूचना देवण रे वास्‍तै, जका उनै पावण रा चाऊ है, मुकर करियौ जावै।

भारत गणराज्‍य रे छप्‍पनवें साल मांय संसद कानी ऊं ईण रूप में हेठै लिखियोड़ो कानून औ है :-

पाठ 1

पैलपांत

                                                            [छोटौ नाम, विस्तार अर स़रूआत  side notes]

1 [1] ओ अधिनियम सूचना रो अधिकार अधिनियम 2005 रे नाम ऊँ जाणियौ जावेला।

   [2] इण अधिनियम रौ विस्‍तार जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍यै रे अलावा पूरे भारत माय लागू  व्‍है।

   [3] धारा 4 री उपधारा (1) धारा 5 री उपधारा 1 (2) धारा 12, धारा 13, धारा 15, धारा 16, धारा 24,

   धारा 27 अर धारा 28 रे उपबंध तुरत सगती ऊँ लागु व्‍हैला अर इण अधिनियम रा ब़चियोड़ा उपबंध इण

  रे लागू व्‍हीया रे एक सौ बीसवां दिन लागू व्‍हेला।                              

                                                परिभासावां   [side notes]    

2 इण अधिनियम मांय जठे तांई के इण मामला रे अलावा इण री दूजी ठौड़ जरुरत नीं व्‍है।    

   (क) “काबिल सरकार “ रो मतळब एक जनता रा मेकमा रे संबंध मांय जिको थापिजियोड़ौ, संविधान ऊं ब़णियोड़ौ, खुद री पकड़ रो के स़ामी के परपूट अच्‍छौ खासौ धन वाळौ हाजर करीयौड़ौ ।

   [1] केन्‍द्रीय सरकार के संघ राज्‍य क्षेत्र प्रशासन कानी ऊं थापिज्‍योड़ी , केन्‍द्र री सरकार ।

 

   [2] राज्‍य सरकार कानी ऊं  राज्‍य सरकार ।

  (ख) केन्‍द्रीय सूचना आयोग रो मतळब,”केन्‍द्रीय सूचना आयोग” री धारा (12) री उपधारा [1] रे मांय

    थापियोड़ी केन्‍द्रीय सुचना आयोग व्‍है।

    [ग] “केन्‍द्रीय जनता रा सुचना अफसर”  रो मतळब केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसर उप-धारा [1] रे मांय नामित व्‍हैला ।

    (घ) “मुख्य‍ जनता रा सुचना अफसर अर सुचना अफसर” रो मतलब मुख्‍य जनता रा सुचना अफसर अर

सूचना अफसर उणारी नियुक्‍ति धारा [12] री उपधारा [3] रे मांय व्‍हैला।

[ड़] “ समर्थ प्राधिकारी” रो मतलब

    [1] लोकसभा के किणी राज्‍य री विधान सभा री के किणी ऐड़े संघ राज्‍य क्षैत्र री, जिण मांय ऐड़ी सभा व्‍है, जिणरौ अध्‍यक्ष, राज्‍य सभा, विधान परिषद् रो अध्‍यक्ष।

        [2]  सुप्रीम कोर्ट री दशा में भारत रा खास न्यायमूर्ति ,

        [3]  हाइ कोर्ट री दशा में हाइ कोर्ट रा खास न्यायमूर्ति,

        [4] संविधान रा के उणरे मांय थापिज्‍योड़ा के पछै  किणी दूजा ब़णायोड़ा प्राधिकरण री दशा मांय, राष्‍ट्रपति के राज्‍यपाल,

[5] संविधान रा अनुच्‍छेद 239 रे मांय नियुक्‍त  प्रशासक,

[च] “सूचना” रो मतळब किणी ई तरीका ऊं इलेक्‍ट्रोनिक माध्‍यम ऊँ बणियोड़ा अभिलेख, दस्‍तावेज, ज्ञापन, ई-मेल, मत, सलाह, प्रेस विज्ञप्‍ति, परिपत्र, हूक्‍म, लागबुक, संविदा, रिपोर्ट, कागजपत्र, नमूना, माडल, आंकड़ों संबंधी सामग्री अर किणी प्राइवेट निकाय ऊं जुड़योड़ी कोई ऐड़ी सूचना स़मेत जठे तांई किणी दूजा कानून रे मांय किणी जनता रा अफसर री पौंच व्‍हे सकै।

[छ] “कानून ऊं पक्‍कौ करियोड़ौ” रो मतळब समुचित सरकार के काबिल अफसर रे कानी ऊं अधीनियम रे मारफत ब़णायोड़ा नियम ऊं है।

[ज] “जनता रा  अफसर” रो मतळब - किणी मेहकमा के संगठन के खुदरी सरकार कानी ऊं थापिज्‍योड़ौ संस्‍थान, के

(क) संविधान कानी ऊं ब़णयोड़ो के उणरे मारफत ,

(ख) संसद कानी ऊं बणायोड़ा किणी दूजा कानून रे मारफत

(ग) राज्‍य विधान-मंडल कानी ऊं ब़णायोड़ा किणी दूजा कानून रे मारफत

(घ) काबिल सरकार कानी ऊं जारी करियोड़ा के ब़णायोड़ा निरदेस, इण मायने  कोई -

(।) संगठन जिको केन्‍द्र सरकार रो खुद रो , पकड़रो के अच्‍छो खासो दियोड़ा धन ऊं हाले है ।

(।।) दियोड़ा गैर सरकारी संगठन है जिको काबिल सरकार कानीं ऊं स़ामी कै परपूठ हाजर करायोड़ा धन ऊं हाले ‍है।

[झ] रेकार्ड मांय ऐ स़ेंग भैळा है-

        (क)  किणी तरै रा दस्‍तावेज , पाण्‍डुलिपि अर फाइल,

        (ख) किणी दस्‍तावेज री कोई टेप , माइक्रोफिशे अर दस्‍तावेज री कोपी,

            (ग)  ऐड़ी माइक्रोफिल्‍म मांय फोटवा  री कोपी कै  फोटवां  रो पाछौ बणावणौ (भलांई मोटो व्है कै नीं व्‍हे), अर

        (घ) किणी कम्‍पयूटर ऊं के किणी दूजा मशीन ऊँ ब़णायोड़ी चीज,

[ञ] ़ूचणा रा अधिकार” रो मतळब इण कानून रे मांय ऐड़ी ब़तावण जोग स़ूचणा ऊँ है जिकौ किणी अफसर कानी ऊं अर उणरै अधिकार में आवै, जिण मायं  हेठै  ब़तायोड़ा रो अधिकार आवे-

        (1) काम, दस्‍तावेज अर रेकार्डों रो निरीक्षण,

        (2) दस्‍तावेजों के अभीलेखौं री टीपणी अर सार के दस्‍तावेजां री प्रमाणित(अटेस्‍टेड) करयोड़ी कोपी,

        (3) प्रमाणित सामग्री रो नमूनो  लेवणौ,

    (4) किणी कम्‍पयूटर के किणी दूजा उपकरण ऊँ भेळी करयोड़ी सूचणा ऊँ है, ज्‍यूके- डिस्‍केट, फ्‍लोपी, केसीट, विडियो, टेप अर किणी दूजा बिजळी रा माध्‍यम ऊं के पछै  मशीन ऊ प्रिन्‍ट आउट करयोड़ी फोटो कोपी ;

[ट] “राज्‍य स़ूचना आयोग” रो मतळब धारा 15 री उपधारा (1) रे मांय थापिज्‍योड़ा राज्‍य सूचना आयोग है।

[ठ] “राज्‍य मुख्‍य स़ूचना आयुक्‍त” रो मतळब धारा 15 री उपधारा (3) रे मांय बणायोड़ा राज्‍य मुख्‍य स़ूचना आयुक्‍त अर राज्‍य सूचना आयुक्‍त है,

[ड] “राज्‍य जनता रा स़ूचना अफसर” रो मतळब उपधारा (1) रे मांय  नांव दियोड़ा राज्‍य जनता रा स़ूचना अफसर है अर इण मांय धारा 5 री उपधारा (2) रे मांय उण रुप में नांव दियौड़ा राज्‍य सहायक जनता रा स़ूचना अफसर ई है;

[ढ] “तीजां धड़ा” रो मतळब स़ूचना रे वास्‍ते अरज करण वाळा नागरिक रे अलावा कोई भी दूजो मिनख है अर इण माय कोई जनता रा अफसर ई व्‍हे सके।

अध्‍याय 2

सूचना रो अधिकार अर जनता रा अधिकारियाँ री डयूटीयां :

सूचना रो अधिकार

3. इण  अधिनियम रे उपबन्‍ध रे मांय रेवता थका, स़ेंग नागरिकां ने स़ूचना रो अधिकार व्‍हैला।

4. (1) हरेक जनता रा अफसर करेला -

 जनता रा अफसरां री ड्‍यूटियां

    [क] आपरा स़ेंग अभिलेखा ने सूचीवार अर क्रमवार ऐड़ा तरीका अर रुप ऊं राखैला, जिको इण  अधिनियम रे मांय स़ूचणा रे अधिकार ने सरल बणावै अर ओ पक्‍को करेला के ऐड़ा स़ेंग अभीलेख, जिको कंम्‍प्‍यूटरीकृत करण वास्‍ते समुचित है, कम ऊं कम टेम रे मांय अर मिलियोड़ा संसाधना रे मांय रेवता थका, कंम्‍प्‍यूटरीकृत अर न्यारी-न्यारी तरीका माथै पुरा देश मांय नेटवर्क रे माध्‍यम ऊं जुड़े जिणु के ऐड़ा अभिलेख तांई पकड़ स़ोरी बणाई जा सके।        

        

[ख] इण अधिनियम रे नियम ऊं एक सौ ब़ीस दिन रे मांय मांय -

(1) आपरा संगठन री सूचना, काम अर फरज,

(2) आपरा अफसरां अर करमचारियां री शक्‍तिया अर फरज,

(3) फेसळो करण री प्रक्रिया मांय मानण वाळी प्रक्रिया जिण मांय देखरेख अर जिमेदारी रा साधन भ़ेळा है।

(4) खुद रा कामां ने करण वास्‍ते खुद रा थापयोड़ा कानून कायदा,

(5) खुद रा के पछै खुद री पकड़ वाळा के काम करण वाळा कानी ऊं खुदरा कामों ने करण                         वास्‍ते ब़णायोड़ा काम में लियोड़ा कायदा, लेणदेण, अनुदेस, निर्देशिका अर रेकार्ड,

(6) ऐड़ा दस्‍तावेज रो, जिको उणरे कानी ऊँ धारण करयोड़ो के पकड़ मांय है, पदों रो ब्‍योरो,

(7) किणी वैवस्‍था री खास ब़ातां जको उणरी निति री बणगत कै उणनै लागू करण वास्‍तै                      जनता रा सदस्‍यां ऊं उणरै बाबत विचार वास्‍तै कै वांरा  विचारां रै वास्‍तै ब़णायोड़ा है।

(८) ऐड़ा मंडळ, परिसदां, समितियां अर दूजा मेहकमा रौ ब्‍योरौ, जिण मांय दो कै घणा मिनख है, जकांरौ भागरूप मांय कै सला देवण रा मुद्‍्‍दा खातर ब़णायोड़ा हैअर इण वास्‍तै कै कंई वां मंडळ, परिसदां, समितियां अर दूजा मेहकमा री बैठकां जनता रै वास्‍तै खुली व्‍हेला कै ऐड़ी बैठकां रा काम रो ब्‍यौरो जनता ने देऊंला ।

(९) खुदरा अफसरां अर करमचारियां री डायरी ।

(१०) खुदरा हरेक अफसर अर करमचारी कानी ऊं लियोड़ी हरेक मईना री तनखा, जिणरै मांय ब़णायोड़ा नियमां मांय मुआवजा रो ई कायदौ है।

(११) इणरी हरेक एजेंसी नै मिळयोड़ा बजट, सब योजनावां री खास ब़ातां ब़तायोड़ा खरचा अर उणरौ पाछौ भुगतान रौ ब्‍योरौ।

(१२) स़ाथै रा कारिक्रमां रौ पालण करण री नीति जिणमैं दियोड़ौ धन अर ऐड़ा कारिक्रमां ऊं फायदा लेवणियां रौ ब्‍योरौ।

(१३) खुदरै कानी ऊं दियोड़ी रियायतां, मंजूरी पत्‍तर कै इणरै वास्‍तै मिळयोड़ा हकां वाळा  री खासयता।

(१४) किणी इलेक्‍ट्रानिक रूप मांय खबर ऊं जुड़ियोड़ौ ब्‍योरौ, जको उणनै मिळयोड़ौ व्‍है कै उनै कानी ऊं धारीजियोड़ौ व्‍है।

(१५) सूचना लेवण खातर लोगां नै मिळयोड़ी सुविधावां री खासियतां, जिणमांय किणी किताबघर कै पडण वाळा कमरा रा, जै लोगां रा काम लेण खातर हाजिर है , तौ काम करण वाळा घंटा भैऴा है।

(१६) जनता रा सूचना रा अफसरां रा नाम, पदां रा नाम अर दूजी खासयतां :

(१७) ऐड़ी दूजी सूचना , जकी नियत करी जावै।

छापेला अर पछै छपायोड़ा नै हरेक साल मांय नंवौ करैला।

(ग) खास नितियां नै पाछी ब़णाती टेम कै ऐड़ा फैसला री घोषणा करतां टेम, जकी जनता माथै फरक पटकती व्‍है, स़ेंग भिळतोड़ी स़ाच ब़ातां नै छापैला।

(घ)  फरक पड़णिया लोगां नै खुदरा सरकारी कामकाज कै न्याव वाळा फैसलां रा कारण हाजिर करावेला।

(२) हरेक जनता रा अफसर री लगातार आ इज कोसिस रेवैला कै वो उपधारा (१) रा खंड (ख) री उम्‍मीदां रै हिसाब ऊं, खुद री स़मज ऊं जनता रा लगातार रुक रुक’र जाणकारियां  रा घणाकर साधनां रै जरीये, जिणमांय इंटरनेट ई है, घणीहारी खबरां हाजिर करावण रौ उपाय करै जिण ऊं कै जनता नै जाणकारी लेवण खातर इण कानून रौ कम ऊं कम स़ियारौ लेवणौ पड़ै।

(३) उपधारा (१) रा इरादा खातर, हरेक जाणकारी नै पूरौ ब़ताय अर ऐड़ा रूप नै नीति ऊं खुलासौ करियौ जावैला कै जनता तक स़ोरौ - स़ोरौ पूग सकै।

(४) पूरा समान नै, लागत रा असर, उठां री बोली अर उण इलाका मांय खबरां रा घणा असरदार तरीकां नै ध्‍यान मांय राखतौड़ा ब़ताइजैला अर सूचना उण इज रूप मांय केन्‍द्र वाळौ  जनता रो अफसर  कै राज्‍य वाळी जनता रो सूचना अफसर रै कनै मसीनी रूप मांय मुमकिन सीमा तक मुफत कै साधन री ऐड़ी लागत मांय कै ऐड़ी छपाई री लागत री कीमत माथै, जको तै करी जावै, स़ोरी- स़ोरी  ऊं पूगण जोग व्‍हैणी चाहिजै

जनता रा सूचना रा अफसरां रा पद रा नाम                                                                                                                                                            

खुलासौ- उपधारा (३) अर उपधारा (४) रा इरादां रै वास्‍तै ब़तायोड़ी सूचना पट्‍टां ऊं , अखबारां, लोगा रे वास्‍तै घोषणावां , टी. वी.- रेडीया ऊं ब़तावणौ, इंटरनेट कै किणी दूजा साधन ऊं , जिणमांय किणी जनता रा अफसर रा दफ्‍तर रौ मुआयनौ भैळौ है , जनता नै सूचना री सूचना देवणौ कै सई सूचना देवणौ इज चाईजियो है।

5. (1) हरेक जनता रा अफसर, इण कानून रे लागू व्‍हिया रे सौ दिनां रै मांय मांय स़ेंग परसासनिक टुकड़िया कै वारै नीचे दफ्‍तरां मांय,जैड़ो ई मामलो व्‍है, केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसरां कै राज्‍य जनता रा सूचना अफसरां रा रूप मांय उतरा अफसरां नै लगावेला, जितरा इण कानून रै मांय सूचना रै वास्‍तै अरज करणिया मिनखां नै जाणकारी देवण खातर जरूरी व्‍है।

(2) उपधारा (१) रा उपबन्‍धां माथै उन्‍दौ असर पटकियां ब़िना, हरेक जनता रा अफसर, इण कानून कै कानून रा सौ दिनां रै मांय कोई अफसर कै हरेक उपमंडल इस्‍तर कै दूजा उप जिला इस्‍तर माथै जैड़ो ई मामलो व्‍है, केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसरां कै राज्‍य जनता रा सूचना अफसरां रा रूप मांय इण नियम रै मांय सूचना रै वास्‍तै अरजी कै

अपील हासिल कर’न उनै तुरत जैड़ो ई मामलो व्‍है , केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसरां कै राज्‍य जनता रा सूचना अफसरां कै धारा 19 री उपधारा (1) रे मांय भताइजियोड़ा ब़ड़ा अफसर कै केन्‍द्रीय जनता रा सूचना आयोग

कै राज्‍य सूचना आयोग ने भेजण वास्‍तै सूचित करैला ।

ब़ताइज्‍योड़ौ है के जठै सूचना कै अपील रे वास्‍तै कोई अरजी

जैड़ो ई मामलो व्‍है , किणी केन्‍द्रीय सहायक जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य सहायक जनता रा सूचना अफसर ने दियौ जावै है, वठै धारा 7 री उपधारा (1) रे मांय भताइजियोड़ा जवाब रे टेम री गिणती करता थका पांच दिन रो टेम ने जोड़ दियौ जावैला ।

(3) जैड़ो ई मामलो व्‍है , हरेक केन्‍द्र वाळा जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य री जनता रा सूचना अफसर, सूचना री मांग करण

वाला मिनखां री अरजी माथै कारवायी करैला अर ऐड़ी सूचना री मांग करण वाला मिनखा री वाजिब मदद करैला ।  

(4) जैड़ो ई मामलो व्‍है ,  केन्‍द्र वाळा जनता रा  सूचना अफसर, ऐड़ा किणी दूजा अफसर री मदद री मांग कर सकैला , जिनै वौ आपरै कामां नै करण वास्‍तै जरुरी स़मजै ।

(5) कोई भी ऐड़ौ अफसर, जिनी उपधारा (4) रै मांय मदद री मांग करिजी है, उणरी मदद चावण वाळा जैड़ो ई मामलो व्‍है , केन्‍दर वाळा जनता रो सूचना अफसर कै राज्‍य वाळौ जनता रो सूचना अफसर ने स़ेंग मदद देवेला अर इण अधिनियम रे उपबंधां रा किणी तरै रा उल्‍लंघन रे प्रयोजनां रे वास्‍तै ऐड़ा दूजा अफसर ने, जैड़ो ई मामलो व्‍है,

केन्‍दर वाळा जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य जनता रा सूचना अफसर स़मजियौ जावैला ।

सूचना लेवण खातर अरज

6.(1) कोई ई मिनख, जिको के  इण अधिनियम रे मांय कोई ई तरै री जाणकारी जाणनी चावै है , लिखियौड़ा मांय कै इलैक्‍ट्रानिक युक्‍ति रै माध्‍यम ऊं अंगरेजी कै हिन्‍दी मांय कै पछै उण जगा री बोली जावण वाळी भाषा रे मांय, जिण मांय अरजी करी जा सकै, राजभाषा मांय ऐड़ी फीस रे स़ाथै जिकौ ते करी जावै -

(क) संबंधित जनता रा मेहकमा रै भताइजियोड़ो  जैड़ो ई मामलो व्‍है , केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य री जनता रा सूचना अफसर ;

(ख) जेड़ौ ई मामलौ व्‍है, केन्‍द्रीय सहायक जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य सहायक जनता रा अफसर, नै ,

उनै कानी ऊं मांगीयोड़ी जाणकारी री(विशिष्‍टियां विनिर्गिष्‍ट) खास ब़ाता ब़तावता थका अरज करेला :

ब़ताइज्‍यो है के जठै ऐड़ी अरज लिखित रै मांय नी करी जा सकै है, वठै जैड़ो ई मामलो व्‍है ,केन्‍द्रीय जनता रा सूचना अफसर कै राज्‍य जनता रा सूचना अफसर अरज करण वाळा मिनख ने स़ेग वाजिब मदद मौखिक रुप ऊं बोल’न ब़तावैला,

जिण ऊं कि उने हावळ ऊं लिखियो जा सके ।

(2) सूचना रै वास्‍तै मांग करण वाळा मिनख ऊं सूचना री अरज करण रे वास्‍तै कीं कारण कै किणी दूजी खुद ऊं जुड़योड़ी सूचना रे, सिवाय उनै जकी उण ऊं संपरक रे वास्‍तै जरुरी व्‍है, देवण री आसा नीं करीजैला ।  

(3) जठै, कोई अरजी किणी जनता रा अफसर ने किणी ऐड़ी सूचना जाणन रे वास्‍तै अरज करता थका करी जावै तो,-

(i) जो किणी दूजा जनता रा अफसर कानी ऊं धारण करयौड़ौ है ; कै

(ii) जिणरी विसै-वस्‍तु किणी दूजा जनता रा अफसर रा कामां ऊं ब़तौ कनै ऊं जुड़यौड़ौ है,

उठै, वो जनता रा अफसर जिने ऐड़ी अरजी देवीजै है, ऐड़ी अरजी कै उना ऐड़ा भाग ने जो हावळ व्‍है, उनै दूजा जनता रा अफसर ने स़ूप देवेला अर इनै स़ूपणै री सूचना रे बारै मांय अरजी करण वाळा ने ब़तावेला :

ब़तायोड़ो है के इण उपधारा रे मुताबिक अरजी ने व्‍है सके जितरी फूरती ऊं स़ूप देवणी चाइजै, पण किणी भी दसा मांय अरजी ने मिळण री तारिख ऊं पांच दिनां रै पछै नीं करिजैला ।

अरज रौ निपटारौ

7.(1) धारा 5 री उपधारा (2) कै धारा 6 री उपधारा (3) रे नियम रे मांय रेवता थका, धारा 6 रे मांय अनुरोध रे मिळण माथे, जैड़ो ई मामलो व्‍है , हो सके जितै फूरती ऊं, केन्द्रीय जनता रा सूचना अफसर कै राज्य जनता रा सूचना अफसर ने,

अर किणी भी दसा मांय अरजी रे मिळणा रे तीस दिनां रे मांयने कै तो तै करयौड़ी फिस रे भुगतान होवण री,

सूचना देवेला कै धारा 8 अर धारा 9 मांय ब़ताइजियौड़ा कारणां मांयला, किणी भी कारण ऊं अरजी ने नीं मानेला :

ब़ताइज्‍यौड़ो है के जठै मांगीयोड़ी सूचना किणी मिनख रे जीवण कै आजादी ऊं जुड़योड़ी है,उठै उण अरजी रे मिलण रे

अड़तालीस घंटा रे मांयने दे दी जावेला ।

(२) जै, जैड़ो ई मामलो व्‍है , केन्द्रीय जनता रा सूचना अफसर कै राज्य जनता रा सूचना अफसर उपधारा (1) रे मांय ब़ताइजियौड़ी टेम रे मांय सूचना री अरजी माथै फैसलौ देवण मांय असफल रेवे तौ, जैड़ो ई मामलो व्‍है ,केन्द्रीय जनता रा सूचना अफसर कै राज्य जनता रा सूचना अफसर रे बाबत औ स़मझियौ जावैला कि वे इण अरजी ने नामंजूर कर दी है।

(३) जठै सूचना हाजिर करण री लागत री दसा मांय कीणी दूजी फीस के अदा करियोड़ी रकम माथै सूचना हाजिर करण रो फेसलौ करियौ जावै , उठै है जैड़ो इ मामलो व्‍है  केन्‍दर वाळा जनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा जनता रा सूचना रा अफसर अरज करण वाळा मिनख नै ,–

(क) उनै कानी ऊं सूचना हाजर करण री लागत री दसा नै फीस रौ ब्‍योरौ , जिनै स़ाथै उपधारा(१) रे मांय ब़तायोड़ी फीस रै हिसाब ऊं रकम निकाळण रै वास्‍तै करियोड़ी गिणतियां व्‍हेला, देवतोड़ा उने, उण फीस जमा करण री अरज करतां थकां उनै कोई खबर भेजेला अर उण खबर नै भेजण री  फीस री अदा करियोड़ी रकम रै ब़िचै, ब़िचै वाळा टेम नै उण धारा मांय ब़ताइज्‍योड़ा तीस दिनां रा टेम री गिणती करण रा कारण रै वास्‍तै करियो जावेला :

(ख) प्रभारित फीस री रकम कै हाजिर करायोड़ी पौंच रा प्रारूप रै बाबत, जिनै मांय अपील वाळाअफसर री खासयतां , टेम, तरीकौ नै दूजा केई रूप ई है, फेसलौ करण नै पाछौ देखण रै बाबत उनै हक रै बाबत सूचना देवतोड़ा उनै खबर भेजेला।

(४) जठै इण अधिनियम रै मांय लेख के उण भाग तांई पूगणौ है, नै एड़ौ मिनख जिनै पौंच हाजिर कराई जावणी है, सवेदना रै समज ऊं अदगावळौ है, उठै जेड़ौ ई मामलौ व्‍है  केन्‍दर वाळा जनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा जनता रा सूचना रा अफसर तांई पौंच नै स़ोरौ ब़णावण वास्‍तै मदद हाजिर करावेला, जिण मांय जांच रै खातर ऐड़ी मदद करणी ई भेळी है, जकी सई व्‍है।

(५) जठै, सूचना तक पौंच, छपाई कै किणी बिजली वाळातरीका ऊं हाजिर करावणी है, उठै अरजी देवणियौ उपधारा (६) रै माय रेवतोड़ौ ऐड़ी फीस नै अदा करेला जकी विहित करीजै ।

पण धारा (६) री उपधारा (१) नै धारा (१) री उपधारा (१) अर उपधारा (५) रै मांय फीस युक्‍्तियुक्‍त व्‍हैला अर ऐड़ा मिनखां ऊं जका गरीबी री रेखा रे नीचे है, जैड़ौ काबिल सरकार रे कानी ऊं अवधारित करियो जावे, कोई फीस प्रभारित नी करिजेला।

(६) उपधारा (५) मांय किणी ब़ात रे व्‍हैवतोड़ां ई, जठै कोई जनता रा अफसर टेम री सीमा रौ पाळण करण ऊं चूक जावे उठै सूचना री अरज करण वाळामिनख नै प्रभार रे ब़िना सूचना दी जावेला।

(७) उपधारा (१) रे मांय कोई फैसलौ करण ऊं पैली केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर धारा ११ रै मांय मिनख रे कानी ऊं करियोड़ी अरज नै ध्‍यान मांय राखैला।

(८) जठै किणी अरज नै धारा (१) रै मांय खारिज कर दी जावे, उठै है ज्‍्यूं रै ज्‍्यूं केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर अरज करण वाळामिनख नै :

( i) खारिज करण रौ कारण,

(ii) वो टेम, जिनै मांय खारिज करीजण रै खिलाफ अपील करी जा सकै : अर

(iii) अपील वाळाअफसर री खासयतां, री खबर देवैला।

(९) किणी सूचना नै साधारणतया उणीज तरीका ऊं हाजिर कराई जावैला, जिण तरै मांगीजी है। जठै तांई वा जनता रा अफसर रा स्रोतां नै अनअनुपातिक तरै ऊ विचलित नी करती व्‍है कै सवालां वाळालेख री रक्‍सा कै संरक्‍सण रै प्रतिकूल नी व्‍है।

सूचना रा ब़ताया जावणा ऊं छूट

(८) (१) इण अधिनियम मांय ब़तायोड़ी किणी ब़ात रै वैवतोड़ां ई, मिनख नै ए सूचनावां देवण री कोई बंदिस नी व्‍हेला–

(क) सूचना जिनै ब़तावण ऊं भारत री परभुता, अखण्‍डता, राज्‍य री रक्‍सा, रणनीति, वैग्यानिक अर पईसा वाळासुवारथ, परदेसां ऊं रिस्‍ता माथै उन्‍दौ असर पड़तौ व्‍है, कै किणी जुलम रै वैवण री गुंजाइस व्‍है :

(ख) सूचना जिने छापण रौ किणी कोरट कै अधिकरण कानी ऊं ब़ताय नै ना करियोड़ौ व्‍है कै जिनै ब़तावण ऊं कोरट रौ मान कम व्‍है तो व्‍है।

(ग) सूचना, जिनै ब़तावण ऊं संसद कै किणी राज्‍य रै विधानमंडल रा खास अधिकार रौ टूटण रौ काम व्‍है।

(घ) सूचना, जिण मांय वाणिज्‍यिक विस्‍वास, वैपार रौ छिपयोड़ौपण कै बौध्‍दिक समपदा भेळी है, जिनै ब़तावण ऊं किणी मिनख री प्रतियोगी दसा नै नुक्‍साण व्‍है, जठै तांई कै समरथ अफसर रौ ओ समाधान नी व्‍है जावै कै, ऐड़ी सूचना रै ब़ताइजण ऊं घणा लोगां रै फायदा रौ समरथन व्‍हैवै है :                                      

(ङ) कीणी मिनख नै उनै वैस्‍वासिक नातेदारी मांय मिलयोडी सूचना, जठै तांई कै समरथ अफसर रौ ओ समाधान नी व्‍है जावै कै ऐड़ी सूचना नै ब़तावण ऊं घणा मोटा रूप ऊं लोगां रै फायदा रौ पक्‍स व्‍है :

(च) किणी परदेसी सरकार रै विस्‍वास मांय मिळयोड़ी सूचना :

(छ) सूचना, जिनौ ब़तावणौ किनोई जीवन कै सरीर वाळीसुरक्‍सा नै, खतरा मांय घालैला, कै कानून वाळीकै सुरक्‍सा रा कामां रै वास्‍तै विस्‍वास मांय दियोड़ी किणी सूचना कै मदद रा स्रोत री पैचाण करैला :

(ज) सूचना, जिण ऊं अपराधियां रो पतौ लगावणो, पकड़णा कै अभियोजन रा काम मांय अड़चन पड़ेला :

(झ) मंतरी मंडल रा कागज पत्‍तर जिण मांय मंतरी परिसद, सचिवां अर दूजा अफसरां रौ स़ोच विचार वाळौ लेख भेळो व्‍है :

पण औ है कै मंतरी परिसद रा फैसला, वांरा कारण, नै वो समान जिनै आदार माथै वे फैसला करिजिया हा, फैसला करीजण अर विसै रे पूरौ व्‍हैण कै खतम व्‍हैण पछै, जनता वास्‍तै हाजिर करीजैला :

पण भळे है कै, ऐड़ा विसै जका इण धारा रै मांय ब़तायोड़ी छूटां रै मांय आवै है, नी ब़ताइजैला :

(ञ) सूचना, जकी एक जणा री सूचना ऊं जुड़योड़ी व्‍है,  जिनौ ब़तावणौ किणी लोगां वाळाकाम कै फायदा ऊं सरोकार कोनी राखै, कै जिण ऊं मिनख री एकांतता माथै ब़िना मतळब रै कब्‍जौ व्‍हेला, जठै तक कै, है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै अपील वाळाअफसर रौ औ निवेड़ौ नी व्‍है जावै कै ऐड़ी सूचना ब़तायौ जावणौ घणा लोगां रा फायदा वास्‍तै न्‍्याव वाळौ है :

पण ऐड़ी सूचना रै वास्‍तै, जकी , है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, संसद कै किणी विधान मंडल नै देवण ऊं ना नी दियो जा सके है, किणी मिनख नै ना नी करियो जाय सकेला।

(२) शासकीय गुपत ब़ात कानून, १९२३ मांय, उपधारा (१) किणी छूट मांय किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई किणी जनता रा अफसर नै सूचना तक पौंच अनुज्ञात करी जा सकेला, जै सूचना ब़तावण मांय लोगा रौ फायदौ, सुरक्‍सा वाळाफायदां रै नुक्‍साण  ऊं ब़त्‍तौ है।                                                         १९२३ रौ १९

(३) उपधारा (१) रा खण्‍ड (क) , खण्‍ड (ग) अर खण्‍ड (झ) रा उपबंधा रै मांय रैवतोड़ा किणी ऐड़ी घटना, किस्‍सा कै विसै ऊं जुड़योड़ी, जकी उण तारीख ऊं , जिनी  धारा ६ रै मांय कोई अरज करी जावै, ब़ीस ब़रस पैली घटित व्‍ही ही कै व्‍हीयौ हौ, उण धारा रै मांय अरज करण वाळाकिणी मिनख नै हाजिर कराई जावैला :

पण औ है कै जठै उण तारीख रा विसै मांय, जिण ऊं ब़ीस ब़रस री उण टेम नै गिणियौ जावै, कोई सवाल आवै तौ उठै इण कानून मांय उनै वास्‍तै ब़तायोडी प्रायिक अपीलां रै मांय रेवतोड़ा केन्‍दर री सरकार रौ फैसलौ आखरी व्‍हैला।

थोड़ाक मामलां मांय पौंच रै वास्‍तै खारिज करण रा आधार                                               

(९) धारा ८ रा उपबंधां माथै ऊन्‍दौ असर घालियां ब़िना, है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर सूचना री किणी अरज नै खारिज कर सकैला, जठै पौंच हाजिर करावण रै वास्‍तै, ऐड़ी अरज राज्‍य ऊं दूजा किणी मिनख रा अस्‍तित्‍व वाळीलिखयोड़ा अधिकार रौ तोड़नौ अन्‍तर्वलित करेला।

न्यारौ करीजण लायक                                                                                                             

(१०) (१) जठै सूचना तक पौंच री अरज नै इण आधार माथै खारिज कर दियो जावे कै वा ऐड़ी सूचना रै बाबत है जकी ब़तावण ऊं छूट मिळयोड़ी है, उठै इण अधिनियम/ कानून मांय किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ा ई, पौंच लेख रा उण भाग तांई हाजिर कराई जा सकेला, जिण मांय कोई ऐड़ी सूचना नी है, जकी इण कानून मांय ब़ताइजण ऊं छूट मिळयोड़ी है, अर जकी किणी ऐड़ा भाग ऊं, जिणमांय छूट मिळयोड़ी सूचना अन्‍तर्विष्‍ट व्‍है, युक्‍ति वाळातरीका ऊं न्यारी करी जा सके।

(२) जठै उपधारा (१) रै मांय लेख रा किणी भाग तांई पूगणौ अनुदत्‍त करियो जावे, उठै है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर आ सूचना देवतोड़ा अरज करणिया नै आ खबर देवेला :

(क) अरज करियोड़ा लेख रौ केवल एक भाग इज, उण लेख ऊं जको ब़ताइजण वाळीछूट मिळयोड़ौ है, हाजिर करायो जाय रियो है :

(ख) फैसला खातर कारण, जिनै मांय स़ाची ब़ातां रा किणी जरूरी सवाल उण सामग्री रै वास्‍तै, जिण माथै वै फैसला टिकयोड़ा हा, ब़तावतोड़ा कोई फैसला ई है :

(ग) फैसलौ अरण वाळामिनख रौ नाम नै पदनाम :

(घ) उनै कानी ऊं गिणयोड़ी फीस रौ ब्‍योरौ नै फीस री वा रकम जिनै अरज करणिया ऊ निक्षेप करण री मंसा करीजै : अर

(ङ) सूचना रा भाग नै नी ब़ताया जावण रै खातर, फैसला नै पाछौ देखण रै वास्‍तै उना हक, लागण वाळीफीस री रकम कै हाजिर कराइजयोड़ौ पौंच रौ फारम जिनै मांय है ज्‍यूं रै ज्‍्यूं धारा १९ री उपधारा (१) रै मांय ब़ताइज्‍योड़ा ऊंचा अफसर कै केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर री खासयतां , टेम, तरीकौ नै कोई दूजी पौंच रौ फारम ई है।

तीजा धड़ा नै सूचना

११. (१) जठै, है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, किणी केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर रौ, इण कानून रे मांय करियोड़ी अरज रै माथै कोई ऐड़ी सूचना कै लेख कै उना कीणी भाग नै ब़तावण ऊं मतळब है, जको कीणी दूजा मिनख ऊं जुड़योड़ी है, कै उनै कानी ऊं आ दीरीजी है, नै उण दूजा मिनख कानी ऊं इनै लुकायोड़ी मानीजी है, उठै है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, किणी केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर अरज मिलियां रै पांच दिनां रै मांय, ऐड़ा दूजा मिनख नै अरज री नै इण स़ाची ब़ात री लिखित मांय सूचना देवेला कै, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर रौ उण सूचना कै लेख कै उना किणी भाग नै ब़तावण रौ मतळब है, नै इण बारे मांय सूचना ब़ताई जावणी छईजै कै नी, लिखिजियोड़ा कै बोलयोड़ा तरिका ऊं अरज करण रै वास्‍तै, दूजा मिनख नै निवतौ देवैला अर सूचना नै ब़ताया जावण रै बाबत फैसलौ करती देम दूजा मिनख री ऐड़ी अरज नै ध्‍यान मांय राखीजैला :

पण कानून कानी ऊं रक्‍सित/ रक्‍सा मिळयोड़ा/ रक्‍सीजयोड़ा वैपार कै वैपार री गुपत ब़ातां री दसा मांय, रै सिवाय, जै एड़ौ ब़तायो जावणौ लोगां रा फायदा, ऐड़ा दूजा मिनख रा फायदां रा किणी  व्‍हे सकै जेड़ा नुक्‍साण ऊं घणी जरूरी है तौ ब़तावणौ अनुज्ञात करियो जाय सकेला।

(२) जठै,उपधारा (१) रै मांय,  है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कानी ऊं दूजा मिनख माथै किणी सूचना कै लेख कै उना किणी भाग रै बाबत किणी सूचना री तामील करीजै, उठै ऐड़ा दूजा मिनख नै ऐड़ी सूचना मिलण री तारीख ऊं दस दिना रै मांय , स़ौचयोड़ा ब़ताया जावणा रै खिलाफ अभ्‍यावेदन करण रौ मोकौ दियो जावेला।

(३) धारा ७ मांय किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई, है ज्‍यूं रै ज्‍यूं, केन्‍दर वाळाजनता रा सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळाजनता रा सूचना रा अफसर धारा ६ मांय अरज मिळियां रै पछै चाळीस दिना रै मांयजै दूजा मिनख नै उपधारा २ रै मांय अभ्‍यावेदन रौ मोकौ दीरीजगो है तो इण बाबत फैसलौ करेला कै उण सूचना कै लेख कै उना किणी भाग नै ब़तावणौ है कै नी, नै खुदरा फैसला री सूचना लिखित मांय दूजा मिनख नै देवैला।

(४) उपधारा (३) रै मांय दियोड़ी सूचना रै मांय आ ब़ात ई व्‍हैला कै वा दूजा मिनख , जिने सूचना दीरीजी है, धारा १९ रै मांय उण फैसला रै खिलाफ अपील करण रौ हकदार है।

पाठ  ३

                                       केन्‍दर  रौ सूचना आयोग

केन्‍दर वाळा सूचना आयोग रौ ब़णायो जावणौ  

१२. (१) केन्‍दर री सरकार राजपत्‍तर मांय अधिसूचना देय’र केन्‍दर वाळासूचना आयोग रे नाम ऊं ज्ञात एक ऐड़ौ मेहकमो थापेला, जको ऐड़ी सग्‍तियां नै काम मांय लैवेला नै ऐड़ा कामां नै करेला, जका उनै इण कानून रै मांय स़ूंपीजै।

(२) केन्‍दर वाळो सूचना आयोग आंरै ऊं मिळ’न ब़णैला–

(क) केन्‍दर वाळासूचना आयुक्‍त : अर

(ख) दस ऊं घणा नी पण इत्‍ती संख्‍या मांय केन्‍दर वाळासूचना आयुक्‍त जितरा जरूरी स़मजीजै।

(३) मुख्‍य सूचना वाळाआयुक्‍त अर सूचना वाळाआयुक्‍त री नियुक्‍ति, राष्‍ट्रपति कानी ऊं हेटे दीरिज्‍योड़ा ने मिळाय ने ब़णी समिति री सुपारस ऊं करीजैला–

(i) परधानमंतरी, जको समिति रौ अद्‍यक्‍स व्‍हैला,

(ii) लोकसभा मांय स़ामला धड़ा रा नेता, अर

(iii) परधानमंतरी कानी ऊं नाम ब़तायोड़ौ संघ मंतरीमंडल रौ एक मंतरी।

खुलासौ– संकावां नै मेटण खातर औ घोषित करिजै है कै जठै लोकसभा मांय विपक्‍स रा नेता नै उण रूप मांय मानेता नी दीरीजी है, उठै लोकसभा रै मांय एकल सरकार रा विपक्‍स रा स़ैंगा ऊं मोटा दळ रा नैता नै विपक्‍स रौ नेता स़मजीजैला।

(४) केन्‍दर वाळासूचना आयोग रा कामां री सादारण देखरेख, निरदेसण,परबंधन मुख्‍य सूचना आयुक्‍त मांय निहित व्‍हैला, जिण री मदद सूचना आयुक्‍तां कानी ऊं करिजैला नै वो ऐड़ी स़ैंग सग्‍तियां नै काम मांय ले सकैला अर ऐड़ा सैंग काम अर ब़ातां कर सकैला, जकां रौ केन्‍दर रौ सूचना वाळौ आयोग कानी ऊं आजाद रूप रै मांय इण कानून रै अधीन किणी दूजा अफसर रा निरदेसां रै नीचे रियां ब़िना काम मांय लिया जा सकैला कै करी जाय सकै है।

(५) मुख्‍य सूचना आयुक्‍त अर सूचना आयुक्‍त कानून, विग्यान, प्रौद्‍योगिकी, समाजसेवा, परबंध, पत्रकारिता, जनसंपर्क वाळौ तरीकौ, कै प्रसासन नै सासन रौ घणौ ज्ञान अर अनुभव राखण वाळा समाज मांय मानिज्‍योड़ा मिनख व्‍हैला।

(६) मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त, जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं संसद रा सदस्‍य कै किणी राज्‍य कै संघ राज्‍य छैत्र रा विधान मंडल रा सदस्‍य नी व्‍हैला, कै कोई दूजा फायदा रा पद माथै नी रैवेला, कै किणी राजनीति वाळादळ ऊं जुड़योड़ा नी व्‍हैला नै  कोई कारोबार नी करैला कै कोई काम नी करेला।

(७) केन्‍दर वाळासूचना आयोग रौ हैड ऑफिस दिल्‍ली रै मांय व्‍हैला अर केन्‍दर वाळो सूचना आयोग, केन्‍दर वाळी सरकार री पैला वाळी मंजूरी ऊं, भारत मांय दूजी केई  जगा माथै ऑफिस ब़णा सकैला।

ओफिस रा नियम अर सेवा री सरतां

(१३) (१)सूचना आयुक्‍त उण तारीख ऊं जिण ऊं वो आपरौ पद हम्‍बाळै, पांच ब़रस तांई उण पद माथै रेवेला अर पाछौ लागण जोग नी व्‍हैला।

पण ओ है कै, कोई मुख्‍य सूचना आयुक्‍त पैंसठ ब़रस री उमर लियां रै पछै उण रूप मांय पद नी लेवैला।

(२) हरेक सूचना आयुक्‍त, उण तारीख ऊं जिण ऊं वो पद हम्‍बाळै, पांच ब़रस री टेम कै पैंसठ ब़रस री उमर व्‍हेण तांई , आं रै मांय नै जको ई पैली व्‍है, पद लेवैला अर ऐड़ा सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय पाछौ लागण रौ हकदार नी व्‍हैला।

पण हरेक सूचना आयुक्‍त, इण उपधारा रै मांय आपरा पद नै खाली करियां रै पछै, धारा १२ री उपधारा (३) रै मांय ब़तायोड़ी रीति ऊं मुख्‍य सूचना आयुक्‍त री नियुक्‍ति वास्‍तै हकदार व्‍हेला।

भळै ब़ताइज्‍यो है कै जठै सूचना आयुक्‍त नै मुख्‍य सूचना आयुक्‍त रै रूप मांय नियुक्‍त करीजै, उठै उना पद री टेम सूचना आयुक्‍त अर मुख्‍य सूचना आयुक्‍त रा  रूप मांय कुल मिलाय नै पांच ब़रस ऊं ब़त्‍ती नी व्‍हैला।

(३) मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त आपरौ पद लेवण ऊं पैली, राष्‍ट्रपति कै वारैं कानी ऊं इण वास्‍तै ब़णायोड़ा किणी दूजा मिनख रै स़ामी पैली अनुसूची मांय इण काम वास्‍तै ब़तायोड़ा प्रारूप रै हिसाब ऊरे मुजब स़ौगन के प्रतिज्ञा लैवेला अर उण माथै दस्‍तख करैला।

(४) मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त, किणी टेम राष्‍ट्रपति नै ब़तावता थका आपरा दस्‍तख करयोड़ा समेत लिख’र आपरो पद छोड़ सकेला।

ब़तायोड़ो है के मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त नै धारा १४ मांय ब़तायोड़ी रीति ऊं हटायो जाय सकैला।

(५) देईजण जोग तनखा नै भत्‍ता अर सेवा री दूजी सरतां–

(क) मुख्‍य सूचना आयुक्‍त री सरतां व्‍है इज व्‍हैला, जकी मुख्‍य चुनाव करावणिया आयुक्‍त री है :

(ख) सूचना आयुक्‍त री सरतां व्‍है इज व्‍हैला, जकी चुनाव करावणिया आयुक्‍त री है :

ब़तायोड़ो है के जै मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त आपरा पद माथै लागता टेम भारत सरकार रै मांय कै किणी राज्‍य सरकार रै मांय किणी पैली वाळी सेवा रै बाबत पैंसन, समरथ नीं व्‍हे कै नुक्‍साण पैंसन ऊं न्यारी लैवे है तो, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त रै रूप मांय सेवा रै बाबत उनी तनखा मांय ऊं उण पेंसन री, जिनै मांय पेंसन रौ एड़ौ कोई भाग जिनै घटाइजियो हौ नै रिटाग्रेच्‍यूटीन रै बराबर पेंसन नै छोड’न रिटायर व्‍हैती टेम वाळा फायदां रा दूजा रूपां रे बराबर पेंसन ई है, रकम नै कम कर दी जावैला :

भळै ओ ई ब़ताइजियोड़ौ है कै, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त आपरी नियुक्‍ति री टेम किणी केन्‍दर वाळा कानून कै राज्‍य वाळा कानून कानी ऊं कै उनै नीचे थापीजियोड़ा किणी निगम मांय कै केन्‍दर वाळीसरकार रा कै राज्‍य सरकार री मालिक हक वाळीकै पकड़ वाळीकिणी सरकारी कंपनी मांय करियोड़ी किणी पैली वाळीनौकरी रै बाबत रिटायर व्‍हैती टेम वाळाफायदा लेय रियो है तो, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय नौकरी रै बाबत उनी तनखा मांय ऊं रिटायर व्‍हैती टेम वाळाफायदां  रे बराबर पेंसन री रकम नै कम कर दी जावैला :

पण ओ ई है कै, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त री तनखा, भत्‍ता अर नौकरी री दूजी सरतां मांय उनै लगावण ऊं पछै उना ब़िना फायदा रे रूप मांय कोई ब़दळाव नी करिजैला।

(६) केन्‍दर वाळी सरकार मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै सूचना आयुक्‍तां नै उतरा अफसर नै काम करणिया हाजिर करावेला जितरा इण कानून रै मांय उना कामां रा बडिया पालण रै खातर जरुरी व्‍है, नै इण कानून रा इरादा वास्‍तै लगायोड़ा अफसरां अर काम करणिया नै देईजण जोग तनखा, भत्‍ता अर नौकरी री सरतां ऐड़ी व्‍हैला जकी जकी ब़ताइजी है।

मुख्‍य सूचना आयुक्‍त अर सूचना आयुक्‍त नै हटायौ जावणौ

(१४) (१) उपधारा (३) रा उपबंधां रै मांय रैवतोड़ा मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त नै राष्‍ट्रपति रा आदेस ऊं, साबित फोरो वैवार कै नी करीजण जोग दसा रा आधार माथै उना पद ऊं जणै इज हटायो जावेला जणै स़ैगाऊं ऊंचलौ कोरट राष्‍ट्रपति कानी ऊं उने करियोड़ा किणी निरदेस माथै जांच रै पछै आ रिपोट दी व्‍है कै, उण इज दसा मांय मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै सूचना आयुक्‍त नै उण आधार माथै हटाय देवणौ छईजै।

(२) राष्‍ट्रपति उण मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै सूचना आयुक्‍त नै जिनै खिलाफ उपधारा (१) रै मा्यं स़ैंगाऊं ऊंचला कोरट नै निरदेस देईजियो है, ऐड़ा निरदेस माथै स़ैंगाऊं ऊंचला कोरट री रिपोट मिलण माथै राष्‍ट्रपति कानी ऊं आदेस पास करण तांई पद ऊं बर्खास्‍त कर सकैला, नै जै जरूरी स़मजै तौ जांच री टेम ओफिस मांय हाजिर व्‍हैण माथै ई रोक लगाय सकैला।

(३) उपधारा (१) रै मांय आयोड़ी किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई राष्‍ट्रपति, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै किणी सूचना आयुक्‍त नै आदेश देय’र पद ऊं हटाय सकैला, जै जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै सूचना आयुक्‍त–

(क) न्याव ऊं देवाळीयौ घोषित करिजियो है : कै

(ख) वै ऐड़ा अपराध खातर दोसी मानीजिया है जिण मांय राष्‍ट्रपति री राय मांय नीत मांय नीचपण आयोड़ौ है : कै

(ग) आप रे पद री टेम, आपरा पद री ड्‍यूटियां ऊं न्यारौ किणी तनखा वाळा काम मांय लागौड़ौ व्‍है : कै

(घ) राष्‍ट्रपति री राय मांय दिमाग कै सरीर कानी ऊं अदगावळा व्‍हैण रै कारण ऊं पद माथै ब़णियो रेवण जोग नी है : कै

(ङ) वो ऐड़ा रुपिया वाळा अर दूजा फायदा हासिल करिया व्‍है कै जिण ऊं मु्ख्‍य सूचना आयुक्‍त कै सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय उना कामां रै माथै ऊन्‍दौ असर पड़ण रो आसार व्‍है।

(४) जै मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त , किणी तरै भारत सरकार रै कानी ऊं कै उनै कानी ऊं करियोड़ी किणी संविदा कै करार ऊं जुड़ियोड़ौ कै उणमांय फायदा मुळणियौ है कै किणी निगमित कंपनी रा किणी सदस्‍य रा रूप मांय नीं तो उना दूजा सदस्‍यां रै स़ाथै आमतौर ऊं उना फायदा मांय कै उनै ऊं व्‍हेण वाळाकिणी फायदा कै परिलब्‍धियां मांय भागीदार व्‍है तो वो, उपधारा (१) रै इरादा वास्‍तै, फोरो वैवार रौ दोसी मानीजैला।

  पाठ- ४

                                                   राज्‍य रौ सूचना आयोग

                                 राज्‍य सूचना रा आयोग रौ ब़णायौ जावणौ

(१५)  (१) हरेक राज्‍य सरकार राजपत्‍तर मांय अधिसूचना ऊं ……………( राज्‍य रौ नाम) सूचना आयोग रा नाम ऊं जाणीजण वाळौ एक निकाय ब़णावैला। जको ऐड़ी सग्‍तियां नै काम मांय लेवैला नै ऐड़ा कामां रौ पालण करैला, जका उनै इण कानून रै मांय स़ूंपीजै।

(२) राज्‍य सूचना आयोग आंरै ऊं मिळ’र् ब़णैला–

(क) राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त अर

(ख)दस के दस ऊं कम उतरी संख्‍या मांय राज्‍य सूचना आयुक्‍त, जितरा जरूरी स़मजिया जावै।

(३) राज्‍य मुख्‍य सूचना अयुक्‍त अर राज्‍य सूचना आयुक्‍तां री नियुक्‍ति राज्‍पाळ कानी ऊं नीचै लिखयोड़ा नै मिळाय’न ब़णीयोड़ी समिति री सुपारस माथै करी जावैला,–

(i) मुख्‍यमंत्री , जको समिति रौ अध्‍यक्‍स व्‍हैला :

(ii) विधानसभा मांय स़ामलै धड़ै रौ नेता : अर

(iii) मुख्‍यमंत्री कानी ऊं ब़तायो नाम वाळा मंतरी मंडल रा सदस्‍य।

खुलासौ– संकावां नै मेटण खातर औ घोषित करिजै है कै जठै विधानसभा मांय विपक्‍स रा नेता नै उण रूप मांय मानेता नी दीरीजी है, उठै विधानसभा रै मांय सरकार रा विपक्‍स रा एकल स़ैंगा ऊं मोटा दळ रा नैता नै विपक्‍स रौ नेता स़मजीजैला।

(४) राज्‍य सूचना आयोग रै कामां री सादारण देखरख, निरदेसण अर परबंध राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त रै मांय व्‍हैला,जिणरी राज्‍य सूचना आयुक्‍तां कानी ऊं मदद करी जावेला अर व्‍है स़ैंग ऐड़ी सग्‍तियां नै काम मांय लै सकैला, स़ैंग ऐड़ा काम अर ब़ातां कर सकैला, जकी राज्‍य सूचना आयोग कानी ऊं इण कानून रै मांय किणी दूजा अफसर रा निरदेसां रै नीचै रियां ब़िना आजाद रूप ऊं काम मांय ली जा सकै है कै करी जाय सकै है।

(५) राज्‍य मुख्‍य सूचना अयुक्‍त अर राज्‍य सूचना आयुक्‍त कानून, विग्यान, प्रौद्‍योगिकी, समाजसेवा, परबंध, पत्रकारिता, जनसंपर्क वाळौ तरीकौ, कै प्रसासन नै सासन रौ घणौ ज्ञान अर अनुभव राखण वाळा समाज मांय मानिज्‍योड़ा मिनख व्‍हेला।

(६) राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै  राज्‍य सूचना आयुक्‍त, जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं संसद रा सदस्‍य कै किणी राज्‍य कै संघ राज्‍य छैत्र रा विधान मंडळ रा सदस्‍य नी व्‍हैला, कै कोई दूजा फायदा रा पद माथै नी रैवेला, कै किणी राजनीति वाळा दळ ऊं जुड़योड़ा नी व्‍हैला नै कै कोई कारोबार नी करैला कै कोई काम नी करैला।

(७)  राज्‍य सूचना आयोग रौ मुख्‍यालय ऐड़ी जगा माथै व्‍हैला जको राज्‍य सरकार राजपत्‍तर मांय अधिसूचना ऊं ब़तावैला अर राज्‍य सूचना आयोग, राज्‍य सरकार रा पैली वाळी मंजूरी ऊं, राज्‍य मांय दूजी केई  जगा माथै ऑफिस ब़णाय सकैला।

ओफिस नै नौकरी री सरतां

(१६) (१) सूचना आयुक्‍त उण तारीख ऊं जिण ऊं वो आपरौ पद हम्‍बाळै, पांच ब़रस री टेम वास्‍तै पद हम्‍बाळैला अर पाछौ लागण जोग नी व्‍हैला।

ब़तायोड़ौ है कै, कोई मुख्‍य सूचना आयुक्‍त पैंसठ ब़रस री उमर लियां रै पछै उण रूप मांय पद नी लेवैला।

(२) हरेक सूचना आयुक्‍त, उण तारीख ऊं जिण ऊं वो पद नै लेवै, पांच ब़रस री टेम कै पैंसठ ब़रस री उमर लेवण तांई , आं रै मांय नै जको ई पैली व्‍है, पद लेवैला अर ऐड़ा सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय पाछौ लागण रौ हकदार नी व्‍हैला :

            पण हरेक राज्‍य सूचना आयुक्‍त, इण उपधारा रै मांय खुदरा पद नै खाली करियां रै पछै, धारा १५ री उपधारा (३) रै मांय ब़तायोड़ी रीति ऊं राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त री नियुक्‍ति खातर हकदार व्‍हेला।

           भळै ब़ताइज्‍यो है कै जठै राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त रै रूप मांय नियुक्‍त करीजै, उठै उना पद री टेम राज्‍य सूचना आयुक्‍त अर राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त रा  रूप मांय कुल मिलाय नै पांच ब़रस ऊं ब़त्‍ती नी व्‍हैला।

(३) राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त खुद रौ पद लेवण ऊं पैली, राज्‍यपाल कै वारैं कानी ऊं इण निमित्‍त ब़णायोड़ा किणी दूजा मिनख रै स़ामी पैली अनुसूची मांय इण इरादा खातर ब़तायोड़ा प्रारूप रै हिसाब ऊं एक सपत कै सकंल्‍प लैवेला अर उण माथै साइन करैला।

(४) राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त, किणी टेन राज्‍यपाल नै संबोधित करता थका आपरा दस्‍तख वाळौ इस्‍तीफौ देय’न पद छोड सकैला।

        पण राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै धारा १७ मांय ब़तायोड़ी रीति ऊं हटायो जाय सकैला।

(५) देईजण जोग तनखा नै भत्‍ता अर सेवा री दूजी सरतां–

(क) राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त री सरतां व्‍है इज व्‍हैला, जकी चुनाव करावणिया आयुक्‍त री है :

(ख) राज्‍य सूचना आयुक्‍त री सरतां व्‍है इज व्‍हैला, जकी राज्‍य सरकार रा मुख्‍य सचिव री है :

                ब़तायोड़ो है के राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त आपरी नियुक्‍ति री टेम भारत सरकार रै मांय कै किणी राज्‍य सरकार रै मांय किणी पैली वाळी सेवा रै बाबत पैंसन, अक्षमता कै नुक्‍साण पैंसन ऊं न्यारी लैवे है तो, राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त रै रूप मांय सेवा रै बाबत उनी तनखा मांय ऊं उण पेंसन री, जिनै मांय पेंसन रौ एड़ौ कोई भाग जिनै घटाइजियोयो हौ नै रिटायर ग्रेच्‍यूटी रै बराबर पेंसन नै छोड’न रिटायर व्‍हैती टेम वाळा फायदां रा दूजा रूपां रे बराबर पेंसन ई है, रकम नै कम कर दी जावैला :

                           भळै ब़ताइजियोड़ो है कै, राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त आपरी नियुक्‍ति री टेम किणी केन्‍दर वाळा कानून कै राज्‍य वाळा कानून कानी ऊं कै उनै नीचे थापीजियोड़ा किणी निगम मांय कै केन्‍दर वाळी सरकार रा कै राज्‍य सरकार री मालिक हक वाळी कै पकड़ वाळी किणी सरकारी कंपनी मांय करियोड़ी किणी पैली वाळी नौकरी रै बाबत रिटायर व्‍हैती टेम वाळा फायदा लेय रियो है तो, मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय नौकरी रै बाबत उनी तनखा मांय ऊं रिटायर व्‍हैती टेम वाळा फायदां  रे बराबर पेंसन री रकम नै कम कर दी जावैला :

                       भळै ब़ताइजियोड़ो है कै, राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त री तनखा, भत्‍ता अर नौकरी री दूजी सरतां मांय उनै लगावण ऊं पछै उना ब़िना फायदा वाळा रूप मांय कोई ब़दळाव नी करिजैला।

(६) राज्‍य वाळी सरकार राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै राज्‍य सूचना आयुक्‍तां नै उतरा अफसर नै काम करणिया हाजिर करावेला जितरा इण कानून रै मांय उना कामां रा बडिया पालण रै खातर जरुरी व्‍है, नै इण कानून रा परयोजन खातर लगायोड़ा अफसरां अर काम करणिया नै देईजण जोग तनखा, भत्‍ता अर नौकरी री सरतां ऐड़ी व्‍हैला जकी जकी ब़ताइजी है।

राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त अर राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै हटायौ जावणौ

(१७) (१) उपधारा (३) रा उपबंधां रै मांय रैवतोड़ा राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै राज्‍यपाल रा आदेस ऊं, साबित कदाचार कै नी करीजण जोग दसा रा आधार माथै उना पद ऊं जणै इज हटायो जावेला जणै स़ैगाऊं ऊंचलौ कोरट राज्‍यपाल कानी ऊं उने करियोड़ा किणी निरदेस माथै जांच रै पछै आ रिपोट दी व्‍है कै, है उणीज दसा मांय राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै उण आधार माथै हटाय देवणौ छईजै।

(२) राज्‍यपाल उण राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै, जिनै खिलाफ उपधारा (१) रै मा्यं स़ैंगाऊं ऊंचला कोरट नै निरदेस देईजियो है, ऐड़ा निरदेस माथै स़ैंगाऊं ऊंचला कोरट री रिपोट मिलण माथै राज्‍यपाल कानी ऊं आदेस पास करण तांई पद ऊं बर्खास्‍त कर सकैला, नै जै जरूरी स़मजै तौ जांच रि टेम ओफिस मांय हाजिर व्‍हैण माथै ई रोक लगाय सकैला।

(३) उपधारा (१) रै मांय आयोड़ी किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई राज्‍यपाल,राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै किणी राज्‍य सूचना आयुक्‍त नै आदेश देय’र पद ऊं हटाय सकैला, जै जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै राज्‍य सूचना आयुक्‍त–

(क) न्याव ऊं देवाळियो घोषित : कै

(ख) वै ऐड़ा अपराध खातर दोसी मानीजिया है जिण मांय राज्‍यपाल री राय मांय नींत मांय नीचपण आयोड़ौ है : कै

(ग) आप रे पद री टेम, खुद रा पद री ड्‍यूटियां ऊं न्यारौ किणी तनखा वाळा काम मांय लागौड़ौ व्‍है : कै

(घ) राज्‍यपाल री राय मांय दिमाग कै सरीर कानी ऊं अदगावळा व्‍हैण रै कारण ऊं पद माथै ब़णियो रेवण ऊं जोग नी है : कै

(ङ) वो ऐड़ा रुपिया वाळा अर दूजा फायदा हासिल करिया व्‍है कै जिण ऊं राज्‍य मु्ख्‍य सूचना आयुक्‍त कै राज्‍य सूचना आयुक्‍त रा रूप मांय उना कामां रै माथै ऊन्‍दौ असर पड़ण रा आसार व्‍है।

(४) जै राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त कै कोई राज्‍य सूचना आयुक्‍त , किणी तरै राज्‍य सरकार रै कानी ऊं कै उनै कानी ऊं करियोड़ी किणी संविदा कै करार ऊं जुड़ियोड़ौ कै उणमांय फायदा मुळणियौ है कै किणी निगमित कंपनी रा किणी सदस्‍य रा रूप मांय अन्यथा नै उना दूजा सदस्‍यां रै स़ाथै आमतौर ऊं उना फायदा मांय कै उनै ऊं व्‍हेण वाळा किणी फायदा कै परिलब्‍धियां मांय भागीदार व्‍है तो वो, उपधारा (१) रै इरादां वास्‍तै फोरा वैवार रौ दोसी मानीजैला।  

                                                             पाठ -५

सूचना आयोगां री सग्‍तियां अर काम, अपील नै जुरमाना

सूचना आयोगां री सग्‍तियां अर काम

१८. (१) इण कानून रा उपबंधां रै मांय रैवतौड़ा, केन्‍द्रीय सूचना आयोग कै राज्‍य सूचना आयोग री आ ड्‍यूटी व्‍हैला कै, वे नीचे लिखयोड़ा किणी एक मिनख री सिकायत लैवे अर उणरी जांच करै–

(क) जको जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर नै , इण कारण ऊं अरज हाजिर करण मांय असमरथ रियो है कै, इण कानून रै मांय ऐड़ा अफसर नै नी लगाइज्‍यो है कै,  जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळा सहायक लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा सहायक लोक सूचना रा अफसर नै इण कानून रै मांय सूचना कै अपील रै वास्‍तै धारा १९ री उपधारा (१) मांय ब़ताइज्‍योड़ी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर कै मोटौड़ा अफसर कै केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य सूचना आयोग नै उनी अरजी नै भेजण खातर लेवण ऊं ना दे दियो है :

(ख) जिने इण कानून रै मांय अरज करीज्‍योड़ी कोई सूचना तक पौंच रै खातर ना दिरीजगौ है,

(ग) जिने इण कानून रै मांय ब़तायोड़ी टेम रै मांय सूचना रै वास्‍तै सूचना तक पौंच री अरज रौ जवाब नी दिरीज्‍यो है,

(घ) जिण ऊं ऐड़ी फीस री रकम अददा करण री आसा करीजी है, जको वो गळत स़मजै है,

(ङ) जको ओ विस्‍वास करै है कै उनै इण कानून रै मांय अधूरी, भटकावण वाळी कै कूड़ी सूचना दीरीजी है, अर

(च) इण कानून रै मांय लेखां वास्‍तै अरज करण ऊं कै वां तक पौंच लेवण रै बाबत किणी दूजा विसै रै बाबत।

(२) जठै जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग रौ ओ समाधान व्‍है जावै कै, उण विसै री जांच करण वास्‍तै युक्‍तियुक्‍त आधार है, उठै वो उण बाबत जांच सरू कर सकैला।

                                                                                                                                   १९०८ रौ ५

(३) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै, इण धारा रै मांय किणी मामला री जांच करती टेम मोटी सग्‍तियां मिळयोड़ी व्‍हैला, जकी नीचै लिखयोड़ा मामलां रै बाबत सिविल परकिरिया संईता, १९०८ रै मांय किणी मामलो रौ स़ोच विचार करती टेम सिविल कोरट मांय व्‍हिया करै है, रा नाम है–

(क) किणी मिनखां नै समन करणौ अर वानै हाजिर करावणा अर सपथ माथै बोलियोड़ा कै लिखयोड़ा सबूत देवण खातर अर दस्‍तावेज कै चीजां हाजिर करण वास्‍तै वानै मजबूर करणा :

(ख) दस्‍तावेजां रौ ब़तायोजावणौ अर देखीजण री आसा करणी,

(ग) सपथ पत्‍तर माथै गवाह नै मंजूर करणौ,

(घ) किणी कोरट कै ऑफिस ऊं किणी लोक लैख कै उनी प्रतियां मंगावणी :

(ङ) सबूतां कै कागजां री जांच रै वास्‍तै समन जारी करणौ, अर

(च) कोई दूजौ विसै जको विहित करीजै।

(४) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं संसद कै राज्‍य विधान मंडल रा किणी दूजा कानून मांय आयोड़ी किणी नी मिळतोड़ी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई  जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग इण कानून रै मांय किणी सिकायत री जांच करती टेम, ऐड़ा किणी लेख री जांच कर सकैला, जिनै औ कानून लागू व्‍है है अर जको लोक अफसर री पकड़ा मांय है अर उनै कानी ऊं ऐड़ा किणी लेख नै कैड़ा ई आधारां माथै रोकियौ नी जावैला।

अरज

१९. (१) एड़ौ कोई मिनख जिनै धारा ७ री उपधारा (१) कै उपधारा (३) रा खंड (क) मांय ब़तायोड़ा टेम रै मांय कोई फैसलौ नी मिळियौ है कै  जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रा किणी फैसला ऊं दुखी है, उण टेम रै खतम व्‍हियां ऊ कै उण फैसला रै मिलियां रै तीस दिनां रै मांय ऐड़ा अफसर नै अरज कर सकैला, जको हरेक लोक प्राधिकरण मांय जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रा ओहदा ऊं ऊचां ओहदा रो है :

                   ब़तायोड़ो है के ऐड़ौ अफसर, तीस दिनां रा टेम रै खतम व्‍हियां रै पछै, अपील नै लेय सकैला, जै उनौ औ समाधान व्‍है जावै कै अपील करणियौ टेम माथै अपील करण मांय ठीक कारण ऊं रोकिजियो हो।

(२) जठै अपील धारा ११ रै मांय जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रै कानी ऊं दूजा मिनख री सूचना ब़तावण खातर करियोड़ा किणी हुकम रै खिलाफ करी जावै उठै जुड़योड़ा दूजा मिनख कानी ऊं अपील उण हुकम री तारीख रै तीस दिनां रै मांय करीजैला।

(३) उपधारा (१) रै मांय फैसला रै खिलाफ दूजी अपील उण तारीख ऊं जिण नै फैसलौ करियो जावणौ छईजतौ हौ, वास्‍तव मांय लियौ हौ, निब्‍बै दिनां रै मांय  केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै व्‍हैला।              

ब़ताइजियो है के जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग निब्‍बे दिनां रै टेम रै खतम व्‍हियां रै पछै अपील नै ले सकैला, जै उनौ औ निवेड़ौ व्‍है जावै कै अपील करणियौ टेम माथै अपील करण मांय ठीक कारण ऊं रोकिजियो हौ।

(४)   जै जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रौ फैसलौ जिनै खिलाफ अपील करीजी है, दूजा मिनख री सूचना ऊं जुड़योड़ी है तौ,  जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग उण मिनख नै स़ुणवाई रौ युक्‍तियुक्‍त मोकौ देवैला।

(५) अपील ऊं जुड़योड़ी किणी कारवाईयां मांय ओ साबित करण रो भार कै अरज नै ठुकरावणौ न्याव रै हिसाब ऊं स़ावळ हौ, जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर माथै, जको अरज ऊं ना दियो हो, व्‍हैला।

(६) उपधारा (१) कै उपधारा (२) रै मांय किणी अपील रौ निपटारौ लिखीजण वाळा कारणां ऊ, अपील मिळण रै तीस दिना रै मांय कै ऐड़ा ब़दायोड़ा टेम रै मांय जको उनै फाइल करीजण री तारीख ऊं कुल पैंताळीस दिना ऊं ब़त्‍ती नी व्‍है, करीजैला।

(७) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग रौ फैसलौ मानिजण वाळौ व्‍हैला।

(८) खुदरा फैसला मांय, जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै नीचै लिखयोड़ी सग्‍तियां है–

(क) स़ैंग मैकमां  ऊं ऐड़ा उपाय करण री आसा करणी जको इण कानून री पाळणा करण रै वास्‍तै जरूरी व्‍है, जिनै मांय नीचै लिखयोड़ौ ई है–

(i) सूचना तक पौंच हाजिर करावणी, जै खास तरीका मांय ऐड़ी अरज करीजी है :

(ii) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर नै लगावणौ :

(iii) पक्‍की सूचना कै सूचना रा हिस्‍सा नै छापणा :

(iv) लेखां री देखरेख, स़ार-स़ंभाळ अर खतम व्‍हेण ऊं जुड़योड़ा खुद रा तरीकां मांय जरूरी ब़दळाव करणौ :

(v) आपरा अफसरां वास्‍तै सूचना रा अधिकार उं जुड़ियोड़ा अभ्‍यास रा प्रवधानां नै ब़दावणौ :

(vi) धारा ४ री उपधारा (१) रा खंड (ख) री देखादेख खुद री एक सालाना रिपोर्ट हाजिर करावणी :

(ख) लोक अफसर ऊं सिकायत करणिया नै, उनै कानी ऊं भुगतयोड़ी किणी हानि कै नुक्‍साण रै वास्‍तै पाछी भरपाई करणा री कोसीस करणी :

(ग) इण कानून मांय ब़तायोड़ा जुरमाना मांय ऊं कोई जुरमानो लगावणौ :

(घ) अरजी नै नामंजूर करणौ।

(९) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग सिकायत करणिया अर लोक अफसर नै, खुद रा फैसला री जिनै मांय अपील रौ कोई अधिकार ई है, सूचना देवैला।

(१०) जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग अपील रौ फैसलौ ऐड़ा तरीका ऊं करैला, जको ब़तायौ जावै।

जुरमाना

२०. (१) जठै किणी सिकायत कै अपील रो फैसलौ करती टेम जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग री आ राय है कै, जैड़ौ ई मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर नै, किणी युक्‍तियुक्‍त कारण रै ब़िना सूचना रै वास्‍तै कोई अरजी लेवण ऊं ना दियौ है कै धारा ७ री उपधारा (१) रै मांय सूचना खातर ब़तायोड़ा टेम रै मांय सूचना नी दी है कै गळत भावना ऊं सूचना देवण ऊं ना दियौ है कै जाण’न गळत, अदूरी कै भरम वाळी सूचना दी है कै उण सूचना नै खतम कर दियौ है, जकी अरज रौ विसै हौ, कै किणी रीति ऊं सूचना देवण मांय अड़चन घाली है, तो वे ऐड़ा हरेक दिन रै वास्‍तै, जठै तांई अरजी लीरीजै है, कै सूचना दी जावै, दो सौ पचास रूपिया रौ जुरमानौ भुगतैला। तो ई ऐड़ा जुरमाना री रकम पच्‍चीस हजार रूपिया ऊं ब़ती नी व्‍हैला :

         ब़ताइजियौ है के जैड़ौ इ मामलौ व्‍है, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर नै, उण माथै कोई जुरमानौ लगावणा ऊं पैली स़ुणवाई रौ सई मोकौ दियौ जावैला :

         भळै ब़ताइजियो है कै साबित करण रौ भार कै वो सई अर तुरत-फुरत काम करियौ है, जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर माथै व्‍हैला।

(२) जठै किणी सिकायत कै अपील रौ फैसलौ करती टेम, जेड़ौ इ मामलो व्‍हैं, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग री आ राय है कै, जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर किणी सई कारण रै ब़िना अर लगौलग सूचना रै वास्‍तै कोई अरजी लेवण मांय कामयाब नी रिया है कै वो धारा ७ रै मांय उपधारा (१) रै मांय ब़तायोड़ा टेम रै मांय सूचना नी दी है कै गळता ऊं सूचना री अरज ऊं ना दियौ है कै जाण’न गळत, अदूरी कै भरम वाळी सूचना दी है कै उण सूचना नै खतम कर दियौ है, जकी अरज रौ विसै हौ, कै किणी रीति ऊं सूचना देवण मांय अड़चन घाली है, उठै वो, जैड़ौ ई मामलौ व्‍है, ऐड़ा केन्‍दर वाळा लोक सूचना वाळा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रै खिलाफ उनै नौकरी रा नियमां रै मांय अनुसासन वाळी कारवाई खातर सुपारस करैला।

                                                          पाठ - ६

                                                फुटकर / केई तरै रा

चौखी भावना ऊं करियोड़ा कामां री रक्‍सा        

२१. कोई मुकदमो आरोप कै दूजी कानूनी कारवाई किणी ई ऐड़ी ब़ात रै खातर जकी इण कानून कै इनै मांय ब़णायोड़ा किणी नियम रै मांय चौखा भाव ऊं करीजी है या करी जावण री आसा मांय है, किणी मिनख रै खिलाफ नी व्‍हैला।

अधिनियम रो दूजां करता घणौ असर व्‍हेणौ                                                                                                

२२.  इण कानून रा उपबंध, शासन रा गुपत ब़ात अधिनियम, १९२३ अर उण टेम लागोड़ौ किणी दूजा अधिनियम कै इण अधिनियमन रै अलावा किणी दूजी विधि रै आधार माथै असर राखण वाळी किणी लिखत मांय उण ऊं न्यारी कोई ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई, असरदार व्‍हैला।                                                                    १९२३ रौ १९

अदालतां रा अधिकार क्षेत्र री सीमा

२३. कोई कोरट, इण अधिनियमन मांय करियोड़ा किणी आदेस रै बाबत कोई मुकदमो, अरजी कै दूजी कारवाई नी लेवैला, अर ऐड़ा किणी आदेस नै इण कानून रै मांय किणी अपील रा रूप रै अलावा किणी रूप मांय सवाल नी करियौ जावैला।

कीं संस्‍थावां माथै इण कानून रौ नी लागणौ                              

२४. (१) इण कानून मांय आयोड़ी कोई ब़ात, केन्‍दर सरकार कानी ऊं थापीजयोड़ी खुफिया अर रक्‍सा करण वाळी सस्‍ंथावां नै, जका दूजोड़ी अनुसूची मांय ब़तायोड़ी है, कै ऐड़ी संस्‍थावां कानी ऊं, उण सरकार नै दीरीजियोड़ी  कोई सूचना लागू नी व्‍हैला :

                 ब़तायोड़ौ है के रिश्‍वतखोरी अर मिनख रा अधिकारां माथै कब्‍जा री ब़ातां ऊं जुड़योड़ी सूचना इण उपधारा रै मांय भैळी नी करीजैला।

                 भळै ओ ब़तायोड़ौ है के जै मांगयोड़ी सूचना मिनख रै अधिकारां माथै कब्‍जा उं जुड़योड़ी है, तो सूचना केन्‍दर वाळा सूचना आयोग ऊं पास व्‍हियां रै पछै इज दीरिजैला। अर धारा ७ मांय किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई ऐड़ी सूचना अरजी रै मिळियां रै पैंताळीस दिनां रै मांय-मांय दी जावैला।

(२) केन्‍दर री सरकार राजपत्‍तर मांय किणी अधिसूचना कानी ऊं अनुसूची रौ उण सरकार कानी ऊं थापीजयोड़ी किणी दूजी खुफिया संस्‍थावां नै उण मांय  भैळौ कर नै कै उण मांय पैली ऊं ब़तायोड़ा किणी संस्‍था रौ उण ऊं कीं रुप छौड’र ब़दळ सकैला, अर ऐड़ी अधिसूचना नै छापण माथै ऐड़ी संस्‍था नै अनुसूची मांय, जैड़ौ ई मामलौ व्‍है भैळौ करिजियौ कै उण ऊं छोडिजियोड़ौ स़मजीजैला।

(३) उपधारा (२) रै मांय जारी करियोड़ी हरेक अधिसूचना, संसद रा हरेक सदन स़ामी रखी जैला।

(४) इण कानून री कोई ब़ात ऐड़ी खुफिया कै रक्‍सा वाळी संस्‍थावा माथै लागू नी व्‍हैला, जकी राज्‍य सरकार कानी ऊं थापिज्‍योड़ी है, जकां नै वा सरकार टेम टेम माथै राजपत्‍तर मांय अधिसूचना ऊं ब़तावती रैवे :

                   ब़तायोड़ौ है के रिश्‍वतखोरी अर मिनख रा अधिकारां माथै कब्‍जा री ब़ातां ऊं जुड़योड़ी सूचना इण उपधारा रै मांय भैळी नी करीजैला।

                        भळै ओ ई ब़तायोड़ौ है कै जै मांगयोडी सूचना मिनख रै अधिकारां माथै कब्‍जा उं जुड़योड़ी है, तो सूचना राज्‍य वाळा सूचना आयोग ऊं पास करिया पछै इज दी जावैला। अर धारा ७ मांय किणी ब़ात रै व्‍हैतोड़ां ई ऐड़ी सूचना अरजी रै मिळियां रै पैंताळीस दिनां रै मांय-मांय दी जावैला।

(५) उपधारा (४) रै मांय जारी करियोड़ी हरेक अधिसूचना राज्‍य विधान मंडल रै स़ामी रखी जैला।

निगराणी अर रिपोर्ट

(२५). (१) जेड़ौ इ मामलो व्‍है, केन्‍दर वाळौ सूचना आयोग कै राज्‍य वाळौ सूचना आयोग, हरेक साल रे पूरा व्‍हिया पछै, जठै तांई व्‍है ब़ेगा ऊं ब़ेगो उण साल रै मांय इण कानून रा उपबंधां मांय करीजयोड़ा कामां रै बाबत एक रिपोट तैयार करैला, नै उनी एक नकल सरकार नै भेजैला।

(२) हरेक मन्‍त्रालय कै मैकमों खुद री अफसरी रै मांय लोक अफसरां रै बाबत ऐड़ी सूचना भैळी करैला अर जेड़ौ इ मामलो व्‍है, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै हाजिर करावैला, जको इण धारा रै मांय रिपोर्ट तैयार करण खातर आस मांय है अर इण धारा रा प्रयोजनां वास्‍तै उण सूचना नै देवणौ अर लेख राखण ऊं जुड़योड़ी आसावां रौ पालण करैला।  

(३) हरेक रिपोर्ट मांय उण ब़रस ऊं जुड़योड़ी, जिण ऊं रिपोर्ट रौ जुड़ाव है, नीचै लिखयोड़ा रै बाबत केईजैला : –

(क) हरेक लोक अफसर ऊं करियोड़ी अरजां री संख्‍या :

(ख) ऐड़ा फैसलां री संख्‍या, जठै अरज करणियौ अरज करण रा अनुसरण मांय कागजां तक पौंच रौ हकदार नी हौ, इण कानून रा वे उपबंध, जकां रै मांय ए फैसला करीजिया हा अर ऐड़ा टेमां री संख्‍या जणै ऐड़ा उपबंधां रौ मोड़ौ करिजियौ हौ।

(ग) पाछौ देखण वास्‍तै, जेड़ौ इ मामलो व्‍है, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै ब़तायोड़ी अपीलां री संख्‍या, अपीलां रौ सुभाव अर अपीलां रा फैसला :

(घ) इण अधिनियम रा प्रशासन रै बाबत किणी अफसर रै खिलाफ करीजियोड़ी अनुसासन वाळी कारवाई री खासयतां :

(ङ) इण कानून रै मांय हरेक लोक अफसर कानी ऊं भैळी करियोड़ी फीस री रकम,

(च) कोई ऐड़ी स़ाची ब़ातां जकी इण कानून री भावना अर मतळब नै परससित अर करण खातर लोक अफसरां री किणी कोसीस नै देखावै है,

(छ) सुधार खातर सुपारसां, जिण मांय इण अधिनियम कै दूजा विधान कै सामान्य कानून रा विकास, तरक्‍की, नंवौपणौ, सुधार कै ब़दळाव वास्‍तै, खास लोक अफसरां रै बाबत सुपारसां कै सूचना तक पौंच रा अधिकार नै प्रवर्तनशील ब़णावण ऊं जुड़योड़ौ कोई दूजौ विसै ई है।

(४) जैड़ौ ई मामलौ व्‍है, केन्‍दर सरकार कै राज्‍य सरकार हरेक साल रा अंत रै पछै, जठै तक व्‍है ब़ेगा ऊं बेगो उपधारा (१) रै मांय ब़तायोड़ी जेड़ौ इ मामलो व्‍है, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग री रिपोट री एक नकल संसद रा हरेक सदन रै स़ामी, जठै राज्‍य विधान मंडल रा दो सदन है उठै हरेक सदन रै स़ामी अर जठै राज्‍य विधान मंडल रौ एक सदन हे उठै उण सदन रै स़ामी रखवावैला।

(५) जै, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग नै एड़ौ लागै कै, इण अधिनियमन रै मांय खुदरा करियोड़ा कामां नै काम मांय लेवण रै बाबत किणी, लोक अफसर रौ तरीकौ इण कानून रा उपबंधां कै भावना रै हिसाब ऊं नी है तो वो, अफसर नै ऐड़ा उपाय ब़तावतोड़ौ, जका उनी राय मांय ऐक सरीखा व्‍हेण ने बढावण वास्‍तै करिया जावणा छईजै, सुपारस कर सकैला।

कारीकरम ब़णावण खात काबिल सरकार

२६. (१) केन्‍दर सरकार, धन अर दूजा संसाधनां री उपलब्‍धता री सीमा तांई–

(क) जनता री खास रूप ऊं, पिछड़योड़ा तबकां री इण बाबत स़मज री, ब़डोतरी करण खातर इण अधिनियम रै मांय स़ोच विचार ने ब़णायोड़ा अधिकारां नै काम मांय किकर लिया जावै, पडाई रौ कारीकरम ब़णाय सकैला अर आयोजित कर सकैला :

(ख) लोक अफसरां नै, खंड (क) मांय ब़तायोड़ा कारीकरमां नै ब़णावण अर वांरा आयोजन मांय भाग लेवण अर ऐड़ा कारीकरमां रौ खुद जिम्‍मौ लेवण खातर हौसला बढावो दे सकैला :

(ग) लोक प्राधिकरणां कानी ऊं वांरा कामां रै बाबत सूचना रौ टेम ऊं अर असरदार रूप ऊं ब़तावण माथै बडावौ दे सकैला:

(घ) जनता रा मेकमां रो जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा लोक सूचना रा अफसरां कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसरां नै ट्रैनिंग करा सकैला अर जनता रा मैकमां  कानी ऊं खुद रा काम रै वास्‍तै जुड़तोड़ी ट्रेनिंग रा सामान ब़णाय सकैला।

(२) काबिल सरकार इण कानून रे स़रुआत ऊं अठारै मईना रै मांय, आपरी राजभासा मांय सरल, मोटे रूप अर रीति ऊं ऐड़ी सूचना वाळी एक मारग ब़तावण वाळी किताब छापैला, जिण री ऐड़ा किणी मिनख कानी ऊं सई रूप मांय आसा करी जावै, जकी कानून मांय ब़तायोड़ा किणी अधिकार नै काम मांय लेवणी चावै है।

(३) काबिल सरकार, जै जरूरी व्‍है तौ, उपधारा (२) मांय ब़तायोड़ा मारग ब़तावणिया कायदां नै टेम टेम माथै ब़तावैला अर छापैला, जकां रै मांय खासयतां अर उपधारा (२) री मोटे रूप  माथै ऊंदौ असर पटकियां ब़िना नीचै लिखयोड़ी ब़ाता भैळी व्‍हैला–

(क) इण अधिनियम रा उदेस :

(ख) धारा ५ री उपधारा (१) रै मांय लगायोड़ा हरेक मेकमां रा, जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा लोक सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर रा डाक अर गळी रा पता, फोन अर फैक्‍स रा नंबर अर जै हाजिर व्‍है तौ उनौ ई मेल रौ पतौ :

(ग) वा रीत अर तरिको जिण मांयनै किणी केन्‍दर वाळा लोक सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर ऊं किणी सूचना तांई पौंच री अरज करी जावै, जेड़ौ ई मामलो व्‍हे:

(घ) इण कानून रै मांय जनता रा मेहकमां रो जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा लोक सूचना रा अफसर कै राज्‍य वाळा लोक सूचना रा अफसर ऊं हाजिर मदद अर उनी ड्‍यूटियां :

(ङ) जेड़ौ इ मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग ऊं मिळयोड़ी मदद :

(च) इण अधिनियम कानी ऊं दियोड़ा कै लगायोड़ा किणी अधिकार कै ड्‍यूटी रै बाबत कोई काम करणा कै करण मांय नाकाम रैवण रै बाबत कानून मांय हाजिर स़ैंग स़माधान, जिण मांय आयोग नै अपील करण री रीत ई है :

(छ) धारा ४ रै हिसाब ऊं लेखां रा हिस्‍सा ने इच्‍छा ऊ ब़तावण वास्‍तै उपबंध करण वाळा प्रावधान :

(ज) किणी सूचना तक पौंच वास्‍तै अरजियां रै बाबत दी जावण वाळी फीस ऊं जुड़योड़ा नोटीस, अर

(झ) इण अधिनियमन रै हिसाब ऊं किणी सूचना तांई पौंच रै बाबत ब़णायोड़ा कै जारी करियोड़ा न्यारा नियम कै नोटिस।

(४) काबिल सरकार नै, जै जरूरी व्‍है, टेम टेम माथै मारग ब़तावणिया नियम कायदां ब़तावणा अर छापणा।

नियम ब़णावण खातर काबिल सरकार री सग्‍तियां

२७. (१) काबिल सरकार इण अधिनियमन रा प्रवधाना नै काम मांय लेवण वास्‍तै राजपत्‍तर रै मांय अधिसूचना कानी ऊं, नियम ब़णाय सकैला।

(२) खासयतां अर पैली वाळी सग्‍तियां रा मोटा रुप माथै ऊन्‍दौ असर पटकियां ब़िना ऐड़ा नियम नीचै लिखयोड़ा स़ैंग कै किणी विसै वास्‍तै उपबंध कर सकैला, मतळब :–

(क) धारा ४ री उपधारा (४) रै मांय ब़तावण वाळा सामान रौ माध्‍यम अर लागत कै छपाई रौ लागत मूल्‍य:

(ख) धारा ६ री उपधारा (१) रै मांय देईजण जोग फीस,

(ग) धारा ७ री उपधारा (१) अर उपधारा (५) रै मांय देईजण जोग फीस,

(घ) धारा १३ री उपधारा (६) अर धारा १६ री उपधारा (६) रै मांय अफसरां अर दूजा काम करणियां नै देईजण जोग तनखा नै भत्‍ता अर वांरी नौकरी री सरतां :

(ङ) धारा १९ री उपधारा (१०) मांय अपीलां रौ फैसलो करती टेम, जैड़ौ ई मामलौ व्‍है, केन्‍दर वाळा सूचना आयोग कै राज्‍य वाळा सूचना आयोग कानी ऊं काम मांय लेवण आलौ तरीकौ :

(च) कोई दूजौ विसै, जको ब़तावण जोग व्‍है कै ब़ताइजै।

काबिल अफसर री नियम ब़णावण री सग्‍तियां

२८. (१) काबिल अफसर, इण कानून रा प्रावधानां नै काम मांय लेवण खातर, राजपत्‍तर मांय अधिसूचना कानी ऊं, नियम ब़णाय सकैला।

(२) खासयतां अर पैली वाळी सग्‍तिया मोटा रुप माथै ऊन्‍दौ असर पटकियां ब़िना ऐड़ा नियम नीचै लिखयोड़ा स़ैंग कै किणी विसै वास्‍तै उपबंध कर सकैला, मतळब :–

(i) धारा ४ री उपधारा (४) रै मांय ब़तावण वाळा सामान रो माध्‍यम अर लागत कै छपाई रौ लागत मूल्‍य :

(ii) धारा ६ री उपधारा (१) रै मांय देईजण जोग फीस,

(iii) धारा ७ री उपधारा (१) रै मांय देईजण जोग फीस,

(iv) कोई दूजौ विसै, जको ब़तावण जोग व्‍हे के ब़ताइजै।

नियमां रौ रखियौ जावणौ

२९. (१) इण कानून मांय केन्‍दर री सरकार कानी ऊं ब़णायोड़ौ हरेक नियम ब़णायौ जावण रै पछै बेगा ऊं बेगो संसद रा हरेक सदन रै स़ामी जणै, वो ऐड़ी सेंग तीस दिन रा टेम वास्‍तै सत्र मांय व्‍है, जकी एक सत्र मांय कै एक कै दो कै ब़त्‍ता लगातार सत्रां मांय पूरी व्‍है सकै है, राखीयौ जावैला अर जै उण सत्र रै कै पैलौ ब़तायोड़ा लगातार सत्रां रा एकदम पछै वाळा सत्र रै पूरा व्‍हियां पैली, दोनू सदन उण नियम मांय ब़दळाव करण नै राजी व्‍है जावै, कै दोनू सदन इण ब़ात ऊं राजी व्‍है जावै कै एड़ौ नियम नी ब़णायौ जावणौ छईजै तो एड़ौ नियम इण पछै, चाए जैड़ौ ई मामलौ व्‍है, सिरफ ऐड़ा ब़दळियोड़ा रूप मांय इज असरदार व्‍हैला कै उनौ कोई असर नी व्‍हैला। तो ई उण नियम रै ऐड़ा ब़दळियोड़ा कै ब़ेअसर व्‍हैण ऊं उनै मांय पैली करियोड़ी किणी ब़ात री कानूनी मानैता माथै ऊन्‍दौ असर नी पड़ैला।

(२) इण कानून रै मांय किणी राज्‍य सरकार कानी ऊं ब़णायोडौ हरेक नियम अधिसूचित करिजियां रै पछै ब़ेगा ऊं ब़ेगो राज्‍य विधान मंडल रै स़ामी रखीजैला।

मुस्‍किलां नै मेटण री सक्‍ति

३०. (१) जै इण अधिनियम मांय रा उपबंधां नै असरदार करण मांय कोई मुस्‍किल पैदा व्‍है तो केन्‍दर री सरकार, राजपत्र मांय छापयोड़ा हुकम कानी ऊं ऐड़ा उपबंध ब़णाय सकैला, जका इण अधिनियम रा उपबंधां ऊं न्यारा नी व्‍है, जका उनै मुस्‍किल नै आगी करण खातर जरूरी अर स़ियारा वाळी लागती व्‍है :

                      ब़तायोड़ौ है के ऐड़ौ कोई हुकम इण कानून री सरूआत ऊं दो ब़रस री टेम खतम व्‍हियां रै पछै नी करियौ जावैला।

(२) इण धारा रै मांय करियौड़ा हरेक हुकम, करिजियां रै पछै ब़ेगा ऊं ब़ेगो संसद रा हरेक सदन रै स़ामी रखियो जावैला।

खारज

२००२ रौ ५

३१. सूचना री आजादी, कानून २००२ इण रै कानी ऊं खारज करीजै है।

पैली अनुसूची

                                                 [ धारा १३(३) अर धारा १६(३) देखौ]

मुख्‍य सूचना आयुक्‍त, सूचना आयुक्‍त, राज्‍य रा मुख्‍य सूचना आयुक्‍त, राज्‍य रा सूचना                                  आयुक्‍त कानी ऊं ली जावण वाळी सौगन कै ली जावण वाळी

शपथ रो फार्म

            ‍”म्‍‍हैं, ——————————————————————————————

मुख्‍‍य सूचना आयुक्‍त/ सूचना आयुक्‍त/ राज्‍य मुख्‍य सूचना आयुक्‍त/ राज्‍य सूचना आयुक्‍त लागियौ हूँ, शपथ लेऊं हूं कै, म्‍हैं कानून कानी ऊं थापीजयोड़ा भारत रा संविधान रे वास्‍तै स़ाचौ विस्‍वास नै इज्‍जत राखूंला, म्‍हैं भारत री प्रभुता अर अखंडता अणमाप राखूंला नै म्‍हैं

पूरी तरै ऊं स़ाचा मन ऊं नै खुदरी पूरी योग्यता, ग्यान अर स़मझ ऊं खुदरा पद री ड्यूटियां रौ डर कै पक्‍सपात, मोह कै बैर रै ब़िना पालन करूंला अर म्‍हैं समविधान अर कानूनां री मरयादा ब़णाय नै राखूंला।”                    

                                                           दूजी अनुसूची

                                                          ( धारा २४ देखौ )

                     केन्‍दर री सरकार कानी ऊं खुफिया अर रक्‍सा करण वाळा संगठण

१. खुफिया ब्‍यूरौ ।

२. मंतरीमंडल सचिवालै रा जांच पड़ताल अर विस्‍लेसण वाळा खंड ।

३. राजस्‍व खुफिया निदेसालै ।

४. केन्‍दर रौ आरथिक आसूचना ब्‍यूरौ ।

५. प्रवरतन निदेसालै ।

६. स्‍वापक नियंत्रण ब्‍यूरौ ।

७. वैमानिक अनुसंधान केन्‍दर ।

८. खास सीमान्‍त बळ ।

९. सीमा सुरक्षा बळ ।

१०. केन्‍दर रौ आरक्‍सित पुलिस वाळौ बळ ।

११. भारत नै तिब्‍बत सीमा वाळौ बळ ।

१२. केन्‍दर रो ओद्‍योगिक सुरक्षा बळ ।

१३. रास्‍ट्रीय सुरक्‍सा रा गार्ड ।

१४. आसाम री राइफलां ।

१५. विशेष सेवा बळ ।

१६. विशेष साखा (सी आई डी) अंडमान -निकोबार ।

१७. अपराध साखा– सीआईडी- सीबी, दादरा अर नागर हवेली ।

१८. विशेष साखा लक्‍सदीप पुलिस ।

                            ——————————————————————

   

                                                                         टी० के० विस्‍वनाथन,

                                                                                                        सचिव, भारत सरकार